भागलपुर (जेएनएन)। अगर आप भी सोशल नेटवर्किग साइट में अपनी फोटो और वीडियो डालने के अभ्यस्त हैं तो थोड़ा सभल जाएं। कही आपके द्वारा डाला गया वीडियो आपकी परेशानी का सबब न बन जाए। लोग अपनी पर्सनल लाइफ सोशल मीडिया में साझा करते हैं, ताकि उन्हें ज्यादा से ज्यादा लाइक प्राप्त हो। लेकिन आपके द्वारा किया गया पोस्ट कहीं आपके लिए मंहगा साबित न हो जाए।

हैकर रख रहे पैनी नजर : इन दिनों हैकर द्वारा सोशल नेटवर्क पर पैनी नजर रखी जा रही है और इसकी सबसे ज्यादा शिकार लड़कियां हो रही हैं। थाने में सोशल नेटवर्क पर धोखाधड़ी करने, दोस्त बनाकर धोखा देना, लड़कियों की फोटो व डीपी चुराकर खराब तरीके से इस्तेमाल करने और फेक अकाउंट बनाने के मामले आ रहे हैं। शहर में साइबर क्राइम अपनी पैठ बनाता जा रहा है। कई मामले तो ऐसे हैं, जो पता ही नहीं चल पाता है और लड़कियां इन्हें सहन करती हैं।

परेशानी बढऩे पर ही करती हैं शिकायत : कई महिलाएं प्रोफेशनल होने के कारण नंबर बदल नहीं सकती हैं, क्योंकि इससे काम पर प्रभाव पड़ता है। वहीं इससे लोगों से संपर्क टूट जाने का डर होता है। यही कारण है कि अधिकांश महिलाएं ऐसे कॉल और मैसेज को इग्नोर कर देती हैं, लेकिन परेशानी अधिक बढऩे पर उन्हें मजबूरी में शिकायत करना पड़ता है।

बरतें सावधानी, अन्यथा जाएंगे जेल : सोशल साइट्स पर कंटेंट पोस्ट करने से पहले सोच-समझ लें। यदि आपका पोस्ट अश्लील, भड़काऊ, मानहानि करने वाला या किसी की छवि खराब करने वाला है या उससे किसी की प्राइवेसी भी भंग होती है, तो आप पर आइटी एक्ट के तहत कार्रवाई हो सकती है। किसी का मजाक बनाना, फोटो से छेड़छाड़ और अश्लील टिप्पणी से भी आप कानून के दायरे में आ सकते हैं। ऐसा करने पर आइटी एक्ट के तहत सजा हो सकती है। एक्ट की धारा 66ए के तहत तीन साल की सजा और पांच लाख का जुर्माना हो सकता है।

फर्जी एकांउट नहीं बनाएं : किसी अन्य व्यक्ति के नाम से एकाउंट बनाना और उसका फोटो इस्तेमाल करना कानूनी तौर पर गलत है। ऐसा करने पर आइटी एक्ट की धारा 66सी के तहत तीन साल की सजा हो सकती है। दूसरे व्यक्ति के एकांउट से छेड़छाड़, हैकिंग या फिर इस्तेमाल करने पर भी आइटी एक्ट की धारा 67 के तहत सजा हो सकती है।

गलत भाषा का प्रयोग : यदि कोई व्यक्ति सोशल साइट या नेट के जरिये किसी के लिए आपत्तिजनक यानी बुरे शब्दों का इस्तेमाल करता है। गालियां दे या ऐसी बातें करे, जिससे किसी को तकलीफ पहुंची हो, तो उसके खिलाफ आइपीसी की धारा 294 लगाई जा सकती है। इस धारा के मुताबिक अगर आपका अपराध साबित हो जाए, तो आपको तीन महीने की सजा मिलती है।

ऐसे बचेंगे हैक होने से : अगर किसी ने आपके व्हाट्सअप का बार कोड स्कैन कर एकाउंट किया है तो इससे जाहिर है कि आपके देखने से पहले ही आपका मैसेज हैक करने वाला पढ़ रहा है। इसलिए अक्सर दूसरे के मोबाइल से खुद का एकाउंट चेक करते रहें कि एकाउंट ऑफलाइन होने के बाद भी तो कहीं नहीं खुला है। ऐसे में तुरंत व्हाट्सअप वेब पर जाकर लॉग आउट कर दें, हैकिंग रुक जाएगी।

फेसबुक पर रिपोर्ट, व्हाट्सअप पर ब्लॉक : फेसबुक का पासवर्ड समय-समय पर बदलते रहना चाहिए। साथ ही रिपोर्ट ऑप्शन हैकिंग को रोक सकता है। उसी तरह व्हाट्सअप पर अनजान नंबर को ब्लॉक कर बचा जा सकता है। साथ ही अपना बार कोर्ड जरूर नोट कर लेना चाहिए क्योंकि इसमें यूआरएल एड्रेस की जरूरत पड़ती है। यही बचाव का तरीका है।

केस : जानकार लोग भी सोशल साइट के माध्यम से अश्लीलता फैला रहे हैं। एक लड़की के खुद के देवर ने उससे फेसबुक के माध्यम से अश्लील बातें की और विरोध करने पर बदनाम करने की कोशिश की।

केस : फेक अकाउंट बनाया, अश्लील तस्वीर डाल किया ब्लैकमेल। फेसबुक में दोस्ती खतरनाक साबित हो सकती है। एक लड़की की दोस्ती बेंगलुरू में रहने वाले राहुल से फेसबुक के जरिये हुई थी। लड़के ने उकसाया कि वह अपनी पर्सनल फोटो उसे भेजे। लेकिन मांग नहीं पूरी कर पाने पर लड़के ने लड़की की फेक आइडी बनाई और तस्वीरें इंटरनेट पर डाल दी।

किसी के सम्मान को हानि पहुंचाना : अगर किसी पोस्ट या कमेंट में किसी भी व्यक्ति विशेष के खिलाफ मान-हानि से संबंधित बातें लिखी हों, यानी किसी शख्स को कोई गाली दे या ऐसी बात करे, जिससे उसके मान-सम्मान को नुकसान पहुंचे, तो आइपीसी की धारा 499 और 500 के तहत शिकायत दर्ज की जा सकती है। अब जुर्म साबित हो गया तो आपको 2 साल की सजा होगी।

14 मार्च : एक युवक द्वारा निजी फोटो को सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देने पर इशाकचक के विषहरी स्थान निवासी मीनू कुमारी ने फंदे से लटक जान दे दी थी।

22 जून 2017 : एसएम कॉलेज की छात्रा ने अपनी निजी फोटो अपने दोस्त से शेयर कर दी थी। उस फोटो का गलत इस्तमाल कर युवक ने छात्रा को ब्लैक किया। बाद में शिकायत के बाद युवक की गिरफ्तारी हुई थी।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस