भागलपुर [जेएनएन]। उद्यमियों (नियोक्ता) को अपने कर्मचारियों के खाता को आधार कार्ड के साथ मोबाइल से लिंक करना है। इससे कर्मचारियों का संपर्क भविष्य निधि संगठन से प्रत्यक्ष रूप हो जाएगा। भागलपुर क्षेत्रीय कार्यालय के अधीन महज 55 फीसद कर्मचारी ही प्रत्यक्ष रूप से भविष्य निधि संगठन से जुट पाए हैं। इससे बिचौलियों पर अंकुश लगने के साथ ही कर्मचारियों के दावा पत्र का समाधान तीन घंटे में हो जाएगा। जबकि वर्तमान में कम से कम तीन दिन लगता है।

अपर केंद्रीय कर्मचारी भविष्य निधि आयुक्त (बिहार-झारखंड) राजीव भट्टाचार्य ने पत्रकारों से बातचीत में कहा, आधारकार्ड और मोबाइल से खाता लिंक होने पर ऑनलाइन सर्विस हो जाएगा। भागलपुर क्षेत्रीय कर्मचारी भविष्य निधि के अंतर्गत 14 जिलों के 40 हजार कर्मचारियों का पीएफ आ रहा है। अधिवक्ता शंभू शरण ने पटना हाईकोर्ट में पीआइएल किया था। नगर निगम, स्वास्थ्य, शिक्षा समेत कई सरकारी विभागों के संविदा कर्मियों को पीएफ का लाभ नहीं मिल रहा है। हाईकोर्ट के आदेशानुसार भविष्य निधि संगठन ने दिशा में कदम उठाने पर बिहार में एक लाख 22 हजार 834 नए सदस्य जुड़े हैं।

इन कर्मियों का पीएफ भी शुरू हुआ है। तीन माह में 65 करोड़ रुपये का आवंटन भी आ चुका है। उन्होंने कहा कि जिन सदस्य का केवाइसी लिंक हो गया है उमंग एप के जरिये ट्रांसफर करा सकते हैं। हर माह के दस तारीख को समस्या सुनी जाती है। अधिकांश शिकायत पेंशन से संबंधित आता है। तीस दिनों समस्या दूर कर दी जाती है। पटना के क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त राजेश पांडेय और भागलपुर के क्षेत्रीय आयुक्त हेमंत कुमार इस मौके पर मौजूद थे।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप