भागलपुर [जेएनएन]। 17th November 2019 को जिले की कुछ महत्‍वपूर्ण खबरें।

दीवार गिरने पर मजदूर की मौत

अररिया के बथनाहा के भदेश्वर में कोसी नहर के दक्षिण में गोदाम निर्माण कर रहे मजदूर की दीवार और छज्‍जा गिरने से मौत हो गई। वहीं, एक दर्जन मजदूर घायल हो गए। घायलों को आसपास के लोगों ने इलाज के लिए रेफरल अस्पताल फारविजगंज में भर्ती कराया है। इनमें से कई की स्थिति काफी गंभीर बताई जा रही है। मृतक की पहचान नहीं हो पाई है। लोगों ने बताया कि कोसी नहर के दक्षिण में गोदाम का निर्माण हो रहा था। रविवार को दोपहर बाद जब मजदूर निर्माण काम में लगे थे, उसी वक्त दीवार गिर गई। मलबे में एक दर्जन मजदूर दब गए। साथ काम कर रहे मजदूरों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। इसके बाद आसपास के लोग वहां पहुंचे और मलबे में दबे मजदूरों को बाहर निकाला। लोगों ने सभी को फारबिसगंज अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया। जहां डॉक्टरों ने एक मजदूर को मृत घोषित कर दिया। वहीं, अस्पताल में भर्ती कई अन्य मरीजों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है।

रेल डीआइजी

ट्रेन और प्लेटफॉर्म पर होने वाले अपराध नियंत्रण के लिए रेल पुलिस पूरी तरह सख्त है। इसके लिए कुछ पीपी को थाना और अपराध नियंत्रण केंद्र को पीपी बनाया जाएगा। यह जानकारी यह जानकारी रविवार को रेल थाना का निरीक्षण करने पहुंचे रेल डीआइजी उमाशंकर प्रसाद ने दी। डीआइजी ने कहा कि सुल्तानगंज पीपी क्षेत्र को रेल थाना और कहलगांव अपराध नियंत्रण केंद्र को पीपी बनाने की कवायद शुरू कर दी गई है। जल्द ही यह काम पूरा कर लिया जाएगा। बांका स्टेशन पर भी रेल पुलिस का पीपी खुलेगा। इसकी तैयारी चल रही है। डीआइजी ने कहा कि भागलपुर रेल थानों में पुलिस बल की संख्या बढ़ा दी गई है। 20 महिला जवानों की नियुक्ति कर दी गई है। इसके बाद स्टेशन और ट्रेनों की सुरक्षा सख्त होगी। उन्होंने कहा कि जमालपुर रेल जिला के सभी थानों में बलों की संख्या बढ़ाई गई है। डीआइजी थानाध्यक्ष और पुलिस कर्मियों को कर्तव्य पालन का पाठ पढ़ाते हुए अपराध रोकथाम को लेकर कई निर्देश दिए। काम में लापरवाही बरतने वाले पुलिस पदाधिकारियों पर गाज गिरेगी। अच्छे काम करने वाले पुरस्कृत होंगे। डीआइजी ने पुलिस कर्मियों के कामों की समीक्षा की।

मेगा ब्‍लॉक

भागलपुर रेलवे जंक्शन पर रविवार को गर्डर चढ़ाने के लिए गए नौ घंटे के मेगा ब्लॉक से रेल यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। अप और डाउन में दो जोड़ी ट्रेनें भागलपुर नहीं आई। सबौर और नाथनगर से ही लौट गई। ऐसे में यात्रियों को दोहरी मार झेलनी पड़ी। सड़क मार्ग से लोग नाथनगर जाकर ट्रेन संख्या 73429/30 जमालपुर-भागलपुर में सवार हुए। वहीं, 53037/38 भागलपुर-साहिबगंज पैसेंजर सबौर स्टेशन से ही लौट गई। जबकि 05502 सहरसा-भागलपुर फास्ट पैसेंजर सहरसा से दो घंटे लेट से खुली। 53403 रामपुरहाट-गया पैसेंजर साहिबगंज-भागलपुर डेढ़ घंटे विलंब से जंक्शन आई। ट्रेन परिचालन अस्त-व्यस्त होने से जनसेवा एक्सप्रेस, मालदा इंटरिसटी और वद्र्धमान पैसेंजर में यात्रियों की काफी भीड़ रही। यात्री पायदान पर लटककर सफर करने को मजबूर दिखे।

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप