भागलपुर, जेएनएन। मैट्रिक परीक्षा का महाकुंभ सोमवार से शुरू हो रहा है। परीक्षा को लेकर सभी तैयारी पूरी कर ली गई है। रविवार को केंद्रों पर परीक्षार्थियों का बार कोड लगाया गया था। इस बार जिला स्कूल, राजकीय बालिक उच्च विद्यालय, एसएम कॉलेज सहित पांच केंद्रों को आदर्श केंद्र बनाया गया है। पहले दिन पहली और दूसरी पाली में विज्ञान की परीक्षा है। इस बार परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं को चप्पल पहनकर ही केंद्र आना होगा। जूता-मोजा पहनकर आने पर पूरी तरह रोक है। जूता पहनकर आने पर एंट्री नहीं मिलेगी। परीक्षा कक्ष में सिर्फ प्रवेश पत्र व पेन ले जाने की अनुमति होगी। मोबाइल व कैलकुलेटर समेत अन्य गैजेट ले जाने पर रोक है। सभी केंद्रों के अंदर और बाहर में वीडियोग्राफी की व्यवस्था होगी।

शहर में 42, नवगछिया और कहलगांव में 15 केंद्र

डीपीओ स्थापना जर्नादन विश्वास ने बताया कि भागलपुर, कहलगांव और नवगछिया अनुमंडल में 57 केंद्रों पर परीक्षा होगी। भागलपुर शहरी क्षेत्र में 42, कहलगांव व नवगछिया में छह और नौ परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। सभी परीक्षा केंद्रों पर जिले के 45,261 परीक्षार्थी शामिल होंगे।

अनमुंडल में 13 केंद्र छात्राओं के लिए

नवगछिया में नौ में से सात केंद्र छात्राओं के लिए बनाए गए हैं। इसी तरह कहलगांव में छह केंद्रों पर केवल छात्राएं परीक्षा देंगी, जबकि शहरी क्षेत्र में 16 केंद्रों पर छात्राएं और शेष केंद्र पर छात्र परीक्षा देंगे।

सामान लेकर शहर पहुंचे छात्र

मैट्रिक परीक्षा में शामिल होने के लिए रविवार को छात्रों के आने का सिलसिला जारी रहा। नवगछिया, पीरपैंती, सुल्तानगंज, कहलगांव प्रखंडों से विद्यार्थी सामान लेकर पहुंचे। इधर, परीक्षार्थियों की भीड़ को देखते हुए लॉज और मकान मालिकों की चांदी हो गई है। एक सप्ताह के लिए एक कमरे का किराया एक से डेढ़ हजार तक ले रहे हैं।

करीब नौ हजार शिक्षक रहेंगे परीक्षा से अलग

मैट्रिक परीक्षा के वीक्षण कार्य से जिले के करीब नौ हजार नियोजित शिक्षक अलग रहेंगे। शिक्षक संघ ने कहा कि जब तक मांगें पूरी नहीं होती, सरकार के निर्णय का पुरजोर विरोध होगा। टेट-स्टेट उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ के जिला सचिव प्रेम प्रकाश मिश्रा ने कहा कि नियोजित शिक्षक सरकार के किसी भी धमकी से डरने वाले नहीं हैं। जिलाध्यक्ष विवेकानंद सिंह ने कहा कि सरकार का तानाशाही नहीं चलेगी। उन्होंने बताया प्राथमिक शिक्षक संघ, प्रारंभिक शिक्षक संघ गोप गुट, टेट एसटेट उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ, बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ मूल, बिहार पंचायत नगर प्रारंभिक शिक्षक संघ हड़ताल पर रहेंगे। वहीं, जिला शिक्षा पदाधिकारी ने कहा कि परीक्षा के दौरान कोई भी गड़बड़ी करने पर शिक्षकों पर मुकदमा होगा।

केंद्रों के आसपास 144 लागू, दंडाधिकारी रहेंगे तैनात

मैट्रिक की परीक्षा को लेकर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। परीक्षा केंद्रों के आसपास 17 से 24 फरवरी तक धारा 144 लागू रहेगा। डीएम प्रणव कुमार ने सदर, कहलगांव और नवगछिया के एसडीओ को धारा 144 को परीक्षा अवधि में प्रभावी ढंग से लागू करने का निर्देश दिया है। परीक्षा केंद्र पर जोनल और सुपर जोनल दंडाधिकारी की नजर रहेगी। सदर अनुमंडल में आठ जोनल और छह सुपर जोनल दंडाधिकारी की तैनाती गई है। कहलगांव में एक-एक और नवगछिया में दो जोनल और एक सुपर जोनल पदाधिकारी तैनात किए गए है। जोनल दंडाधिकारी को संबंधित परीक्षा केंद्रों पर गश्ती दल दंडाधिकारियों के माध्यम प्रश्नपत्र सहित अन्य गोपनीय सामग्रियों को परीक्षा पूर्व पहुंचाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। जिला सामान्य शाखा के प्रभारी पदाधिकारी संतोष कुमार को नियंत्रण कक्ष का प्रभारी बनाया गया है। नियंत्रण कक्ष में 0641-2402871 फोन नंबर काम करेगा।

मुख्य बातें

-9.20 बजे तक पहली पाली में प्रवेश

-1.35 बजे तक दूसरी पाली में प्रवेश की अनुमति

-9.30 से 12.15 तक पहली पाली की परीक्षा

-1.45 से शाम 4.30 तक दूसरी पाली की परीक्षा

-04 केंद्र को बनाया गया आदर्श परीक्षा केंद्र

-जिले के 57 केंद्रों पर दो पालियों होगी परीक्षा, तैयारी पूरी

-जूता पहनकर आएंगे तो नहीं मिलेगी परीक्षा में एंट्री

-नकल करने वालों की खैर नहीं, होगी वीडियोग्राफी

-पूरे दिन केंद्रों पर परीक्षार्थियों का रोल कोड लगाया गया

-एडमिट कार्ड में गलती और फोटो में त्रुटि होने पर भी दे सकेंगे परीक्षा।

-इस बार उत्तर पुस्तिका और ओएमआर शीट पर भी परीक्षार्थियों की तस्वीर लगी रहेगी

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस