भागलपुर, जेएनएन। भागलपुर गोड्डा नई रेल सेक्शन (बीजी लाइन) के पोड़ैयाहाट स्टेशन तक रेल सेवा बहाल कर दी गई है। बुधवार को भागलपुर से पहली डेमू ट्रेन पोड़ैयाहाट (गोड्डा) के लिए पहली ट्रेन खुली। लोको पायलट जेपी पाल और उनकी टीम डेमू पैसेंजर को भागलपुर से पोड़ैयाहाट तक गए। ट्रेन चलने से यात्रियों में काफी खुशी दिखी। पहले दिन ट्रेन में यात्रियों की संख्या कम रही, लेकिन मालदा मंडल ने ट्रेन परिचालन शुरू कराकर भागलपुर और गोड्डा जिले के यात्रियों को बड़ी सौगात दी है।

 

भागलपुर और पोड़ैयाहाट के बीच स्पेशल ट्रेन अप और डाउन मार्ग में सीधा विक्रमशिला एक्सप्रेस को कनेक्ट करेगी। गोड्डा, हंसडीहा, बाराहाट, मंदारहिल के यात्री विक्रमशिला एक्सप्रेस से आराम से सफर कर सकते हैं। वहीं, भागलपुर से बांका और दुमका के बीच भी दो जोड़ी डेमू पैसेंजर में चलने लगी है।

परिचालन बहाल होने से यात्रियों को बड़ी राहत

अब इस रेल सेक्शन पर पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन धीरे-धीरे बहाल कर दिया गया है। ट्रेन चलने से यात्रियों को राहत होगी। मालदा मंडल के डीआरएम यतेंद्र कुमार ने बताया कि भागलपुर पोड़ैयाहाट और बांका-दुमका रेल सेक्शन पर परिचालन बहाल कर दिया गया है। मालदा रेल मंडल की ओर से ट्रेनों की संख्या बढ़ाने के लिए लगातार कवायद चल रही है। कई और ट्रेनों का प्रस्ताव भी भेजा गया है। जल्द ही ट्रेनों की संख्या बढ़ेगी, इससे यात्रियों को काफी हद तक राहत मिलेगी।

अब सड़क नहीं ट्रेन से जाएंगे लोग

भागलपुर से पोड़ैयाहाट के बीच ट्रेन सेवा शुरू होने में गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे का बड़ा योगदान है। उनकी मांग पर ही विक्रमशिला एक्सप्रेस कनेक्ट करने के लिए डेमू पैसेंजर ट्रेन चलाने का निर्णय लिया। सांसद ने कहा कि आने गोड्डा तक परिचालन शुरू होने के बाद  दिल्ली और दूसरे शहरों के लिए कई नई ट्रेनें चलेंगी। दरअसल, अभी तक भागलपुर से गोड्डा जिले जाने के लिए सड़क ही एक माध्यम था,लेकिन अब नई रेल लाइन परिचालन शुरू होने से कई जिलों के लोगों को सहूलियत होगी। 32 किलोमीटर की हंसडीहा-गोड्डा नई रेल लाइन में पोड़ैयाहाट तक ट्रेन परिचालन सितंबर 2019 में ही शुरू हो गया है। लेकिन, भागलपुर से सीधा ट्रेन नहीं थी। पोड़ैयाहाट से गोड्डा के बीच करीब 16.5 किलोमीटर लाइन का निर्माण का काम करीब-करीब पूरा हो गया है। अगले महीने दिसंबर में मुख्य संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) स्पीड ट्रेन चलाकर पटरियों की जांच कर सकते हैं। सीआरएस की जांच रिपोर्ट दो सप्ताह के अंदर मालदा रेल मंडल को भेज दी जाएगी। इसके बाद भागलपुर से गोड्डा स्टेशन तक ट्रेनें चलने लगेंगी।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021