मुंगेर, जेएनएन। Coronavirus Munger News Update : कोरोना को हराने के लिए शारीरिक दूरी जरूरी है। लॉकडाउन के दौरान भीड़ लोगों को डराती थी। सोमवार से सबकुछ बदल गया है। मुंगेर के बाजार में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। लॉकडाउन के कारण सोमवार को 68 दिन बाद बाजार पूरी तरह से खुल गया। छोटी बड़ी सभी दुकानें खुल गई। अधिक खरीदार भी बाजार पहुंचे। फलों की बिक्री परवान पर रही। इलेक्ट्रानिक उपकरण की दुकानों तक ग्राहकों को पहुंचाने का काम किया। इलेक्ट्रानिक दुकान के संचालक गौतम गोविंदा ने कहा कि आनलॉक वन बड़ी संख्या में ग्राहक पहुंचे। व्यवसायी निखिल गुप्ता ने कहा कि लॉकडाउन के कारण हुए नुकसान की भरपाई करने में अभी वक्त लगेगा। चैंबर आफ कामर्स के सचिव मनोज जैन ने कहा कि अर्से बाद बाजार खुला। इसको लेकर व्यवसायी और आम लोगों में उत्साह दिखा। निराश हो चुके व्यवसायियों में नई उर्जा का संचार हुआ है। लगन और फेस्टिव सीजन समाप्त हो गया है। ऐसे में बाजार को पूरी तरह से पटरी पर आने में अभी एक महीने का वक्त लगेगा। क्योंकि, लोगों में अब भी कोरोना को लेकर भय का माहौल है। वहीं, आभूषण व्यवसायी प्रदीप कुमार ने कहा कि भीड़ ने बाजार में रौनक लौटने का संकेत दिया। आभूषण बाजार को पटरी पर आने में अभी कई महीने लगेंगे।

प्रखंड के 14 क्वांराटाइन कैंप को किया बंद

प्रवासियों को 14 दिनों क्वारंटाइन कैंप में अवधि पूरा होने के बाद घर चले जाने पर 14 क्वारंटाइन कैंप को बंद कर दिया गया है। टेटिया बम्बर बीडीओ दृष्टि पाठक ने बताया कि कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय माध्यमिक, राजकीय बुनियादी विद्यालय टेटिया बंबर ,मध्य विद्यालय कठनी, मध्य विद्यालय बंनगामा, मध्य विद्यालय खरगोन, मध्य विद्यालय बनहरा, रंगनाथ उच्च विद्यालय बनहरा, राजकीय बुनियादी विद्यालय की मिलकी ,मध्य विद्यालय देवरिया ,राजकीय बुनियादी विद्यालय गौरवडीह , मध्य विद्यालय लगमा मध्य विद्यालय भूना, प्राथमिक विद्यालय बंबर, सुंदर लाल सिंह उच्च विद्यालय देवघरा, सहित क्वांराटाइन कैंप को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया गया है।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस