जागरण संवाददाता, भागलपुर। विक्रमशिला सेतु पर चेकिंग के दौरान सुपौल के शराब तस्करों की गिरफ्तारी के प्रयास के दौरान सरकारी काम में बाधा डालने और उत्पाद दारोगा को अगवा करने के प्रयास में दो केस दर्ज किया गया है। एक केस उत्पाद दारोगा ने आबकारी थाने में कराया जिसमें लोदीपुर थाना क्षेत्र के जमसी पुल के समीप दिल्ली के रजिस्ट्रेशन नंबर वाली कार से भारी मात्रा में शराब बरामदगी और चालक सहरसा निवासी रंजीत कुमार की गिरफ्तारी बाद उससे मिली जानकारी का जिक्र करते हुए सुपौल निवासी शराब तस्कर दुर्गा चौधरी और दीपक यादव को फरार हो जाने का आरोपित बनाया है। बरारी थाने में दर्ज केस में भी सरकारी काम में बाधा डालने और अपहरण के प्रयास का मुकदमा दर्ज कराया है। उत्पाद दारोगा गुरुवार को आकस्मिक अवकाश लेकर घर रवाना हो गए। शराब तस्कर दुर्गा चौधरी पर सुपौल में भी शराब तस्करी का केस दर्ज है।

गिरफ्तार चालक रंजीत से फोन करा रुकवा ली थी कार

उत्पाद दारोगा लोदीपुर के जमसी पुल के समीप दिल्ली के नंबर की कार से शराब बरामदगी और चालक रंजीत की गिरफ्तारी बाद यह जानकारी मिलने पर कि दुर्गा और दीपक भी भागलपुर आए हैं। उक्त सूचना पर चालक से फोन करा उनकी कार विक्रमशिला सेतु पर रुकवा ली थी। बात हुई थी कि रंजीत भी पीछे से आ रहा है। दोनों स्टार्ट कार में ही थे। जहां लालू और सैप जवानों के पहुंचने पर वह घिर गए थे। जैसे ही कार के नजदीक उत्पाद दारोगा पहुंचे और दरवाजा खुलवाया और सीट के अंदर तलाशी लेने लगे कि चालक गाडी स्टार्ट कर भाग निकला था।

दहेज के खातिर विवाहिता के साथ मारपीट

शाहकुंड के सजौर थाना क्षेत्र के राधानगर गांव निवासी विवाहिता सविता कुमारी ने अपने ससुराल वालों पर दहेज के खातिर मारपीट कर घर से भगाने का आरोप लगाकर पति आशीष कुमार, चाचा इंदर साह सहित चार लोगों को नामजद आरोपित बनाकर मामला दर्ज कराया है। इसकी जानकारी देते हुए सजौर थानाध्यक्ष महाश्वेता सिन्हा ने बताया कि पीडि़ता सविता कुमारी के स्वजनों से पति आशीष कुमार तीन लाख रुपये की मांग बराबर किया करते थे। नहीं देने पर सविता कुमारी के साथ मारपीट की जाती थी। वहीं बीते बुधवार को ससुराल वालों द्वारा मारपीट कर सविता को घर से भगा दिया गया है। थानाध्यक्ष ने बताया कि केस दर्ज कर ली गई है। जल्द ही आरोपित की गिरफ्तारी की जाएगी।

Edited By: Dilip Kumar Shukla