भागलपुर। हैंडलूम पर कपड़ा तैयार करने वाले बुनकर अब डिजिटल इंडिया से जुड़ जाएंगे। इसके लिए केंद्रीय वस्त्र मंत्रालय ने बिहार में 13 बुनकर कलस्टर में कॉमन सर्विस सेंटर की सुविधा उपलब्ध कराने की स्वीकृति दी है। मेगा कलस्टर से जुड़े भागलपुर और बांका जिले के 10 कलस्टर को 11 सीएससी सेंटर का लाभ मिला है।

इसमें भागलपुर के हस्तकरघा बुनकरों के आठ और बांका जिले के तीन कलस्टर को सुविधा से लैस किया जाएगा। इसके अलावा रोहतास में एक और नवादा में एक कॉमन सर्विस सेंटर का कार्य पूरा कर लिया गया है। शाहकुंड, खरीक, मिरजाफरी, पीरपैंती, मेंहदी पोखर, चंपानगर, कटोरिया, बौंसी वंशीपुर, धौरेया, श्रृंगारपुर, कमालचक और मेगा कलस्टर भागलपुर कार्यालय में सीएससी सेंटर बनाया गया है। एक-दो स्थानों को छोड़ अधिकांश केंद्रों पर कार्य अंतिम चरण में है।

इससे भागलपुर जिले के निबंधित 2413 और बांका के 995 हस्तकरघा बुनकरों को ऑनलाइन सेवा का लाभ मिलेगा। सेटअप स्थापित करने के लिए सीएससी ई-गवर्नेस सर्विसेज इंडिया लिमिटेड को कार्य दिया गया है।परियोजना के आईटी इंजीनियर सम्स तवरेज ने बताया कि सीएससी से हैंडलूम बुनकर ही नहीं बल्कि आसपास के लोग भी सुविधा प्राप्त कर सकते हैं।

मई के अंतिम सप्ताह में छह केंद्रों पर सेवा बहाल कर दी गई है। एक सप्ताह में सभी केंद्रों पर लोग ऑनलाइन सेवा के तहत बुनकरों को पैन कार्ड, एनएचडीसी से धागा का आर्डर, वेवसाइट पर डिजाइन को अपलोड और डाउनलोड, रेलवे आरक्षण, बैंक खाते में राशि ट्रांसफर, ई-बैंकिंग, बीमा आवेदन, मोबाइल रिचार्ज, बिजली बिल का भुगतान एवं हेल्थ संबंधि ऑनलाइन सेवा का लाभ मिलेगा।

इसके लिए दो लैपटॉप, टैब, प्रिंटर, यूपीएस, कैमरा, कुर्सी व स्केनर लगाया गया है। इन केंद्रों पर आधार कार्ड बनाने की सुविधा मिलेगा। इसके लिए उपकरण लगाने की तैयारी की जा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस