भागलपुर [जेएनएन]। एक ओर जिला पुलिस और प्रशासन मद्य निषेध दिवस पर कार्यक्रम कर रहे थे। आम लोगों के अलावा पुलिस भी नशे का सेवन नहीं करने की शपथ ले रहे थे। वहीं, दूसरी ओर नवगछिया पुलिस जिला के एक थानेदार अपने कार्यालय में ही नशे की हालत में मिले। इसके बाद तो डीजीपी ने उन पर कार्रवाई की।

नवगछिया पुलिस जिला के खरीक थानाध्यक्ष दिलीप कुमार यादव को शराब के नशे में गिरफ्तार कर लिया गया। सोमवार देर की रात मेडिकल जांच में पुष्टि होने के बाद एसपी ने निलंबित कर दिया है। यह कार्रवाई डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय के निर्देश पर की गई। मंगलवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से जेल भेज दिया गया। बताया जाता है कि किसी ने खरीक थानाध्यक्ष के शराब के नशे में होने की शिकायत डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय से की थी। जिसके बाद डीजीपी ने नवगछिया एसपी को तुरंत कार्रवाई के निर्देश दिए थे। डीजीपी का निर्देश मिलने के बाद एसपी निधि रानी और एसडीपीओ प्रवेंद्र भारती देर रात खरीक थाना पहुंचे तो थानाध्यक्ष दिलीप कुमार यादव शराब के नशे में मिले। इसके बाद एसपी ने थानाध्यक्ष को रात में अनुमंडल अस्पताल ले जाकर मेडिकल जांच कराई, जिसमें शराब की पुष्टि हुई। एसपी निधि रानी ने बताया कि दिलीप यादव के शरीर 30 एमजी शराब की मात्र पाई गई। इसके अलावा चिकित्सक ने खून का सैंपल भी लिया गया। जिसे जांच के लिए विधि विज्ञान प्रयोगशाला पटना भेजा जाएगा।

इसके अलावा थानेदार का जेएलएनएमसीएच भागलपुर में भी मेडिकल जांच करवाई गई। इसके बाद तत्काल प्रभाव से निलंबित करते हुए नवगछिया थाने में दिलीप कुमार यादव के विरुद्ध उत्पाद अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया। दिलीप कुमार यादव की बर्खास्तगी के लिए प्रस्ताव भेजने की तैयारी चल रही है। हालांकि पुलिस के आलाधिकारियों ने इस मामले को रात भर दबाए रखा। मंगलवार की सुबह मामले को उजागर किया गया। इससे पूर्व दिलीप कुमार बांका जिला में कार्यरत थे। नवगछिया पुलिस जिला आने के पश्चात उन्हें नदी थानाध्यक्ष बनाया गया था। एक माह पूर्व ही उन्हें खरीक का थानाध्यक्ष बनाया गया था। गौरतलब है कि सोमवार को ही मुख्यालय के निर्देश पर पूरे बिहार में मद्य निषेध को लेकर शपथ लिया गया। कई थानों में अधिकारियों के साथ पुलिसकर्मियों ने शराब नहीं पीने की शपथ ली।

यह भी पढ़ें :  शराबबंदी का सच : नवगछिया में खूब छलक रहा जाम, इस धंधे से जुड़े हैं ज्यादातर पुराने दागी

नशे में गिरफ्तार खरीक थानाध्यक्ष भेजे गए जेल
नवगछिया के खरीक थानाध्यक्ष दिलीप कुमार की नशे की हालत में गिरफ्तारी बाद मंगलवार को भागलपुर व्यवहार न्यायालय के द्वितीय अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश विनोद कुमार तिवारी की अदालत में प्रस्तुत किया गया। न्यायालय ने प्रस्तुत दस्तावेज के अवलोकन बाद दिलीप कुमार को न्यायिक हिरासत में शहीद जुब्बा सहनी केंद्रीय कारा भेज दिया है। जेल में प्रवेश पूर्व तलाशी लेने के बाद आमद वार्ड में रखा गया है। जेल प्रशासन बुधवार को दूसरे वार्ड में शिफ्ट करने पर फैसला लेगा। दूसरी ओर कचहरी परिसर में मंगलवार को गिरफ्तार आरोपित के इर्दगिर्द एक दर्जन से अधिक सादे लिबास में पुलिसकर्मी जेल भेजे जाने तक साथ रहे। जिनमें पुलिस मेंस एसोसिएशन से जुड़े भी कई पुलिसकर्मी शामिल थे। कचहरी परिसर में सफेद रंग की स्कॉर्पियो आरोपित के साथी पुलिसकर्मी ने लाई जिस पर सवार होकर आरोपित अवर निरीक्षक को जेल भेजा गया।

बता दें कि सोमवार को ही मुख्यालय के निर्देश पर पूरे बिहार में मद्य निषेध को लेकर शपथ लिया गया था। बिहार में किसी भी प्रकार के शराब पीने पर प्रतिबंध है। यहां शराब की खरीद-बिक्री पर भी पूरी तरह रोक है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप