जागरण संवाददाता, लखीसराय। Lakhisarai coronavirus news update: सदर अस्पताल लखीसराय में कोरोना के गंभीर लक्षण वाले मरीजों का पहले इलाज होगा इसके बाद उसकी स्थिति सामान्य होने पर कोरोना जांच की जाएगी। सदर अस्पताल में गंभीर हालत में आए संक्रमित मरीजों को भर्ती करने में आनाकानी करने और इलाज के पहले कोरोना जांच कराने के फरमान से मरीज की हालत और बिगड़ जाती है। इससे मरीज की मृत्यु की संभावना बनी रहती है। अब तक कई गंभीर मरीजों की अस्पताल पहुंचते ही मौत हो चुकी है। डीएम संजय कुमार सिंह ने सदर अस्पताल के उपाधीक्षक को गंभीर संक्रमित मरीजों को भर्ती कर तुरंत ऑक्सीजन एवं दवा देकर इलाज शुरू करने का आदेश दिया है। अगर संक्रमित मरीजों के इलाज में लापरवाही बरती गई तो जिम्मेदारी तय कर कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना मरीज आते ही अस्पताल प्रबंधन का फूलने लगता है हाथ-पैर

सदर अस्पताल में जब कोई कोरोना संक्रमित या फिर गंभीर रूप से बीमार मरीज आता है तो प्रबंधन का हाथ पैर फूलने लगता है। मरीज का इलाज शुरू हो इससे पहले अस्पताल के गार्ड और स्वास्थ्य कर्मी उसकी कोरोना जांच कराने का फरमान सुनाते हैं। मरीज की हालत यह रहती है कि वह इलाज के लिए छटपटाता रहता है। अस्पताल में ऐसी व्यवस्था भी नहीं है कि गंभीर मरीजों की तुरंत कोरोना जांच कराई जा सके। पर्ची कटाना और भीड़ में लाइन लगकर जांच कराने तक मरीज की स्थिति और बिगड़ जाती है। आधा दर्जन से अधिक लोग बीते 15 दिनों में इलाज के बदले जांच के चक्कर में अपनी जान गंवा बैठे हैं। डीएम ने सदर अस्पताल के उपाधीक्षक की जिम्मेदारी तय करते हुए आदेश का अनुपालन करने को कहा है।

लगातार कोरोना का संकमण दिन प्रतिदिन यहां बढ़ते जा रहा है। इस बीच राज्‍य सरकार के बिहार में लॉकडाउन लगा दिया है। कोरोना के प्रसार को रोकने लिए जिला प्रशासन पूरी तरह सक्रिय हो गए हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021