भागलपुर [जेएनएन]। मधुसूदनपुर इलाके के भतोडिय़ा पंचायत के मुखिया बसारूल हक पर एक लड़की ने शादी का झांसा देकर तीन वर्ष तक यौन शोषण करने का आरोप लगाया है। लड़की ने इस संबंध में मुखिया के खिलाफ थाने में आवेदन दिया है। दोनों में पूर्व से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

लड़की का कहना है कि शुक्रवार सुबह मुखिया उसके घर आया था। अकेली देख मुखिया उसके साथ गलत हरकत करने लगा। शोर मचाने पर गांव के लोग जुटे तो मुखिया भाग गया। घटना के बाद गांव मे पंचायत हुई, जिसमें मारपीट हो गई। स्थिति गंभीर देख पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले आई। पंच और पुलिस के दबाव में मुखिया शादी को राजी हो गए। लेकिन मुखिया ने भतोडिय़ा में शादी करने की बात कही। पुलिस और लड़की पक्ष का कहना था कि शादी दूसरी जगह करनी होगी। इस पर सहमति नहीं बनी।

मधुसूदनपुर थानाध्यक्ष मनीष कुमार ने बताया कि लड़की की ओर से आवेदन मिला है। दोनों पक्षों में समझौता नहीं हुआ तो लड़की का मेडिकल कराया जाएगा। रिपोर्ट में आरोप सच साबित होने पर मुखिया को गिरफ्तार कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

भतौडिय़ा के मुखिया ने किया निकाह, नहीं हुआ केस

सामाजिक प्रतिष्ठा और पद की गरिमा को देखते हुए भतोडिय़ा पंचायत के मुखिया मु. बसारुल हक ने यौन शोषण का आरोप लगाने वाली लड़की से निकाह कर लिया। मुखिया पर इंटर की छात्रा ने आरोप लगाते हुए मधुसूदनपुर थाने में प्राथमिकी दर्ज करने के लिए आवेदन दिया था।

मुखिया ने शनिवार को भतौडिय़ा स्थित बड़ी मस्जिद में रीति रिवाज के साथ लड़की के साथ निकाह कर लिया। मुखिया ने कहा कि शादी का झांसा देकर तीन वर्ष तक यौन शोषण करने का आरोप बिल्कुल बेबुनियाद है। लड़की हमसे 17 साल छोटी है।

वहीं लड़की वालों ने बताया कि निकाह पूरे नियम के अनुसार हुआ है, सिर्फ अब विदाई बाकी है। मुखिया जब चाहे बहन की विदाई के लिए घर आ सकते हैं। मामले पर थानाध्यक्ष मनीष कुमार ने बताया कि मुखिया के द्वारा लड़की से शादी करने के बाद लड़की पक्ष ने भी मुकदमा करने से इन्कार कर दिया।

Edited By: Dilip Shukla