कटिहार, जेएनएन। दार्जिलिंग हिल एरिया में भारी बारिश से महानंदा नदी ऊफान पर है। गुरूवार को नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर दर्ज किया गया है। पिछले चार दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश के कारण बरंडी व कोसी नदी के जलस्तर में भी बढ़ोतरी हुई है।

गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान से नीचे स्थिर बना हुआ है। बाढ़ नियंत्रण विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक पटना में गंगा के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी से अगले दो दिनों में मनिहारी, बरारी एवं अमदाबाद में भी गंगा के खतरे के निशान को पार कर लेने की संभवना है। बाढ़ ङ्क्षनयंत्रण प्रमंडल से मिली जानकारी के मुताबिक झौआ में महानंदा का जलस्तर खतरे के निशान को छू गया है। यहां नदी का जलस्तर 31.40 मीटर दर्ज किया गया है। बहरखाल में 30.95 मीटर, आजमनगर में 30.03 मीटर, धबौल में 29.26 मीटर, कुरसेल में 31.40 मीटर, दुरगापुर में 27.97 मीटर तथा गोङ्क्षवदपुर में 26.51 मीटर दर्ज किया गया है। गंगा नदी का जलस्तर रामायणपुर में 25.75 मीटर तथा काढ़ागोला में 29.03 मीटर दर्ज किया गया है। एनएच 31 पर डुमर के समीप बरंडी नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर है लेकिन पिछले 12 घंटे से स्थिर बना हुआ है। कुरसेला ब्रिज के समीप कोसी नदी का जलस्तर खतरे के निशान से नीचे 29.40 मीटर दर्ज किया गया है। लगातार हो रही बारिश के कारण बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। निचले इलाकों में जलजमाव से कटाव निरोधी कार्य पर भी असर हो रहा है।

शिवगंज डायवर्सन पर फिर चढ़ा पानी, आवागमन ठप

कटिहार : गत कई दिनों से लगातार हो रही बारिश से महानंदा के जल स्तर में वृद्धि जारी है। इससे निचले इलाकों के लोगों की परेशानी बढऩे लगी है। वहीं एक बार फिर सोनैली पूर्णियां पथ के शिवगंज डायवर्सन पर पानी बह रहा है और इससे आवागमन पूरी तरह ठप हो गया है। गुरुवार को कुरसैल में महानंदा का जल स्तर खतरे के निशान को पार कर गया। क्षेत्र के सिकोरना, धनगामा, जाजा, तेतालिया, तैयबपुर, गोपीनगर, धपरसिया, चौनी सहित कई पंचायतों के दर्जनों गांवों में बाढ़ का पानी फैल गया है। शिवगंज डायवर्सन पर पानी का फैलाव होने से लोगों को प्रखंड मुख्यालय पहुंचने में कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है। वहीं नूनगरा होकर प्रखंड एवं प्रमंडल मुख्यालय जाने वाले पथ पर वाहनों के अत्यधिक परिचालन से पथ पूरी तरह कीचड़मय हो गया है। कई जगहों पर पथ पर घुटनाभर गडढा हो गया है। ब्राह्मण टोला के पास पथ में दो से ढाई फिट का गड्ढा होने से वाहन के फंसने से प्राय: जाम लग जा रही है। लोगों ने वैकल्पिक पथ के मरम्मति करने की मांग की है। इसके अलावे चौकी मिराजदपुर, गोपीनगर परलिया, बदुअबारी सिकोरना आदि पथ में बाढ़ एवं बरसात के पानी का जमाव होने से लोगों को आवागमन में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस