भागलपुर [जेएनएन]। सृजन मामले में स्वास्थ्य विभाग के द्वारा दायर नीलाम पत्र वाद की सुनवाई अब 17 सितंबर को होगी। सुनवाई में स्वास्थ्य विभाग से कोई हाजिर नहीं हुआ, इसलिए तिथि आगे बढ़ाई गई।

भू अर्जन ने मांगी अनुमति

मनी सूट दायर करने के लिए भू अर्जन विभाग सरकार से अनुमति मांगेगा। विभाग का कहना है कि उसके पास कंटीजेंसी की राशि है जिसे मनी सूट में खर्च किया जा सकता है। लेकिन यह राशि विचरण हो जाएगा। इसलिए अनुमति मांगी जाएगी। मनी सूट दायर करने में एक लाख दस हजार रुपये मांगी गई है।

डीएम ने मांगी कार्रवाई की रिपोर्ट

डीएम ने सहकारिता पदाधिकारी से विस्तृत रिपोर्ट मांगी है जिनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। विभाग द्वारा डीएम को रिपोर्ट में कहा गया है कि तीन सदस्यीय टीम की रिपोर्ट म़ें दोषी को चिह्नित किया गया है। लेकिन दोषी कौन-कौन हैं इसका नाम उजागर नहीं किया गया है। विभाग उसके खिलाफ आरोप पत्र गठित करने की तैयारी कर रहा है।

चार ने ही रिपोर्ट दी, जाएगा रिमाइंडर

सृजन घोटाला उजागर होने के बाद डीएम ने जुलाई माह में बैठक कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने कर प्रतिवेदन देने को कहा था। जिला परिषद्. डूडा, डीआरडीए और एक अन्य ने रिपोर्ट दिया है। शेष ने अभी तक रिपोर्ट नहीं दिया है। अब उन विभागों को रिमाइंडर भेजने की तैयारी की जा रही है।

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप