आनलाइन डेस्‍क, भागलपुर। वर्ष 2021 में कई ऐसी घटनाएं घटी, जिसने मानवता को झकझोर दिया। भागलपुर की बात करें तो यहां लगातार कुछ दिनों के अंतराल पर बम विस्‍फोट होते रहे। इसके अलावा हत्‍याओं का दौर भी जारी रहा। हम आपको पूर्व बिहार, सीमांचल और कोसी के कुछ प्रमुख घटनाओं की जानकारी दे रहे हैं, जिसकी पूरे वर्ष भर चर्चा होते रही।

सुर्खियों में रहा बच्ची की आंख निकालकर हत्या प्रकरण

पांच अगस्त 2021 - पांच अगस्त को मुंगेर के सफियाबाद ओपी क्षेत्र में बदमाशों ने एक आठ वर्ष की बच्ची की हत्या कर दी। बदमाशों ने दरिदगी की सभी हद पार करते हुए बच्ची का दायां आंख निकाल लिया और बायें आंख को पूरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। घटना के बाद पूरे इलाके में दहशत का माहौल हो गया था। यह घटना जिले से प्रमंडल और सूबे तक चर्चा में रहा। विपक्ष की ओर से मामले को पुलिस को कटघरे में खड़ा किया था। हालांकि, पुलिस ने इस घटना को तीन दिनों के अंदर ही सुलझा दिया था। हत्या के बीचे काला जादू की बात सामने आई थी। पुलिस ने इस सिलसिले में चार आरोपितों को गिरफ्तार किया। खगड़िया जिले की माड़र पंचायत के मधुरा निवासी काला जादू करने वाले परवेज की गिरफ्तारी हुई।

गर्दन काटकर नक्सलियों ने की नवनिर्वाचित मुखिया की हत्या

मुंगेर - 23 दिसंबर की रात जिले के नक्सल प्रभावित धरहरा प्रखंड के लैड़ैयाटांड में नक्सलियों ने बड़ी घटना को अंजाम दिया। प्रखंड के अजीमगंज पंचायत से नव निर्वाचित हुए मुखिया परमानंद टुड्डू (30) को घर बुलाकर गर्दन काटकर हत्या कर दी। इस घटना ने पूरे सूबे को हिलाकर रख दिया। नक्सलियों को पकड़ने के लिए एसटीएफ को लगाया गया। 20 लोगों को नामजद किया गया। पांच की गिरफ्तारी हुई। घटना के बाद एसटीएफ और जिले के पुलिस ने जंगल और पहाड़ी इलाकों में अभियान चलाया। घटना को अंजाम नक्सलियों ने इस वजह से दिया था कि परमानंद ने फरमान नहीं माना था।

तीहरे हत्याकांड से गर्म हो गया था माहौल

मुंगेर - पांच मार्च की रात कासिमबाजार थाना क्षेत्र के करबल्ला चाय टोला में भूमि विवाद मे पिता-पुत्र सहित तीन लोगों की हत्या बदमाशों ने कर दी थी। इस मामले में 30 लोगों को नामजद किया गया। मामला काफी हाइ प्रोफाइल हो गया था। पुलिस मुख्यालय ने घटना को लेकर आरोपितों की गिरफ्तारी जल्द से जल्द करने का निर्देश दिया। इस मामले 26 नामजद आरोपित पुलिस के हत्थे चढ़े। पुलिस की सक्रियता से हाल में ही हत्या मामले में फरार आरोपित को गिरफ्तार किया गया। चार अभी भी फरार हैं।

नाबालिग छात्रा से पिस्तौल की नोक पर दुष्‍कर्म

मुंगेर - 23 दिसंबर को जिले के तारापुर में एक नाबालिग छात्रा के साथ अगवा कर पिस्तौल की नोक पर दुष्‍कर्म की वारदात हुई। घटना के चार दिन बाद सोमवार की सुबह पीड़ता ने तारापुर थाना में तीन पर मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने केस दर्ज करने के बाद नाबालिग को मेडिकल जांच के लिए मुंगेर भेजा है। पुलिस ने एक्शन लेते हुए एक आरोपित को गिरफ्तार कर लिया, दो फरार है। आरोपित और छात्र एक ही समुदाय का निकला।

11 फरवरी 21 - लखीसराय के चानन थाना क्षेत्र के चेहरोन कोड़ासी में सर्च आपरेशन के दौरन एसएसबी और नक्‍सली के बीच मुठभेड़ हो गया। इसमें एक नक्‍सली मानस कोड़ा पुलि‍स की गोली से मारा गया। साथी नक्‍सली इसके हथ‍ियार लेकर भागने में सफल रहा। मृतक नक्‍सली जमुई जिले के बरहट थाना क्षेत्र के चोरमारा का रहने वाला था। उसे स्‍वजन शव नहीं ले गए थे। इस कारण पुलिस ने ही उसका दाह संस्‍कार क‍िया था। चूंकि वहां सड़क निर्माण कंपनी से लेवी मांगने की श‍िकायत पर एसएसबी ने सर्च आपरेशन शुरू किया था। इसी दौरान नक्‍सल‍ियों से मुठभेड़ हो गई थी।

24 अक्‍टूबर 21 - लखीसराय के पीरी बाजार थाना क्षेत्र में भगतपुर गांव के डीलर भागवत प्रसाद के पुत्र दीपक कुमार का अपहरण नक्‍सल‍ियों ने कर ल‍िया। इस दौरान उसे मुक्‍त कराने पहुंची पुल‍िस से नक्‍सलियों की मुठभेड़ हो गई। इसमें एक नक्‍सली प्रमोद कोड़ा मारा गया था। उसके पास से एक राइफल भी पुल‍िस के हाथ लगी थी। बावजूद नक्‍सली दीपक कुमार को अपने साथ ले जाने में सफल रहा। घटना के तीसरे दिन दीपक कुमार नक्‍सल‍ियों से मुक्‍त हुआ था।

15 अक्‍टूबर 21 - लखीसराय मुख्‍यालय में एसपी आफ‍िस के पास आनलाइन सेवा देने वाली इंस्‍टाकार्ट सर्व‍िस प्राइवेट ल‍िमिटेड के कार्यालय स्‍थ‍ित त‍िजौरी से 16 लाख रुपये की चोरी कार्यरत कर्मी ने ही कर ली थी। इस मामले में पुल‍िस ने त्‍वर‍ित कार्रवाई करते हुए इस कांड का पर्दाफाश दूसरे द‍िन कर लिया था। इसमें कंपनी के एर‍िया मैनेजर सह‍ित चार लोगों को अलग अलग जगहों से गि‍रफ्‍तार करते हुए सभी राश‍ि बरामद कर ली थी।

16 नवंबर 21 - लखीसराय ज‍िले के हलसी थाना क्षेत्र अंतर्गत पि‍परा गांव के पास शेखपुरा-स‍िकंदरा रोड में एक सूमो गोल्‍ड गाड़ी की गैस स‍िलेंडर लोड ट्रक से टक्‍कर हो गई। इसमें छह लोगों की मौत हाे गई। सभी जमुई जिले के रहने वाले थे जो पटना से अपने एक स्‍वजन का दाह संस्‍कार करके वापस लौट रहे थे। इस टक्‍कर में सूमाे के परखच्‍चे उड़ गए। मृतकों में लालजीत स‍िंह, अमित शेखर उर्फ नेमानी स‍िंह, बेबी देवी, अन‍िता देवी, सूमो चालक प्रीतम कुमार एवं बाल्‍मीक‍ि सि‍ंह शाम‍िल हैं। चालक को छोड़कर सभी मृतक द‍िवंगत सीने स्‍टार सुशांत स‍िंह राजपुत के र‍िश्‍तेदार थे। सूमो पर कुल दस लोग सवार थे। सभी पटना से लालजीत स‍िंह की पत्‍नी गीता देवी का दाह संस्‍कार करके लौट रहे थे।

08 नवंबर 21 - लखीसराय सूर्यगढ़ा थाना क्षेत्र के रामपुर में र‍िटायर्ड श‍िक्षक दंपती की हत्‍या अपराध‍ियों ने सुप्‍तावस्‍था में कर दी थी। रिटायर्ड श‍िक्षक सुरेश स‍िंह और उनकी पत्‍नी जगतार‍िणी देवी अपने घर के कमरे में सोए थे। दोनों की हत्‍या गला दबाकर कर दी गई। घटना के वक्‍त घर में स‍िर्फ श‍िक्षक दंपती ही थे। घटना की जानकारी लोगों को सुबह में म‍िली। इस मामले में मृतक के बेटे ने अज्ञात के ख‍िलाफ केस दर्ज कराया लेकिन अब तक कोई सुराग पुलि‍स के हाथ नहीं आया है।

लोजपा नेता अनिल उरांव की हत्या

2 मई 2021- पूर्णिया में लोजपा आदिवासी प्रकोष्ठ के प्रदेश स्तरीय नेता सह कटिहार जिले के मनिहारी विधानसभा क्षेत्र से दो बार अपनी किस्मत आजमा चुके अनिल उरांव का अपहरण उनके घर के समीप से ही कर लिया गया था। बाद में उनके स्वजनों से दस लाख की रंगदारी भी मांगी गई थी। महज तीन बाद उसकी नृशंस हत्या कर दी गई थी। हत्या के पीछे मूल रुप से भू-विवाद की बात सामने आई थी। इसको लेकर लगभग एक पखवाड़ा तक जिले का सियासी तापमान चरम पर रहा था। सड़कों पर आंदोलन भी हुआ था। चिराग पासवान भी पूर्णिया पहुंचे थे।

पूर्व जिला परिषद विश्वजीत सिंह उर्फ रिंटू सिंह की हत्या

12 नवंबर - पूर्णिया के धमदाहा प्रखंड के पूर्व जिला परिषद सदस्य सह वर्तमान जिला परिषद सदस्य अनुलिका सिंह के पति विश्वजीत सिंह उर्फ रिंटू सिंह की हत्या सरसी थाना क्षेत्र के सरसी बाजार में कर दी गई थी। वे कांग्रेस से भी जुड़े थे। अपराधियों ने थाना के बाजू में ही पूरी तरह फिल्मी स्टाइल में उसे भून दिया था। घटना के पीछे पुरानी रंजिश की बात सामने आई थी। यद्यपि इस संबंध में दर्ज प्राथमिकी में बिहार सरकार की खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग की मंत्री लेसी सिंह पर साजिश रचने का आरोप लगाया गया था। इसको लेकर यह हत्याकांड सूबे में सूर्खियों में रहा था। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव समेत विपक्ष के कई बड़े नेताओं ने इस कांड को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश की थी। कांग्रेस के प्रदेश स्तरीय नेता भी यहां पहुंचे थे। विपक्ष ने सड़क पर भी उतर मंत्री को घेरने की कोशिश की थी।

जेल हत्याकांड के आरोपित की गोली मार हत्या

29 जुलाई- पूर्णिया केंद्रीय कारा के पूर्व जेलर हत्याकांड के आरोपित रहे जमीन ब्रोकर गुडडू मिया की मधुबनी में दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी। हत्या के दिन उनके स्वजनों व अन्य लोगों ने घंटों जमकर बवाल काटा था। इस दौरान सड़क जाम करते हुए कई वाहनों के शीशे आदि भी तोड़ दिए गए थे। बाद में पुलिस ने सख्ती बरतते हुए भीड़ को नियंत्रित किया था। इस मामले में ब्रोकरी विवाद की बात ही सामने आई थी। इसमें सात लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। पांच आरोपितों को पुलिस ने गिरफ्तार भी किया था।

दो बड़े अधिकारी आए निगरानी की चपेट में

वर्ष 2021 में पूर्णिया जिले के दो बड़े अधिकारी घूस लेते निगरानी के हत्थे चढ़े। जिला भू-अर्जन पदाधिकारी अरविंद भारती को 23 जुलाई को अधिग्रहित भूमि के भुगतान के एवज में घूस लेने के आरोप गिरफ्तार किया गया था। वहीं नौ जुलाई को जिला श्रम अधीक्षक आलोक रंजन को निगरानी ने एक व्यवसायी से घूस लेते गिरफ्तार किया था। तीनों ही कार्रवाई सूबे में सूर्खियों में रही और भष्ट्राचार पर नकेल कसने की सरकारी की कोशिश का एहसास भी लोगों ने किया। यद्यपि वर्ष 2021 आरंभ होने से महज एक सप्ताह पूर्व 23 जुलाई 2020 को जिला कृषि पदाधिकारी शंकर झा को भी एक खाद बिक्रेता से घूस लेते गिरफ्तार किया गया था।

भागलपुर में वर्ष 2021 में पुलिस आपराधिक वारदातों पर काबू पाने की दिशा में कसरत करती रही। इस दौरान बड़ी वारदात को अंजाम देने वाले शातिर शिकार की आंखों में मिर्ची पाउडर झोंक आसानी से काम तमाम कर निकलते चले गए। पुलिस उन बड़ी वारदात में लकीर पीटती रह गई। लोगों का दबाव बढ़ा तो फिल्मी कहानी की तरह ऐसे दावे गढ़े की समय बीतता गया और केस उपलब्धि के मुकाम तक नहीं पहुंच सकी। पीड़ित पक्ष तो पुलिस की कसरत को आंखों में धूल झोंकने वाला ही बताया। पुलिस के खाते में बड़ी वारदात के उद्भेदन में असफलता हाथ लगी तो मोस्ट वांटेड अपराधियों की गिरफ्तारी, सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने और चुनाव शांतिपूर्ण निष्पादित करने जैसी उपलब्धियां भी खाते में रही।

90 लाख के सोना लूट में अधेली भी नहीं कर सकी बरामद

90 लाख के सोना लूट में एक अधेली बरामद नहीं, मास्टर माइंड भी पकड़ से दूर: छह फरवरी 21 को भागलपुर के कोतवाली थाना क्षेत्र के सूजागंज बाजार में अपराधियों ने विशाल स्वर्णिका ज्वैलर्स का कोलकाता से लाया जा रहा 90 लाख का स्वर्ण आभूषण आखों में मिर्ची पाउडर झोंक और पिस्टल का भय दिखा लूट लिया था। लूट की वारदात बड़ी थी। तत्कालीन सिटी एएसपी पूरण झा ने सीसी कैमरे में कैद फुटेज और तकनीकी निगरानी के जरिये दो आरोपितों को गिरफ्तार कर दावा किया कि सोना लूट में इनकी संलिप्तता थी। गिरफ्तार दिखाए गए आरोपितों में बिहपुर के सोनवर्षा गांव निवासी सत्यम उर्फ कारे और बिट्टू सिंह और हबीबपुर के मोअज्जमचक निवासी शहजादा उर्फ सनकी शामिल थे।

लहेरी टोला बम धमाके की नहीं मिला सुराग, प्लास्टिक श्रेणी का था विस्फोटक

लखीसराय के तातारपुर थाना क्षेत्र के लहेरी टोला में आठ जनवरी 2021 की देर शाम हुए जोरदार धमाके से इलाका हिल गया था। बम धमाके की तीव्रता का अनुमान इसी बात से लगाया जा सकता था कि आसपास के मकानों के भी छज्जे उड़ गए थे। लोहे का दरवाजा तक उड़ गया था। साल बीतने को है तातारपुर पुलिस उस धमाके का सुराग तक हाथ नहीं लगा सकी। जबकि उसकी जांच को लगी टीम ने विस्फोट में प्लास्टिक विस्फोटक के इस्तेमाल होने का संकेत दिया था। इन तमाम अहम ¨बदुओं के बाद भी पुलिस कुछ पता नहीं लगा सकी।

नाथनगर में टिफिन बम बनाने वाले का सुराग नहीं

लखीसराय के नाथनगर में नौ दिसंबर, 11 दिसंबर और 13 दिसंबर को हुए बम धमाके के बाद बरामद शक्तिशाली टिफिन बम के बनाने और उसे वहां रखने वाले का सही से पता तक नहीं लगा सकी है जबकि टिफिन बम का इस्तेमाल इंडियन मुजाहिदीन और सिमी के उग्रवादी करते रहे हैं। गोड्डा के भाजपा विधायक अमित कुमार मंडल पर हुए जानलेवा हमले में शामिल बदमाशों का पता भी पुलिस नहीं लगा सकी।

जदिया में गार्ड को गोली मार 45 लाख की लूट

सुपौल में 01 फरवरी की शाम 4.25 बजे जदिया बाजार के पेट्रोल पंप के पास स्टेट बैंक आफ इंडिया के एटीएम में पैसा पहुंचाने आए कर्मियों से अपराधियों ने रुपये से भरा बैग लूट लिया। विरोध करने पर अपराधियों ने पिपरा निवासी गार्ड संजय कामेत (30) के सिर में गोली मार दी। इसके बाद अपराधी बाइक पर सवार होकर फायरिंग करते हुए भागने में सफल रहे। इलाज के लिए गार्ड को त्रिवेणीगंज भेजा गया जहां उनकी मौत हो गई। अपराधियों द्वारा लूटे गए बैग में 45 लाख रुपये थे।

लूट में असफल होने पर किराना दुकानदार की गोली मारकर हत्या

04 फरवरी को सुपौल के पिपरा थाना क्षेत्र के महेशपुर में किराना व्यवसायी शंभू चौधरी की दुकान पर लूट की नीयत से दो मोटरसाइकिल से छह की संख्या में आए अपराधियों का विरोध व्यवसायी के पुत्र गोविंद व गौतम ने किया। यहां तक कि उठा-पटक भी हुई जिसके बाद अपराधियों ने उनलोगों पर गोली चला दी। इस घटना में गोली लगने से गोविंद की मौत हो गई वहीं शंभू चौधरी, उनके दूसरे पुत्र गौतम कुमार और दुकान में कार्यरत कर्मी श्याम मंडल के पैर में गोली लगी थी।

प्रतापगंज के पूर्व प्रमुख के छोटे भाई को अपराधियों ने मारी गोली

सुपौल - 18 नवंबर की शाम अपराधियों ने प्रतापगंज के निवर्तमान प्रमुख सह युवा राजद के जिलाध्यक्ष भूप नारायण यादव के छोटे भाई रंजीत कुमार को गोली मारकर गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। घटना एनएच 57 पर उस वक्त हुई जब रंजीत भीमपुर स्थित अपने खेत से घर बेलही लौट रहे थे। इसी क्रम में एनएच-57 पर दुअनियां पुल के समीप पहले से घात लगाए दो बाइक पर सवार तीन अपराधियों ने उन्हें रुकने को कहा। जब वे नहीं रुके तो अपराधियों ने ताबड़-तोड़ फायरिंग शुरु कर दी। गोली उनकी पीठ वे पेट में लगी। गोली लगते ही वे बाइक से गिर पड़े और अपराधी भाग खड़े हुए। बाद में उनका निधन विराटनगर नेपाल में इलाज के दौरान हो गया।

दवा व्यवसायी पुत्र की गोली मारकर हत्या

सुपौल - 29 नवंबर की देर शाम आठ बजे अपराधियों ने एनएच 57 पर प्रतापगंज के दुअनिया पुल के समीप सिमराही बाजार के दवा व्यवसायी के पुत्र 26 वर्षीय अभिषेक की गोली मारकर हत्या कर दी। अपराधियों ने अभिषेक के सीने में गोली मारी थी। घटना के बाद लोगों ने उसे प्रतापगंज अस्पताल पहुंचाया जहां डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया। घटना के समय वे फारविसगंज से दांत का इलाज करवाकर घर लौट रहे थे।

मेयर शिवराज हत्याकंड से दहल गया था शहर

कटिहार के 29 जुलाई को नगर निगम के मेयर शिवराज पासवान की अपराधियों ने नगर थाना क्षेत्र के संतोषी चौक स्थित एक रेलवे क्वार्टर के समीप गोली मार हत्या कर दी थी। इस घटना से विधि व्यवस्था पर भी विपक्षी दलों द्वारा सवाल उठाया गया थ। घटना को लेकर 11 के विरूद्ध नामजद प्राथमिकमी दर्ज की गई थी। इस मामले में पुलिस ने मेयर की परिचित एक युवती, उसकी मां, भाई व पिता को गिरफ्तार कर लिया थ। सभी आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद स्पीडी ट्रायल चलाया गया। हत्या के स्पष्ट कारणों को पुलिस ने अब तक स्पष्ट रूप से नहीं बताया है। घटना के विरोध में बाजारर बंद व विरोध प्रदर्शन भी हुआ।

सड़क हादसे में छह लोगों की हो गई थी मौत

कटिहार - जून माह में कुरसेला कोसी ब्रिज पर स्कार्पियो के खड़ी ट्रक से टक्कर हो जाने के कारण स्कार्पियो सवार छह लोगों की मौत हो गई थी। स्कार्पियो सवार सभी लोग छेका कर लौट रहे थे। अल सुबह चालक को झपकी आने के कारण घटना होने की बात कही गई। पिछले पांच वर्षों में यह जिले की सबसे बड़ी सड़क दुर्घटना में एक है। हादसे के बाद एनएच पर सड़क सुरक्षा को लेकर प्रशासनिक स्तर से कवायद शुरू की गई।

प्रेमी के साथ मिल पत्नी ने पति के सिर में गोली मार कर दी हत्या

कटिहार - अगस्त महीने में मुफस्सिल थाना के भट्ठा टोला में एक महिला ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर ट्रक चालक पति के सिर में गोली मार हत्या कर दी। बगल के कमरे में सो रहे बच्चों तक आवाज नहीं पहुंचे इसके लिए महिला ने कमरे में दो पैडस्टल फैन भी लगा रखा थ। महिला के पास से मिले मोबाइल के काल डिटेल के आधार पर पुलिस उसके प्रेमी तक पहुंची। पूछताछ में महिला की संलिप्तता की बात भी सामने आई।

निगरानी की कार्रवाई भी रही चर्चा में

कटिहार - स्पेशल निगरानी टीम द्वारा खनन मंत्री के ओएसडी के भाई तथा महिला मित्र बर्खास्त सीडीपीओ रत्ना चटर्जी के शहर के आफिसर्स कालोनी स्थित आवास पर छापामारी की कार्रवाई की गई। ओएसडी की महिला मित्र के आवास से निगरानी की टीम ने 25 लाख नगद, सोने की बिस्किट, जमीन के कागजात व पार्न सीडी को बरामद किया था। आय से अधिक संपत्ति अर्जित किए जाने के मामले में निगरानी कोर्ट के आदेश पर छापामारी की कार्रवाई की गई थी।

कार से चोरी करने आई महिला चोरों ने छत से लगा दी थी

कटिहार - सेमापुर ओपी क्षेत्र के सेमापुर बाजार में लग्जरी कार से चोरी की घटना को अंजाम देने पहुंचे चोरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर चोरी गए सामानों की बरामदगी कर ली थी। गिरोह में महिला चोर भी शमिल थी। अपने को पुलिस से घिरा देख दो महिला चोरों ने छत से छलांग कार से भाग निकली। पुलिस ने पीछा कर दोनों महिला चोर को गिरफ्तार कर कार जब्त कर लिया था। गिरोह में शामिल तीन पुरूषों को भी गिरफ्तार किया गया। गिरोह का संचालन शातिर महिला चोर द्वारा किए जाने की बात सामने आई थी। इसका नेटवर्क बंगाल और झारखंड तक होने की सुराग भी मिली। इस मामले का सफलता पूर्वक पर्दाफाश करने पर नीति आयोग के अनुवीक्षण विभाग ने कटिहार पुलिस की प्रशंसा की।

पुलिस मुखबिरी के शक में नक्सलियों ने की पिता-पुत्र की हत्या

25 अगस्त 2021 को जमुई के चकाई थाना क्षेत्र अंतर्गत बोंगी पंचायत के टोला पहाड़ बाराजोर गांव में पुलिस मुखबिरी के शक में नक्सलियों ने पिता-पुत्र की हत्या कर दी। 20 की संख्या में वर्दीधारी नक्सलियों ने घर से खींचकर दोनों की पहले लाठी-डंडे से पिटाई की उसके बाद गोली मारकर हत्या कर दी। पिता चतुर हेम्ब्रम 70 वर्ष एवं अर्जुन हेम्ब्रम 42 वर्ष अपने घर में सोए था। इसी दौरान रात के साढ़े दस बजे 20 की संख्या में नक्सली उनके घर पर धमके और दोनों को खींचकर घर से बाहर निकाल लिया और पिटाई करने के बाद दोनों की गोली मारकर हत्या कर दी।

पेड़ से लटका मिला प्रेमी युगल का शव, मामला आनर किलिंग का निकला

जमुई - जमुई जिले के झाझा थाना इलाके के बनजामा से सटे सहिया जंगल में 21 सितंबर 2021 को पेड़ से एक ही दुपट्टे में लटका प्रेमी युगल का शव बरामद किया गया। पुलिस अनुसंधान में मामला आनर किलिंग का निकला। मृतकों की पहचान 17 वर्षीय बालकृष्ण व 16 वर्षीय पिंकी के रूप में हुई। दोनों के बीच प्रेम-प्रसंग चल रहा था। पिंकी के मांग में सिंदूर भी पाया गया। दोनों के प्रेम-प्रसंग से लड़की के स्वजन नराज थे और इसी आक्रोश में दोनों की हत्या कर दी गई। मामले में पुलिस ने लड़की पिता सहित अन्य लोगों को गिरफ्तार किया।

प्यार पर पहरा लगा तो प्रेमी युगल ने नागी डैम में कूदकर दे दी जान

14 मार्च 2021 जमुई के झाझा थाना इलाके के नागी डैम से पुलिस ने ग्रामीणों की सूचना पर एक प्रेमी युगल का शव बरामद किया। पेरगाहा महतो टोला निवासी आशो यादव के पुत्र और तूफानी यादव की पुत्री के बीच काफी दिनों से प्रेम- प्रसंग चल रहा था। दोनों छिप-छिपकर मिला करते थे और साथ जीने मरने की कसमें खा चुके थे। कुछ दिन पूर्व ही इस बात की जानकारी स्वजन को हुई तो प्यार पर पहरा लगा दिया गया। शादी का प्रस्ताव रखा गया तो स्वजन तैयार नहीं हुए। प्यार मुकम्मल होता न देखकर प्रेमी युगल दो दिन पहले घर से गायब हो गए। काफी खोजबीन के बाद भी दोनों का कुछ पता नहीं चल सका और सुबह में दोनों का शव नागी डैम में तैरता मिला।

दरखा के नव निर्वाचित मुखिया की गोली मारकर हत्या

जमुई के तीन दिसंबर को अपराधियों ने लछुआड़ थाना क्षेत्र अंतर्गत दरखा पंचायत के नव निर्वाचित मुखिया जयप्रकाश महतो की बालड़ा मोड़ के समीप हत्या गोली मारकर हत्या कर दी। इस घटना से आक्रोशित स्वजन व ग्रामीणों ने पुलिस की दो वाहनों को आग के हवाले कर दिया। मामले में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई कर नामजद पूर्व मुखिया मु शालिक के भाई को गिरफ्तार कर लिया था। पूछताछ में उसने हत्याकांड में शालिक की भूमिका होने की बात स्वीकारी थी। इस मामले में पुलिस की बढ़ती दबिश को देख मु शालिक ने भी कोर्ट में आत्म समर्पण किया है। अन्य आरोपितों के घर कुर्की की कार्रवाई भी पुलिस ने की है।

मस्जिद विस्फोट बनी देश भर में सुर्खियां

बांका - आठ जून 2021 की सुबह बांका शहर से सटे नवटोलिया गांव के नूरी मस्जिद में जोरदार बम धमाका हुआ। इस धमाके में मस्जिद से लगा मदरसा पूरी तरह जमींदोज हो गया। साथ ही मदरसा की दीवार में दब कर मस्जिद के मौलवी अब्दुल सत्तार मोमीन की मौत हो गई थी। बालू उठाव के विवाद में गांव के लोगों ने मदरसा में टीन के बक्से में करीब दो दर्जन देशी बम को दूध के कंटर में बंद कर रखा था। मौलाना की किसी गतिविधि के कारण ही वह विस्फोट कर गया। घटना के बाद बांका राष्ट्रीय खबर की सुर्खियों में आ गया। इसकी जांच एनआईए को सौंप दी गई। राष्ट्रीय स्तर की जांच एजेंसी कई दिनों तक बांका में डेरा डाले रखा। बाद में पुलिस ने इसमें किसी आंतकी कनेक्शन से इन्कार किया और विस्फोट में देशी बम फटने की बात स्वीकारी। पुलिस की सख्ती के बाद मस्जिद और मदरसा कमेटी के कई लोगों को इस कांड में जेल जाना पड़ा।

मुखिया प्रवीण झा हत्याकांड

बांका - छह सितंबर को अमरपुर प्रखंड के भरको पंचायत के मुखिया प्रवीण झा को एक बोलेरो ने कुचल दिया था। इससे उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई थी। मुखिया को कुचलने के बाद बोलेरो चालक गाड़ी को लेकर भागने लगा था। इसी क्रम में बल्लीकित्ता नहर के पास पीछा कर रहे ग्रामीणों ने बोलेरो को रोककर गाड़ी में तोड़फोड़ की, जबकि चालक और अन्य फरार हो निकले। जब्त बोलोरो डीलर राजीव चौधरी के पत्नी के नाम से था। प्रवीण झा अपनी बाइक से भरको पंचायत से अपने घर बाजा आ रहे थे। इसी क्रम में इंगलिशमोड़-शंभूगंज मुख्यमार्ग के पास पंचायत भवन के समीप पीछे से एक बोलोरो ने उसे धक्का मार दिया। धक्का लगने से सड़क पर बाइक सहित गिरने के बाद पुन: चालक ने बोलोरो को पीछेकर कुचल दिया। इससे उसकी मौत हो गई। प्रवीण आरटीआई कार्यकर्ता भी थे। इसके पूर्व भी आरटीआई को लेकर कुछ लोगों से उसका विवाद हुआ था। स्थानीय लोगों ने बताया कि मुखिया प्रवीण की शिकायत पर डीलर राजीव चौधरी का लाईसेंस रद हुआ था। इस कारण भी मुखिया के कुचलने की चर्चा हो रही है। इस मामले में मुखिया के बहनोई राजीव झा ने आठ को नामजद किया था। इसमें छह लोग आत्मसमर्पण कर दिया है।

अमरपुर थानेदार व सीओ पर हुआ था हमला

बांका जिले के अमरपुर प्रखंड में पांच जून को वलिया गांव में जमीन विवाद मामले में जांच के लिए गए तत्कालीन थानाध्यक्ष अरविंद कुमार राय एवं सीओ स्वाति कृष्णा पर एक पक्ष के दो दर्जनों लोगों ने जानलेवा हमला कर दिया था। जिसमें उपद्रवियों ने पुलिस वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया था।

इस मामले में एक दर्जन के खिलाफ केस किया गया था। जिसमें तीन की गिरफ्तारी हुई थी। बाद में तीन अन्य की गिरफ्तारी हुई थी। अभी भी सात आरोपित फरार हैं। पुलिस के अनुसार आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

अक्टूबर माह में दिल्ली में गिरफ्तार पाकिस्तानी आतंकी के किशनगंज में एक सरपंच के मदद से बनवाया पहचान पत्र बनाकर उस पहचान पत्र के आधार पर अन्य दस्तावेज तैयार करने का मामला सामने आया था। गिरफ्तार आतंकी अशरफ 2005 में बांग्लादेश से बिहार के किशनगंज पहुंचा था। इस दौरान किशनगंज जिला की चर्चा हर ओर हुई थी।

28 अक्टूबर को किशनगंज के ठाकुरगंज के दुधौंटी पंचायत में एक कलियुगी बेटे ने ही धारदार हथियार से वार कर सुप्तावस्था में धारदार हथियार से वार कर अपने माता और पिता की हत्या कर दिया था। पुलिस ने आरोपित पुत्र मु. दिलदार को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। यह घटना काफी चर्चित रही थी।

12 दिसंबर को किशनगंज में नकाबपोश अपराधियों ने बंदूक की नोक पर राजद जिलाध्यक्ष के पेट्रोल पंप पर लूट की वारदात को दिया अंजाम दिया था। अपराधियों ने गोलीबारी करते हुए 5.90 लाख रुपये लूट लिया था। यह घटना जिला की सबसे बड़ी लूट घटना रही। मामले को उजागर करते हुए पुलिस ने 10 अपराधियों को गिरफ्तार किया था।

दो दिसंबर को किशनगंज जिले के कोचाधामन प्रखंड के बड़ीजान पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि फुरकान आलम को अपराधियों ने चुनाव प्रचार के दौरान गोली मार दी गई थी। पंचायत चुनाव के दौरान गोलीबारी या चुनाव से जुड़ी बड़ी घटना थी।

11 नंवबर को किशनगंज पुलिस ने छह क्विंटल गांजा बरामद किया था। तस्कर ट्रक में गांजा की खेल लेकर जा रहा था। इस दौरान पुलिस ने गांजा सहित ट्रक जब्त कर सवार चालक को गिरफ्तार किया था।

नौका हादसा में छह की मौत, साल की सबसे बड़ी घटना

16 नवंबर 2021 खगड़िया जिले के परबत्ता प्रखंड के लोगों के लिए काला दिन रहा। परबत्ता थाना अंतर्गत नयागांव के पास गंगा की उप धारा में 16 नवंबर की शाम नौका हादसे में छह लोगों की मौत हो गई। हादसे में पांच महिलाएं घायल भी हुई थी। जिसमें सुधा देवी, ममता देवी, पूजा देवी, खुशबू देवी और अंकिता कुमारी इलाज बाद ठीक हुई। नाव नयागांव दियारा से नयागांव सीढ़ी घाट आ रही थी। घाट से नाव खुलने के बाद जलसमाधि ले ली। नाव पर 35 लोग सवार थे। जिसमें घटना बाद तीन लोगों का शव रात में ही मिल गया और शेष तीन लोगों के शव अगले दिन एसडएफ द्वारा चलाए गए सर्च अभियान में बरामद किया गया। हादसे में मरने वालों में नूतन कुमारी (18 वर्ष), श्वेता कुमारी (15 वर्ष), शर्मिला देवी (50 वर्ष), पंकज सिंह (45 वर्ष), प्रभात कुमार उर्फ दिलखुश (20 वर्ष) और संतोष कुमार उर्फ कारे (40 वर्ष) शामिल थे। घटना के बाद नयागांव में चीख पुकार मची रही।

दोहरे हत्याकांड से थर्रा उठा था बेलदौर

खगड़िया जिले के बेलदौर थाना अंतर्गत सकरोहर 12 अगस्त 2021 काे उस समय थर्रा उठा था जब गोलियों की तरतराहट के बीच एक साथ दो सहोदर भाइयों को अपराधियों ने मौत की नींद सुला दिया था। तीसरा भाई जख्मी हो तड़पता रहा। 12 अगस्त की रात अपराधियों ने घर में सोए धनंजय सिंह व विजेंद्र उर्फ विजय सिंह को आवाज देकर घर से बाहर बुलाया और गोलियों से भून दिया। जिससे घटना स्थल पर ही उनकी मौत हो गई। गोली की आवाज सुन बाहर निकला तीसरा भाई संतोष सिंह भी अपराधियों के गोली का शिकार हो घायल हो गया। मामले में मृतक के पुत्र ने 20 लोगों को आरोपित बनाते हुए एफआइआर दर्ज कराया था।

पसराहा में मुर्गा व्यवसायी की गोली मारकर हत्या

खगड़िया के पसराहा थाना अंतर्गत पसराहा गांव में बीते 18 दिसंबर को पुरानी रंजिश में मुर्गा व्यवसायी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। 18 दिसंबर की सुबह उस समय मुर्गा व्यवसायी विकास कुमार की हत्या की गई जब वह अपने रिश्तेदार से मिलने जा रहा था। राजकीय बुनियादी विद्यालय पसराहा के समीप पूर्व से घात लगाए अपराधियों ने गोली मार दी। जिससे घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गई। मृतक व्यवसायी विकास कुमार पसराहा गांव का रहने वाला था। वह मुर्गा व्यवसाय से जुड़ा हुआ था। घटना का कारण पुरानी रंजिश बताई जा रही है। जो कि उसी गांव के रामचंद्र सिंह से थी।

टीकारामपुर के राजेश यादव को गोलियों से भूना गया

17 दिसंबर 2021 को खगड़िया-मुंगेर के सीमावर्ती क्षेत्र बूढ़ी गंडक नदी के टीकारामपुर घाट पर अपराधियों ने 35 वर्षीय राजेश यादव पर अंधाधुंध फायरिंग कर गोलियां से भून डाला। राजेश मुंगेर जिले के मुफस्सिल थाना अंतर्गत टीकारामपुर गांव का रहने वाला था। वह मानसी के मटिहानी घाट से टीकारामपुर घाट तक चचरी पुल का निर्माण करवा रहा था। इस दौरान करीब छह बजे आधे दर्जन से अधिक बाइक पर सवार लगभग एक दर्जन से अधिक अपराधियों ने दो तरफ से घेरकर राजेश यादव पर गोलियों की बरसात कर दी। राजेश के साथ चचरी पुल का निर्माण करा रहे उनके बड़े भाई रणवीर यादव ने बताया कि बचने के लिए राजेश नदी में कूद गया। उसके बाद भी अपराधी गोली चलाते रहे। भागने के दौरान रणवीर और अन्य अपराधियों का पीछा करने लगे कि अपराधी उनपर भी गोली चलाकर भागने में सफल रहा।

अलौली में सरेआम गोली मार की गई युवक की हत्या

खगड़िया - 20 दिसंबर 2021 को जिले के अलौली थाना अंतर्गत अलौली चौक के समीप सरेआम अपराधियों ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। चौक के पास अलौली के 35 वर्षीय लूरक यादव किसी कार्य से गया था। इस दौरान अपराधियों ने उसे गोली मार दी। जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। कई स्थानीय लोगों ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि एक साल पहले उसके घर से पुलिस द्वारा हथियार बरामद किया गया था और पुराना जमीन विवाद भी था। अपराधियों द्वारा लूरक पर गोली चलाई गई, तो वह बचने के लिए नाला के समीप गिर गया। गिरने के बाद भी अपराधियों द्वारा अंधाधुंध गोली चलाई गई। जिससे वहां लोगों के बीच भगदड़ मच गई। लोग घरों के दरबाजे बंद करने लगे। लूरक को आधे दर्जन से अधिक गोली लगी थी। घटना में पुरानी रंजिश होने की बात सामने आई।

भरगामा में मासूम बच्ची के साथ युवक ने किया दुष्कर्म

अररिया - भरगामा थाना क्षेत्र के एक गांव में एक दिसंबर बुधवार की शाम अनुसूचित जाति की छह साल की एक मासूम बच्ची को जबरन उठाकर मो: मेजर नामक एक दबंग युवक ने दुष्कर्म किया। घटना के बाद जानकारी मिलते ही स्थानीय लोगों के पहल पर भरगामा एवं महिला थाना पुलिस ने बच्ची को चिकित्सीय जांच के अस्पताल भेज दिया। घटना के बाद पीड़ित परिवार में भय का माहौल बना हुआ था। इस मामले में पुलिस ने बाद में आरोपित मो/मेजर को गिरफ़तार कर लिया। यह मामला काफी हाईलाइट हुआ था।

पलासी के डाला गांव के समीप कार के अनियंत्रित होकर पलटने से पांच की मौत

अररिया - पलासी प्रखंड क्षेत्र के मैंना-कलियागंज पथ पर डाला मोड़ के समीप मंगलवार अहले सुबह एक हुंडई कार के अनियंत्रित होकर सड़क के किनारे पानी से भरे गड्ढ़े में पलटने से पांच लोगों की मौत घटना स्थल पर ही हो गयी। सभी कार में सवार होकर अनंत पूजा के अवसर पर लगे मेला से लौट रहे थे। मृतकों में मझुआ (भीखा) वार्ड नंबर 13 के सुनील कुमार मंडल (26 वर्ष) पिता राजकुमार मंडल, कलानंद मंडल (25 वर्ष), पिता दयानंद मंडल, चौरी वार्ड नंबर 03 के धनंजय कुमार साह (25 वर्ष), गेराड़ी मुंडमाला के सुनील कुमार करदार (35 वर्ष), पिता जगत लाल करदार तथा कुर्साकांटा थाना क्षेत्र के चिकनी मेंहदीपुर गांव के नवीन कुमार साह (35 वर्ष), पिता उपेन्द्र साह शामिल हैं। घटना की सूचना पर पलासी थानाध्यक्ष शिव पूजन कुमार ने घटना - स्थल पर पहुंचकर दुर्घटनाग्रस्त कार से पांचों शवो को बाहर निकलवाकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल अररिया भेज दिया गया था। ये घटना काफी दिलदहलाने वाली थी। 21 सितंबर को हुई थी।

एतिहासिक फैसला

अररिया - पोक्सो एक्ट विशेष न्यायालय के स्पेशल जज शशिकांत राय की अदालत द्वारा एक ही दिन मे यानि 15 अक्टूबर, 21 को एक सात वर्षीय बच्ची के साथ किए गये दुष्कर्म के मामले मे ट्रायल पूरा कर लिया। इस मामले में आरोप गठन के साथ कुल आठ गवाहों की गवाही आदि सभी प्रक्रियाएं पूरी व बहस के बाद पोक्सो एक्ट के स्पेशल कोर्ट द्वारा एक ही दिन में कुर्साकांटा के कुआडी़ निवासी दोषसिद्ध आरोपित राज कुमार यादव को अंतिम सांस तक आजीवन कैद की सजा सुना कर इस फैसले को ऐतिहासिक बना दिया। यह मामला घटना तिथि-22.09.21 की है जो पोक्सो एक्ट कोर्ट केस नं0-36/21 से जुडा है। कोर्ट ने एक ही दिन मे आरोप गठन, कुल आठ गवाही के साथ उसी दिन फैसला भी सुना दिया। पोक्सो एक्ट में सबसे कम समय में त्वरित निष्पादन की दिशा में एक ही दिन मे ट्रायल पूरा करने वाला भारत का पहला ऐतिहसिक मामला का उदाहरण बन गया है। इस मामले को बिहार सरकार, गृह विभाग के अभियोजन निदेशालय, पटना ने इंडिया बुक रिकार्ड में दर्ज करने की हुई सिफारिस की है।

आजीवन कारावास की सजा

अररिया - नरपतगंज थाना क्षेत्र में दिलीप कुमार यादव नामक एक 30 वर्षीय युवक ने अपने ही गांव की एक आठ वर्षीय बच्ची के घर में जबर्दस्ती दुष्कर्म का अंजाम दिया। यह घटना 22 जुलाई, 2021 को नरपतगंज थाना क्षेत्र की है। इस मामले में पीडिता की मां ने नरपतगंज थाना में दिनांक-23 जुलाई को कांड संख्या-349/21 दर्ज कराई थी। इस मामले में अररिया की महिला एचएसओ रीता कुमारी, स्पेशल पीपी श्याम लाल यादव सहित पोक्सो एक्ट के स्पेशल कोर्ट की विशेष सक्रियता रही और एक दिन में कोर्ट ने मामले के पुलिस जांचकर्ता बनी एचएसओ रीता कुमारी एवं दो चिकित्सको सहित कुल 11 गवाहो की गवाही कलमबंद किया। इससे पूर्व 23 जुलाई को दर्ज इस मामले में 20 सितम्बर को पुलिस ने आरोप पत्र कोर्ट में दाखिल कर दी। उधर कोर्ट ने अपनी सक्रियता से उसी दिन 20 सितंबर को दाखिल आरोपित के खिलाफ संग्यान भी ले लिया। स्पेशल कोर्ट ने इस मामले में इंसाफ के अंतिम मुकाम पर लाने की तत्परता दिखाते 24 सितंबर,21को आरोप गठन कर दिया। तत्पश्चात इसके पोक्सो एक्ट के इस कोर्ट ने एक दिन मे गवाहो की गवाही व आरोप सिद्ध के साथ साथ दोषसिद्ध आरोपित दिलीप कुमार यादव को भादवि की धारा-376 ए तथा बी के तहत अंतिम सांस तक यानि जीवन भर जेल मे रहने का ऐतिहसिक फैसला सुनाया है। कोर्ट ने पचास हजार की जुर्माना राशि में 75 प्रतिशत की राशि सहित पीड़िता को विक्टिम कंपनसेशन फंड से सहायता राशि दिया जा चुका है।

फांसी की सुनाई गई सजा

अररिया - अपनी नानी के साथ करीब दो साल पहले दिनांक-05 अगस्त की रात्रि दस बजे से 06 अगस्त, 2019 के बिषहरी पूजा का मेला देखने गई एक नाबालिग छात्रा के साथ 5/6 अगस्त,2019 में दुष्कर्म के बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। इस अतिसंवेदनशील मामले में अररिया के पोक्सो एक्ट के स्पेशल कोर्ट के विशेष न्यायाधीश शशिकांत राय की अदालत में अक्टूबर माह में सजा की बिंदु पर सुनवाई पूरी की तथा 21 वर्षीय अमर कुमार नामक एक युवक को जीवन समाप्त होने तक का फांसी की सजा मुकर्रर किया है। साथ ही कोर्ट ने पीडिता की मां को विक्टिम कंपनसेशन फंड से दस लाख रुपए आर्थिक सहायता राशि देने को लेकर अररिया के डीएलएसए को निर्देश दिया है। कोर्ट ने सजा की बिंदु पर सुनवाई के बाद दोषसिद्ध आरोपित सिमराहा थाना क्षेत्र के मिर्जापुर छर्रापट्टी टोला निवासी किशनलाल दास के एक्कीस वर्षीय पुत्र अमर कुमार को साक्ष्य के आधार पर भादवि की धारा 376(डी) (बी), 302 तथा 201 सहित पोक्सो एक्ट की धारा-4 के तहत दोषी करार दिया तथा सजा की बिंदु पर सुनवाई के दौरान सिद्धदोष आरोपित अमर कुमार को भादवि की धारा -376 (डी) (बी) एवं धारा-302 के अंतर्गत उसे उसके जीवन समाप्त होने तक फांसी पर लटकाए जाने का फैसला सुनाया था। साथ ही उक्त आरोपित को भादवि की धारा-201 में तीन वर्षो का सश्रम कैद व तीन हज़ार रुपये जुर्माना भरने का आदेश दिया और जुर्माना नही देने पर दस दिनों का अतिरिक्त साधारण कैद की सजा भी मुकर्रर किया।

11 दिसंबर 2021

मधेपुरा : जिले के आलनमरग थाना क्षेत्र के बड़गांव पंचायत में दो मुखिया प्रत्याशी के बीच 11 दिसंबर की रात विवाद हो गया था। विवाद बढ़ने पर हुई गोलीबारी में एक वार्ड सदस्य प्रत्याशी सहित दो की मौत हो गई थी। वर्तमान मुखिया सह प्रत्याशी शांति देवी की पति रनविजय कुमार मंडल व मुखिया प्रत्याशी ललिता देवी के पति वीरेंद्र कुमार सिंह के समर्थकों के बीच विवाद हुआ था। विवाद में हुई गोलीबारी में वार्ड सदस्य प्रत्याशी बृज मोहन कुमार की मौत हो गई। वहीं एक और व्यक्ति नथनी शर्मा की मौत भी इलाज के दौरान हो गई थी।

वोट देने के विवाद पर गोली मारकर कर दी थी हत्या

मधेपुरा : जिले के मुरलीगंज थानाक्षेत्र के चामगढ़ में 16 अक्टूबर की संध्या वोट के लिए प्रचार-प्रसार के दौरान बदमाशों ने तीन व्यक्ति को गोली मार दी थी। इसमें एक व्यक्ति मु.रहमान (50) की मौत मौके पर ही हो गई थी। जबकि मु.ईदरीश (55) व गौतम यादव (35) गोली लगने से जख्मी हो गए थे। घटना को अंजाम बीरेंद्र यादव ने दिया था। बीरेंद्र यादव भी पंचायत चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा था।

Edited By: Dilip Kumar Shukla