जागरण संवाददाता, किशनगंज। जिले में रेल पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पुलिस ने मानव तस्करी के दौरान बैंगलोर ले जाए जा रहे पांच बच्चे को किशनगंज रेलवे स्टेशन से बरामद किया है। बरामद सभी बच्चे अररिया के रहने वाले बताए जा रहे हैं। वहीं, पुलिस को देखते ही तस्कर मौके से फरार हो गया।

मामले के बाद स्टेशन पर हड़कंप मच गया। पुलिस सभी बच्चों से उनके स्वजनों व घर का पता पूछ रही है। आगे की कार्रवाई जारी है। 

 

एसपी कुमार आशीष के नेतृत्व में चला अभियान

संवाद सहयोगी, किशनगंज: शहर को नशा मुक्त करने के साथ साथ चोरी व स्मैक की बढ़ते चलन पर रोक लगाने को लेकर पुलिस ने अभियान चलाया। एसपी कुमार आशीष के निर्देश पर रविवार को एसडीपीओ अनवर जावेद अंसारी के नेतृत्व में गठित टीम ने शहर के विभिन्न इलाकों में छापेमारी की। इस दौरान स्मैक के साथ 16 युवकों को गिरफ्तार किया गया। आरोपितों की निशानदेही पर स्मैक सहित चोरी का कई सामान बरामद किया गया। इस दौरान चुड़ीपट्टी निवासी मो बिलाल,मो तबरेज, मो लुकमान,प्रेम कुमार, माछमारा निवासी मो फारूक, दहीपट्टी निवासी अंकित आनंद, सौदागरपट्टी निवासी कामरान खान, कागजियाबस्ती निवासी मोना, मो आजाद, सिंघिया निवासी आलम, विश्वनाथ पोद्दार, जोकिर, मो जमीरूल,असगर आलम सहित रूईधासा निवासी मो अरबाज को गिरफ्तार किया गया।

आरोपितों के पास से 12 पुड़िया स्मैक (4.940 मिलीग्राम), एक सिलाई मशीन, पांच स्टील का गिलास, चार माचिस, दस ब्लेड, 20 स्मैक पीने वाला पन्नी, एक प्रेशर कुकर, एक लाउडस्पीकर, एक अल्युमिनियम का ढक्कन, तीन माइक्रोस्कोप, एक बोलेरो पिकअप सहित 1200 लीटर स्प्रीट जब्त किया गया। गिरफ्तार आरोपितों के विरुद्ध टाउन थाना में मामला दर्ज किया गया। सोमवार को सदर अस्पताल में मेडिकल जांच के बाद सभी आरोपितों को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। एसडीपीओ ने बताया कि गिरफ्तार आरोपितों की निशानदेही पर छापेमारी लगातार जारी है। उन्होंने बताया कि सभी आरोपित स्मैक बेचने व पीने के बाद चोरी की घटना को अंजाम देता था।

Edited By: Shivam Bajpai