जागरण संवाददाता, भागलपुर। IRCTC Indian Railway: कोरोना का केस कम होने के बाद ट्रेन परिचालन भी धीरे-धीरे सामान्य हो रहा है। अब कुछ ही ट्रेनें बची हैं, जिसका परिचालन नहीं हो रहा है। उसे भी चलाने की कवायद शुरू हो गई है। भागलपुर-हावड़ा कवि गुरु एक्सप्रेस, भागलपुर-जयनगर एक्सप्रेस और बांका-राजेंद्रनगर टर्मिनल एक्सप्रेस का परिचालन भी माह के अंत तक शुरू होने की उम्मीद है। इस पर मंथन भी शुरू हो गया है। इन ट्रेनों के चलने से यात्रियों को काफी सहूलियत होगी। दरअसल, कवि गुरु एक्सप्रेस भागलपुर से हावड़ा के बीच चलती है। पिछले वर्ष लॉकडाउन से ही कवि गुरु एक्सप्रेस रद है। भागलपुर से हावड़ा के लिए दो ट्रेनें अभी स्पेशल के रूप में चल रही है। दोनों ट्रेनें रात में होने के कारण यात्रियों को सुबह में हावड़ा की तरफ जाने के लिए परेशान होना पड़ता है। लेकिन,अब कवि गुरु चलेगी तो शहरवासियों को काफी सहूलियत होगी।

बांका के लोग जा सकेंगे पटना

बांका को सूबे की राजधानी पटना से जोड़ने वाली इंटरसिटी ही एकमात्र ट्रेन है। पिछले साल भी बांका इंटरसिटी को लॉकडाउन में रद किया गया था। कोरोना का असर कम होने के बाद करीब नौ माह बाद स्टैंड का परिचालन सप्ताह में तीन दिन शुरू हुआ। अब इस ट्रेन को फिर से रद कर दिया गया है। इस ट्रेन के चलने से बांका के अलावा भागलपुर, मुंगेर और लखीसराय जिले के लोगों को राहत मिलेगी।

मिथिलांचल से फिर होगा जुड़ाव

भागलपुर-जयनगर के बीच जनवरी में शुरू हुई इंटरसिटी एक्सप्रेस भी अभी बंद है। इस ट्रेन का परिचालन भी जल्द ही शुरू होगा। पूर्व मध्य रेल ने इसकी कवायद भी तेज कर दी है। इस ट्रेन के चलने से भागलपुर का मिथिलांचल से सीधा रेल संपर्क बहाल हो जाएगा। इसके चलने से भागलपुर से मिथिलांचल के बीच व्यापार बढ़े थे। मखाना कारोबारियों को फिर से राहत मिलेगी। रेलवे के अनुसार जून के आखिरी सप्ताह या जुलाई के पहले सप्ताह में इस ट्रेन का परिचालन सामान्य होने की संभावना है।