संवाद सूत्र, अकबरनगर (भागलपुर)। कोरोना संक्रमण की दर में आई कमी के कारण राज्य सरकार ने लॉकडाउन खत्म कर दिया है। लॉकडाउन खत्म होते ही अकबरनगर में फिर से जाम लगने का सिलसिला शुरू हो गया। सड़को पर गाड़ियों की आवाजाही शुरू होते ही अकबरनगर में गुरुवार को करीब छह घंटे तक भीषण जाम लग गया। जिसके कारण करीब बारह किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतारें लग गई। जानकारी के अनुसार बाजार के समीप सड़क जर्जर होने के कारण खतरनाक हो गई है। जिसके कारण गुरुवार को भागलपुर से शाहकुंड की ओर जा रहे बांस से लदा एक ट्रक का गुल्ला टूट गया। ट्रक का गुल्ला टूट जाने के कारण बीच सड़क पर ट्रक फसा रहा। जिससे शाहकुंड सुल्तानगंज व भागलपुर मुख्य मार्ग एनएच पर भीषण जाम की समस्या उतपन्न हो गई। तीनों मार्ग पर बारह किलोमीटर तक वाहनों की लंबी कतारें लग गई। जाम में छोटी बड़ी गाड़ियां घंटो फंसी रही। जिसके कारण यात्रियों के साथ राहगीरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

एसडीओ, एम्बुलेंस भी फसी जाम में, आरजू मिन्नत करते रहे मरीज के परिजन

अकबरनगर में लगे भीषण जाम में एम्बुलेंस व एसडीओ की गाड़ी भी भेंट चढ़ गई। कुछ मरीजो की हालत बिगड़ी तो स्वजनों ने एम्बुलेंस से उतर कर ओवरटेक कर रहे वाहन चालकों से आरजू मिन्नते करनी शुरू कर दी। काफी देर बाद भी जब जाम नही हटा तो स्थानीय पुलिस व ग्रामीणों के अथक प्रयास के बाद एम्बुलेंस को जाम से निकाला गया। जिसके बाद स्वजनों ने राहत की सांस ली। वहीं दूसरी ओर पटना जा रही एक एम्बुलेंस में मरीज की हालत गंभीर हो गई। उनका ऑक्सीजन लेवल कम था और ऑक्सीजन सिलेंडर भी एक ही था। एम्बुलेंस भी सायरन बजाती रह। काफी देर बाद भी जाम से ग्रामीणों ने उसे जाम से निकाला। तब जाकर लोगों ने राहत की सांस ली।

सड़क किनारे अतिक्रमण व जर्जर सड़क बन रही जाम की मुख्य समस्या

अकबरनगर गाड़ियों की आवाजाही के कारण प्रतिदिन छह से आठ घंटे तक जाम लगना आम बात हो गई। सड़क किनारे दुकानदारों द्वारा अतिक्रमण करने पर सड़क सकीर्ण हो गई है। लोगो ने जगह जगह दुकान बना कर झुग्गियों को सड़क पर निकाल दिया है। जिसके कारण जाम लगना आम बात हो गई। जिसके कारण आये दिन लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जाम में वाहन चालकों द्वारा ओवरटेक करने से जाम की समस्या दोगुनी हो जाती है। लोगों का कहना है कि बाजार के समीप लगी अतिक्रमण कर रहे दुकानो को अगर हटा दिए जाए व जर्जर सड़क को ठीक किया जाए तो जाम की समस्या लगभग खत्म हो जाएगी।

Edited By: Dilip Kumar Shukla