संवाद सहयोगी,जमुई : जमुई विधायक श्रेयसी सिंह ने 17वीं बिहार विधानसभा सभा के छठे सत्र के दौरान शून्य काल में ग्रामीण क्षेत्रों में आवास योजना से वंचित गरीब एवं जरूरतमंद लोगों को प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ देने की मांग की। श्रेयसी सिंह ने कहा कि क्षेत्र भ्रमण और आमजनों से मुलाकात के दौरान आवास योजना से वंचित लोगों द्वारा बराबर शिकायत मिलती है कि उनका नाम आवास योजना की सूची नहीं होने की वजह से उन्हें इसका लाभ नहीं मिल रहा है। जिस वजह से वे खपरैल व जीर्णशीर्ण भवन में रहने को मजबूर हैं।

श्रेयसी सिंह ने कहा, 'आम नागरिकों की शिकायत एवं अति महत्वपूर्ण जरूरत को देखते हुए मैंने 17वीं बिहार विधानसभा सत्र में मंगलवार को विधानसभा सदन में प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री आवास योजना से वंचित लोगों का नाम जोड़ने की मांग उठाई ताकि राज्य भर में आवास योजना से छूटे सभी गरीब परिवारों को घर मुहैया हो सके।' उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की चाहत है कि देश एवं राज्य के सभी लोगों को अपना घर हो। इसके लिए सरकार द्वारा आवास के लिए बैंक द्वारा ऋण की सुविधा भी उपलब्ध कराने की योजना चलाई जा रही है।

विधायक ने कहा कि आशा करती हूं कि गरीब व जरूरतमंद लोगों के लिए उठाई गई इस प्रमुख समस्या को सदन के माध्यम से बिहार सरकार इसे प्रमुखता देगी और बहुत जल्द आवास योजना से वंचित जरूरतमंद लोगों का सर्वे कराकर उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना एवं मुख्यमंत्री आवास योजना का लाभ प्रदान करेगी।

जमुई की खबरों में...

  • हत्यारोपित ने न्यायालय में किया सरेंडर

संवाद सूत्र, सोनो (जमुई): थाना क्षेत्र के भीठरा में हत्या के मामले में फरार एक आरोपित ने न्यायालय में सरेंडर कर दिया है। आरोपित पर अपने दो अन्य साथियों के साथ गांव के ही एक युवक की हत्या करने का मामला दर्ज है। इस बाबत थानाध्यक्ष अब्दुल हलीम ने बताया कि भीठरा के हत्यारोपित विनोद यादव के घर कुर्की की कार्रवाई की गई थी, जबकि हत्यारोपित राजेश यादव फरार था। पुलिस की लगातार दबिश के बाद राजेश में न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया है।

बता दें कि बलथर पंचायत के प्रेमबथान के समीप से 8 अक्टूबर 2021 को पुलिस ने एक युवक की लाश बरामद किया था। युवक की पहचान भीठरा के पवन कुमार यादव के रूप में हुई थी। उक्त मामले में मृतक युवक के पिता मदन यादव ने गांव के ही बिनोद यादव, प्रमोद यादव व राजेश यादव को आरोपित करते हुए थानाध्यक्ष को आवेदन देकर केस दर्ज कराया था। उक्त तीनों आरोपितों में प्रमोद यादव न्यायिक हिरासत में है, जबकि पुलिस ने विनोद यादव के घर कुर्की जब्ती की कार्रवाई की। राजेश यादव ने न्यायालय में सरेंडर कर दिया है।

Edited By: Shivam Bajpai