भागलपुर [जेएनएन]। लोकसभा चुनाव के तहत भागलपुर में 58.2 फीसद वोट पड़े। यहां मतदान संपन्न हो गया। 2014 के लोकसभा चुनाव में 57.6 फीसद वोट डाले गए थे। सुबह सात बजे से मतदान की प्रक्रिया शुरू हो गई थी, जो शाम छह बजे तक चली। यहां कुछ स्थानों पर ईवीएम में खराबी की वजह से विलंब हुआ है। भागलपुर संसदीय क्षेत्र में 1777 बूथों पर 18 लाख 11 हजार 980 मतदाता मतदान करेंगे। जिले में 5650 सर्विस वोटर हैं। शांतिपूर्ण चुनाव के लिए जिले की सीमा सील कर दी गई थी। 77 चेक पोस्ट पर चेकिंग की जा रही थी। जिला प्रशासन ने 22 सुपर और 51 जोनल मजिस्ट्रेट की तैनाती की थी।


भागलपुर के उर्दू मध्य विद्यालय लोदीपुर यासीनचक में पांच बूथ बनाए गए थे। यहां के सभी बूथों पर एक घंटे विलंब से मतदान शुरू हुआ। इस बूथ पर वोटिंग मशीन में खराबी आ गई थी। इस दौरान मतदाताओं ने हंगामा और नारेबाजी भी की थी। यहां सुबह छह बजे से ही मतदाता कतार में लग गए थे। आठ बजे तक पांच सौ मतदाता यहां के पांचों बूथ पर लाइन में खड़े हो गए। लेकिन आठ बजे तक मतदान शुरू नहीं हो सका। काफी प्रयास के बाद यहां 8 बजे के बाद से मतदान हुआ। इमामपुर शाहजंगी हाट में बूथ नम्बर 4, 6, 7 पर ईवीएम में खराबी हो जाने के कारण एक घंटे विलंब से मतदान शुरू हुआ। 

भागलपुर के राजकीय बालक मध्य विद्यालय बरारी के बूथ क्रमांक 60 पर सुबह से ही मतदानकर्मियों की भीड़ उमड़ी। हालांकि यहां सवा सात बजे मतदान शुरू हुआ। लेकिन मतदाता छह बजे से ही लाइन में लग गए थे। जिनको वोटर पर्ची नहीं मिली, उनको योगी राजीव मिश्रा अपने मोबाइल से निकालकर क्रामांक आदि बता रहे थे। उन्होंने कई वोटरों को मतदान की जानकारी दी। इस बूथ पर योगी राजीव मिश्रा की पत्नी समेत उनके माता—पिता भी वोट डालने पहुंचे।

भागलपुर के नवगछिया अनुमंडल के बिहपुर और गोपालपुर विधानसभा के कुल 500 बूथों पर गुरुवार को मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई। मतदाताओं की भीड़ बूथों पर सुबह से ही आने लगी थी। लेकिन ज्यादातर बूथों पर ईवीएम की खराबी के कारण वोटरों को परेशान होना पड़ा। रंगरा के 6 से ज्यादा बूथों पर रोड नहीं तो वोट का नारा देकर वोटरों ने मतदान का बहिष्कार कर दिया। ऐसा भी देखने को मिला कि वोटिंग में 16 सेकेंड से ज्यादा लगभग 5 मिनट समय लगने के कारण मतदाता की गति धीमी रही। कई वोटर बिना मत गिराएं लौट गए। बिहपुर विधानसभा के बूथ नम्बर 160 और 161 से खरीक पुलिस को युवा वोटरों ने खदेड़ दिया। पुलिस पर मतदाताओं को चेकिंग के नाम पर बेवजह परेशान करने का आरोप था। यही के बूथ नम्बर 159 में 12 बजे तक 41 फीसद और 158 में 39 फीसद यानी पूरे नवगछिया अनुमंडल में सर्वाधिक मत पड़े।

सुल्तानगंज विधानसभा क्षेत्र में सुबह दस बजे तक वोटिंग में उत्साह
सुल्तानगंज विधानसभा क्षेत्र में सुबह दस बजे तक बूथों पर लोगों की लंबी कतार लग गई थी। वोटरों का उत्साह मौसम के अनुसार चरम पर था लेकिन जैसे ही धूप चढ़ता गया लोगों की भीड़ बूथों से छंटने लगी। घरों से वोटरों को बूथ तक लाने में दिलचस्पी दिखाने वाले कार्यकर्ताओं का जोश ठंडा होने लगा। वे पेड़ों की छांव तलाशने लगे। सक्रिय नेता भी झोपड़ी या आसपास की दुकानों में खुद को कैद कर लिया। दोपहर में इक्का-दुक्का लोग ही बूथ पर पहुंच रहे थे। धूप का असर कम होने पर एक बार फिर वोटर दिखाई देने लगे। इनमें महिलाओं की संख्या ही अधिक थी। लेकिन यह रफ्तार भी एक घंटे के बीच सिमट गया। शाम 3.30 बजे तक वोटिंग प्रतिशत का आंकड़ा चालीस प्रतिशत नहीं छू सका था।

वोट के लिए कटहरा गांव अल सुबह पहुंचा भागलपुर से एक परिवार
लोकतंत्र के महापर्व में वोट डालने की दिलचस्पी की एक मिसाल 70 वर्षीय नवीन कुमार सिंह और उनके परिवार की दी जा सकती है। पथ परिवहन विभाग झारखंड से अवकाश प्राप्त भागलपुर शहरी क्षेत्र के भीखनपुर में रहने वाले इस बुजर्ग ने गुरुवार की अल सुबह चार बजे अपने बेटे प्रवीण कुमार सिंह, बहू श्वेता कुमारी, बेटी श्रुति कुमारी और अपनी पत्नी नीलम देवी को अपने पुश्तैनी गांव कटहरा चलने को राजी कर तैयार कराया। बेटे प्रवीण से गाड़ी ड्राइव कराई और अपने गांव कटहरा साढ़े पांच बजे पहुंच गए। छह बजकर 55 मिनट पर भीखनपुर से कटहरा गांव गए इनके परिवार के छह सदस्य कतार में लग गए थे। वोट देने के बाद इनका पूरा परिवार इस बात को लेकर उत्साहित था कि उनलोगों ने एक साथ पहले की तरह इस साल भी वोट दे दिया। इधर कोलगामा, बाथ और कटहरा में कुछ देर के लिए ईवीएम मशीन में गड़बड़ी आई जिसे समय रहते बदल दिया गया।

भागलपुर में बूथ नंबर 26 पर ईवीएम हुआ खराब, मॉक-पोल में ही खराब पाया गया ईवीएम। आठ बजे यहां वोटिंग शुरू की गई। व़हीं, नाथनगर स्थित दिगंबर जैन मतदान केंद्र पर आठ बजे तक महज 16 वोट डाले गए हैं। जलजमाव की वजह से मतदान केंद्र पहुंचने में वोटरों को परेशानी हो रही है। यहां 852 वोटर है।

इशाकचक राजकीय मध्य विद्यालय में भी आधे घंटे देरी से मतदान शुरू हुआ। यहां के बूथ संख्या 258 में वोट करने आयी खुशबू कुमारी को पहला वोटर बनने का सौभाग्य प्राप्‍त हुआ। खुशबू मध्य विद्यालय बलुआचक में अंग्रेजी विषय की शिक्षिका हैं। उन्होंने कहा कि इस बार मुझे चुनाव कार्य संपादिक कराने के लिए ड्यूटी नहीं मिली है। इस कारण इस बूथ पर पहला वोट करने का मुझे अवसर मिल गया।

कहलगांव विधानसभा के गोराडीह प्रखंड के नदियाव गांव में बूथ संख्या 88, 89 पर 11.30 पर वोटिंग शुरू हुई। 5 बार इवीएम बदली गई। वोटरों की लंबी कतार लगी रही। 1900 में अभी तक 256 वोट पड़े हैं। वोटरों में प्रशासन के प्रति काफी आक्रोश है। वोटरों की लंबी कतार को देखते हुए लग रहा कि 6 बजे तक भी लाइन में लगे वोटर वोट नहीं कर सकेंगे। कहलगांव बूथ संख्या 110 पर 105 वर्ष की प्रिया देवी ने वोट डाला। नाथनगर के बैरिया पंचायत स्थित माध्यमिक स्कूल में चार बूथ बनाए गए हैं। यहां 2800 वोटर हैं। 9 बजे तक 250 वोट डाले जा चुके हैं।

कहलगांव विधानसभा क्षेत्र बीआरसी भवन पूरब भाग बूथ नंबर 172 जिसे सखी मतदान केंद्र बनाया गया है। वहां तैनात एसबीआई की कस्टमर असिस्टेंट प्रियंका कमल पीठासीन पदाधिकारी के रूप में कार्यरत हैं। चेहरे पर मुस्कान और उत्साह लिए उन्होंने बताया कि महिलाओं को भी मतदान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेना चाहिए और इस कार्य को भली-भांति निष्पादित करनी चाहिए। उन्होंने बताया कि कुल 826 मतदाताओं में से अभी तक 78 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। वही मुस्कान खातून स्काउट गाइड की छात्रा भी मतदाताओं को सहयोग करने में लगी हुई है।

कहलगांव के ग्राम पंचायत जानीडी बूथ संख्या 107 में सवा नौ बजे तक 782 मतदाताओं में से मात्र 33 वोट पड़े हैं। वोटरों ने ईवीएम मशीन खराब होने की शिकायत की है। हर एक 4 वोट के बाद मशीन आउट ऑफ आर्डर हो जा रहा है । उसी पंचायत भवन के मतदान केंद्र संख्या 108 पर 829 में मात्र 69 वोट पड़े हैं। मतदान की रफ्तार काफी धीमी है। लेकिन वोटरों में जबरदस्त उत्साह है। महिलाएं और पुरुष जो अलग-अलग कतारों में अपनी बारी का इंतजार करते दिख रहे हैं। सुरक्षा का भी पुख्ता इंतजाम है।

 

सुल्तानगंज में कई बूथों पर मतदान विलंब से शुरू हुआ। बूथ संख्या 70, 72, 168, 103 में ईवीएम खराब होने के कारण देर से मतदान शुरू हुआ। बूथ संख्या 184, 67, 165, 167, 67 में मतदान 35 से 50 मिनट तक विलंब से मतदान शुरू हुआ। कृष्णानंद उच्च विद्यालय के बूथ संख्या 51 पर पौने नौ बजे मतदान शुरू हुआ। वहीं, अब्जूगंज के बूथ संख्या 70 पर भी पौने नौ बजे और 71 पर 8:10 बजे मतदान शुरू हुआ।

नाथनगर के हरिदासपुर बूथ पर 1500 वोटर हैं। यहां पौने नौ बजे तक 215 वोट डाले गए। जबकि गौराचकी पंचायत के बेलसिरा गांव स्थित बूथ संख्या 67 पर ईवीएम खराब होने के कारण एक घंटे विलंब से मतदान शुरू हुआ। पीरपैंती के कई बूथों पर वोटिंग मशीन में खराबी हो जाने के कारण मतदान एक घंटे विलंब से शुरू हुआ। यहां के 263, 188 मानिकपुर, मधुबन 277, खानपुर 224, गोराडीह 256, विशाल 252 व 253 और बारखपुर के एक बूथ पर वोटिंग मशीन पर खराबी मिली। वहीं, नाथनगर के मधुसूदनपुर थाना क्षेत्र के मनोहरपुर बंगला स्कूल के बूथ पर 10 बजे ईवीएम खराब होने की जानकारी मिली है। 

मतदान बहिष्कार
नवगछिया अनुमंडल के रंगरा की बेनिया बैसी पंचायत में दो बूथों पर वोटरों के मतदान का बहिष्कार करने की सूचना है। 

वोटरों ने किया हंगामा
नाथनगर के रन्नुचक में वोटरों ने आरोप लगाया कि हम जिस प्रत्याशी को वोट दे रहे हैं कि वोट उनको नहीं दूसरे को जा रहा है। वोटरों ने इस पर काफी हंगामा किया। फ‍िलहाल यहां मतदान स्थगित कर दिया गया है। यह बूथ स्टेडियम में है। गोराडीह प्रखंड के नदियामा बूथ संख्या 88 पर ईवीएम खराब होने के कारण 11 बजे तक मतदान शुरू नहीं हुआ है। यहां वोटर हंगामा कर रहे हैं। 

 

भागलपुर लोकसभा सीट से महागठबंधन की ओर से वर्तमान सांसद शैलेश कुमार उर्फ बुलो मंडल मैदान में हैं, ये राष्ट्रीय जनता दल (राजद) प्रत्याशी हैं। यहां इनका मुकाबला एनडीए के अजय कुमार मंडल से होगा, जो जनता दल यूनाइटेड के प्रत्याशी हैं। अजय कुमार मंडल अभी नाथनगर विधानसभा के विधायक हैं।

Posted By: Dilip Shukla