भागलपुर [जेएनएन]। फिल्म अभिनेता और कॉमेडियन जावेद जाफरी दीक्षा इंटरनेशनल स्कूल के वार्षिकोत्सव में पहुंचे थे। उनके आते ही छात्र-छात्राओं के साथ-साथ वहां हजारों की संख्या में उपस्थित अभिभावकों के भी चेहरे खिल उठे।

जावेद ने हाथ-हिलाकर उपस्थित दर्शकों का अभिवादन स्वीकार किया। मंच से उन्होंने बच्चों को कहा कि नेल्सन मंडेला कहते थे शिक्षा सबसे बड़ा हथियार है। इसके बल पर पूरी दुनिया को बदला जा सकता है।

आप बच्चे विद्या के इस मंदिर में शिक्षा को हथियार बनाएं और पूरी दुनियां में सफलता का परचम लहराएं। हर धर्म में पढऩे की बड़ी अहमियत है। उन्होंने विद्यार्थियों को इंटरनेट का उपयोग ज्ञानार्जन के लिए करने की सलाह दी। जावेद ने अभिभावकों से भी अपने बच्चों को मोबाइल से दूर रखने की नसीहत दी।

मौके पर उन्होंने बोल बेबी बोल पर डांस के साथ-साथ डायलाग सुनाकर बच्चों को खूब हंसाया और तालियां बटोरी। अंत में उन्होंने कहा 'मैं अमन पसंद हूं, अमन रहने दो, लाल-हरे रंगों में मत बांटो, मेरी छत पर तिरंगा रहने दो।' इसके पहले स्कूल के निदेशक संजय कुमार ने पुष्प गुच्छ से जावेद का स्वागत किया। मौके पर विशिष्ट अतिथि डॉ. मोहन पासवान, प्राचार्य डॉ. केकेएस मूर्ति, उप प्राचार्य संजय सिंह सहित बड़ी संख्या में शिक्षक-शिक्षिकाएं एवं विद्यार्थी उपस्थित थे। अभिनेता के जाने के बाद देर शाम तक स्कूली बच्चों ने रंगारंग नृत्य संगीत पेश कर वार्षिकोत्सव में आए अभिभावकों को भाव विभोर किए रखा। वहीं जेसीबी के सहारे बिट्टू आकाश सिंह का एरियल डांस देख बच्चे गदगद हो गए।

विज्ञान व आर्ट एंड क्रॉफ्ट प्रदर्शनी का उद्घाटन

अभिनेता जावेद ने स्कूल के वार्षिकोत्सव पर बच्चों द्वारा लगाए गए विज्ञान व आर्ट एंड क्रॉफ्ट प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। अवलोकन के उपरांत उन्होंने प्रदर्शनी में लगे स्वच्छ भारत, स्मार्ट डस्टबीन, कोनार्क मंदिर एवं जोत के घटते आकार को देख छतों पर जैविक खेती के मॉडल की तारीफ की। बच्चों की वैज्ञानिक सोच, कला कौशल तथा नृत्य संगीत की प्रतिभा देखकर स्कूल प्रबंधन की प्रतिबद्धता को उत्कृष्ट बताया।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस