संवाद सहयोगी, जमालपुर (मुंगेर)। भारतीय रेल : शिक्षण संस्थानों में गर्मी की छुट्टी हो गई है। जून के आखिरी सप्ताह में स्कूल और कालेज खुलेंगे। अभिभावक बच्चों के साथ गर्मी की छुट्टियां बिताने के लिए प्लान बना रहे हैं। प्लान में ट्रेनों में आरक्षण का नहीं मिलना बड़ा बाधक बना हुआ है। जमालपुर स्टेशन से गुजरने वाली ज्यादातार नियमित ट्रेनों में प्रतिक्षा की लंबी सूची है। लंबा वेटिंंग लिस्ट के कारण बच्चों व अभिभावकों के समक्ष काफी परेशानी हो रही है। गर्मी में हर वर्ष समर स्पेशल का परिचालन होता था, पर अबतक दिल्ली, मुंबई के लिए समर स्पेशल का पता नहीं है। एक समर स्पेशल गुवाहटी-देवघर के बीच मिला भी तो उससे खास फायदा नहीं दिख रहा है। यात्रियों को दिल्ली, मुम्बई, चेन्नई और कोलकाता के लिए समर स्पेशल का इंतजार है।

जमालपुर आरक्षण टिकट काउंटर पर खड़े पैसेंजर राहुल कुमार, नीधि कुमारी, विकास कुमार, पंकज कुमार, शिव शंकर, नीतीश कुमार, अमन कुमार सहित अन्य ने बताया कि लंबी दूरी की नियमित ट्रेनों में अगर सफर करना है तो तत्काल टिकट ही एक मात्र सहारा है। पूरा जून महीना में ट्रेनों की सीटें फुल है। तत्काल टिकट के लिए भी मारामारी शुरू हो गयी है। उन्होंने कहा कि पहले टोकन लेना पड़ता है, फिर टिकट लेने के लिए लाइन में लगते हैं, तो कम समय के कारण एक बार दो चार ही तत्काल आरक्षित टिकटें मिल पाती है। पुन: दूसरे दिन इसी प्रक्रिया में लाइन लगना पड़ रहा है। नहीं तो फिर अगले दिन कोशिश जारी रखनी पड़ती है। उन्होंने कहा कि कोरोना के पूर्व ऐसी स्थिति नहीं थीं। दो साल पूर्व करीब एक दर्जन ट्रेनों को समर स्पेशल ट्रेन बनाकर मालदा प्रशासन ट्रेनों का परिचालन किया करता था। लेकिन इसबार ऐसा कुछ नहीं दिख रहा है।

ट्रेनों में लंबी वेटिंग लिस्ट

जमालपुर से गुजरने वाली लंबी दूरी की अधिकांशत: ट्रेनों में जुलाई तक नो रूम की स्थिति बनी है। विक्रमशिला में 400 से अधिक वेटिंग चल रही है। इसी तरह ब्रह्मपुत्र मेल 300 वेटिंग, गरीबरथ में 350 वेटिंग, जमालपुर हावड़ा सुपर एक्सप्रेस में 370 वेटिंग, मालदा दिल्ली फरक्का एक्सप्रेस में 215 वेटिंग लिस्ट, भागलपुर सूरत एक्सप्रेस में 250 वेटिंग, दादर एक्सप्रेस में 300 वेटिंग, मालदा छत्रपति शिवाजी महाराज में 200 वेटिंग, गोड्डा दिल्ली हमसफर में 350 वेटिंग है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla