भागलपुर [जेएनएन]। 01st October 2019 को जिले की कुछ महत्‍वपूर्ण खबरें।

बाढ़ पीड़ित मां-बेटा ट्रेन से कटे

डिब्रूगढ़ से दिल्ली जा रही ब्रह्मपुत्र मेल से कटकर मंगलवार की सुबह बाढ़ पीड़ित मां-बेटे की मौत हो गई। अकबरनगर-सुल्तानगंज के बीच सुबह आठ बजे की घटना की है। घटना के विरोध आक्रोशित बाढ़ पीड़ित सड़क पर उतर आए और सड़क जाम कर दिया। जाम के कारण मुख्य मार्ग पर वाहनों का परिचालन पूरी तरह से ठप हो गया। दरअसल, गंगापुर के पास रेलवे ट्रैक किनारे बाढ़ पीड़ित रह रहे थे। सुबह अप ब्रह्मपुत्र मेल भागलपुर से 7.50 में खुली इस ट्रेन का ठहराव सीधा सुल्तानगंज है। इस कारण ट्रेन रफ्तार में थी। जैसे ही गंगापुर ट्रैक के पास महिला और बच्चे को देखा तो ट्रेन चालक लगातार हॉर्न बजाता रहा।

बाढ़ पीड़ितों की नाव पलटी

बाढ़ और बारिश से लोगों का जनजीवन बेहाल हो गया है। डूब चुके घर से किसी तरह निकालकर बाढ़ पीड़ित राहत शिविर की शरण ले रहे हैं। मंगलवार को दोपहर अपने बाढ़ से घिर चुके गांव से निकलकर सभी लोग आशियाना ढूढने इधर उधर भटक रहे थे। कुछ लोग नाव पर सवार होकर राहत शिविर की ओर निकले। नाथनगर के मधुसूदनपुर इलाके के बिहारीपुर की तरफ से लगभग 20 लोग निजी नाव पर सवार होकर सुरक्षित स्थान पर जा रहे थे। जैसे ही नाव बायपास पुलिया के पास पहुंची, चालक ने संतुलन खो दिया। इसके बाद नाव में पानी भरने लगा। इसके साथ ही नाव वहां डूब गई। नाव डूबते देख आसपास खड़े लोगों ने पानी में छलांग लगा दी और नाव पर सवार सभी लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला। लेकिन नाव पर लदे अनाज और अन्य समान पानी में डूब गया।

गंगा खतरे के निशान से ऊपर

बाढ़ और बारिश के कारण भागलपुर में गंगा का जलस्‍तर लगातार बढ़ रहा है। बुधवार शाम चार बजे तक और चार सेंटीमीटर गंगा के जलस्‍तर में वृद्धि होगी। गंगा का जलस्‍तर प्रत्येक 6 घंटे पर एक सेंटीमीटर बढ़ रहा है। केंद्रीय जल आयोग बेतार केंद्र हनुमान घाट के स्थल प्रभारी कृत्यानंद सिंह ने कहा है कि पटना से पूर्वानुमान में जलस्तर में वृद्धि होने की जानकारी दी गई है। बरहाल मंगलवार को गंगा 34.41 मीटर पर बह रही है, जबकि खतरे का निशान 33.68 मीटर है। यूं कहे की बारिश थमने के बाद भी गंगा के जलस्तर में लगातार वृद्धि जारी है और जिले में बाढ़ की स्थिति भयावह होती जा रही है। राहत शिविरों में निरंतर लोगों का आना जारी है।

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप