भागलपुर [जेएनएन]। जवाहर लाल नेहरू विश्‍वविद्यालय (जेएनयू) के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार उपचुनाव के बहाने केंद्र और बिहार सरकार पर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा कि देश की संस्कृति और आजादी दोनों खतरे में हैं। हिन्दू-मुस्लिम के नाम पर लोगों को लड़ाया जा रहा। उन्‍होंने देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की प्रशंसा की।

कन्‍हैया ने कहा कि देश को बनाने में जितनी भूमिका पंडित नेहरू की थी, उतनी ही मौलाना अब्दुल कलाम आजाद की भी थी। लेकिन आज मोदी सरकार के रवैये के कारण देश में चारों तरफ हाहाकार मचा हुआ है। उन्‍होंने कहा कि किसान आत्महत्या कर रहे हैं, सीमा पर जवान मारे जा रहे हैं, बेरोजगार युवा रोजगार नहीं मिलने के कारण गलत रास्ता चुन रहे हैं, महिलाएं घर में भी अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं कर रही है। लेकिन इन समस्याओं को राजनीति बहस से दूर कर दिया गया।

जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा कि देश की संस्कृति और आजादी दोनों खतरे में है। हिन्‍दू-मुस्लिम के नाम पर लड़ाया जा रहा। वे नाथनगर विधानसभा उपचुनाव में कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया के उम्मीदवार सुधीर कुमार शर्मा के पक्ष में हबीबपुर शाहजंगी पहाड़ स्थित मैदान में सभा को संबोधित कर रहे थे।

उन्‍होंने कहा कि राज्य के कई हिस्सों में बाढ़ और सुखाड़ के हालात थे। पटना में एक बारिश हुई और वहां का ड्रेनेज सिस्टम फेल हो गया। समस्या दूर करने के बजाय भाजपा और जदयू वाले एक-दूसरे पर दोषारोपण कर रहे थे। सभा में कन्हैया कुमार के अलावा अन्य नेताओं ने भी अपने विचार रखे।  

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप