भागलपुर [जेएनएन]। सात निश्चय में अनियमितता बरतने वाले पांच मुखिया को बर्खास्त किया जा सकता है। बीडीओ ममता प्रिया ने इनके खिलाफ कार्रवाई के लिए जिला मुख्यालय को पत्र दिया है। अब जिला प्रशासन पंचायती राज विभाग से इनकी बर्खास्तगी की अनुशंसा करेगा।

सरकार ने सभी मुखिया को सात निश्चय योजना के हर घर नल जल, पक्की गली नाली और योजनाओं के लिए राशि वार्ड समिति के खाते में भुगतान कर काम कराने का आदेश दिया था लेकिन मुखिया ने मनमानी कर राशि वार्ड समितियों के खाते में ट्रांसफर नहीं किया। पंचायत सेवकों से साठगांठ कर राशि स्वयं निकाल ली।

सरकारी वित्तीय अनियमितता का मामला होने की वजह से सबौर थाने में संबंधित पांच मुखिया कल्याणी देवी ममलखा, राजेश कुमार मंडल शंकरपुर दियरा, मो. जफर आजाद बैजलपुर, उषा गुप्ता चंधेरी और संजीत कुमार सिंह खानकित्ता एवं दो पंचायत सचिवों शैलेंद्र कुमार पंचायत सचिव और छोटेलाल मंडल पर मामला दर्ज किया गया था। राशि निकासी सहित अन्य कागजातों के आधार पर अब तक के पुलिस अनुसंधान में मामला सत्य पाया गया है।

Posted By: Dilip Shukla