बांका, जेएनएन। कोरिया गांव की एक प्रेमी-प्रेमिका ने शादी रचाकर पति-पत्नी के रूप में जीवन भर साथ रहने का निर्णय ले लिया। दोनों ने घर से फरार होकर एक मंदिर में शादी रचा ली। दोनों की यह प्रेम कहानी जंगल में आग की तरह इलाके में फैल गई।

कानोकान जब इसकी जानकारी दोनों परिवारों को मिली तो परिवार के सदस्यों ने लड़का-लड़की पर अलग हो जाने का काफी दबाव बनाया। जब वे सफल नहीं हो सके तो दोनों परिवारों ने राजी खुशी से इस विवाह को स्वीकार कर लिया।

दो साल से दोनों के बीच चल रहा था प्रेम प्रसंग 

बता दें कि कोरिया निवासी मनोज यादव का दो वर्ष पूर्व से गांव की गीता कुमारी से प्रेम चल रहा था। इससे पूर्व भी मनोज की एक बहन की शादी गीता के भाई से हुई थी। इसके बाद से ही मनोज का गीता के घर आने जाने का सिलसिला जारी था। इसी क्रम में दोनों की एक दूसरे से आंखे चार हो गई। जब प्यार परवान चढ़ा तो दोनों ने दो दिन पूर्व घर से भाग कर एक मंदिर में शादी कर ली और अपने-अपने घर चले गए।


पहले दोनों के परिवार वालों ने मानने से कर दिया था इन्कार 

जब गीता के परिवार वालों को शादी की जानकारी हुई तो लड़की को स्वजनों ने मनोज के घर जबरन पहुंचा दिया। पहले तो दोनों परिवार इस शादी को मानने के लिए तैयार नहीं हुए। दोनों में बहस भी हुई। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए ग्रामीणों ने दोनों के स्वजनों को समझा-बुझा कर बच्चों की खुशी के लिए राजी कर लिया। फिर दोनों परिवार एकजुट हुए। और दोनों का विवाह स्वीकार कर लिया गया। इस संबंध में लड़की के पिता पुलिस यादव और लड़का के पिता रामदेव यादव ने कहा कि हम दोनों परिवार ने इस रिश्ते को स्वीकार कर लिया है। इसमें अब किसी परिवार को कोई आपत्ति नहीं है।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस