घोघा (भागलपुर)। एनएच 80 के गड्ढे तो भर दिए गए, लेकिन समस्या फिर भी बरकरार है। सड़क पर कीचड़ से वाहन चालकों का और आम लोगों का आना-जाना मुश्किल हो गया है। स्थिति यह है कि सड़क पर कहीं धूल उड़ रही है तो कहीं कीचड़ वाहनों की रफ्तार रोक रही है। हालांकि पहले की तरह आज भी पेट्रोल पंप के पूरब सड़कों पर उड़ती धूल से लोग परेशान हैं। बड़े वाहनों के गुजरने के दौरान घने कोहरे से भी ज्यादा सड़कों पर धूल उड़ रही है। घोघा पेट्रोल पंप के पूरब अर्थात सौ मीटर के अंतराल पर सड़क कीचड़मय हो गई है। बीते शुक्रवार को सांसद की पहल पर ईंट निर्माताओं द्वारा एनएच पर बने जानलेवा गड्ढों को भरकर चलने योग्य बनाने का प्रयास किया गया था, ताकि लोगों को परेशानियों से कुछ हद तक निजात मिल सके। सौ से अधिक गड्ढों को भरा भी गया, परंतु गड्ढे भरने के बाद हल्की बारिश हो गई, जिससे सड़क कीचड़मय हो गई। गड्ढों में भरे गए ईंट के टुकड़े गाड़ियों के परिचालन से मात्र 24 घंटे में ही चूर होकर मिट्टी में मिलकर कहीं कीचड़ तो कही सड़कों पर मलबे के ढेर के समान दिखने लगे हैं। इससे गाड़ियों के परिचालन के अलावा आम लोगों का पैदल चलना भी मुश्किल हो गया।

पक्कीसराय पेट्रोल पंप के समीप से पक्कीसराय सीमांत तक एनएच 80 मुख्य मार्ग की स्थिति जस की तस बनी हुई है। सड़क पर पहले की तरह गड्ढे अभी भी हैं। इसके अलावा कीचड़ और फिसलन से लोग परेशान हैं। एनएच की स्थिति देख लोग कहने लगे हैं कि इससे अच्छी तो दियारा की सड़कें हैं।

Edited By: Jagran