जागरण संवाददाता, भागलपुर। दक्षता और शिक्षक पात्रता परीक्षा अनुतीर्ण शिक्षकों को वेतन वृद्धि का लाभ नहीं मिलेगा। इसके बावजूद वेतन निर्धारण की प्रक्रिया में कई दक्षता अनुतीर्ण शिक्षक भी वेतन वृद्धि का लाभ ले रहे हैं। ऐसे में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना मणिकांत प्रसाद गुप्ता ने सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, विद्यालय अवर निरीक्षक, प्रधानाध्यापक को पत्र लिख कर निर्देश दिया है कि दक्षता परीक्षा और शिक्षक पात्रता परीक्षा अनुतीर्ण शिक्षकों को वेतन वृद्धि का लाभ नहीं दें। जिला कार्यक्रम पदाधिकारी ने कहा कि अगर कोई दक्षता अनुतीर्ण शिक्षक ने वेतन वृद्धि का लाभ ले लिया है, तो ऐसे लोगों को चिह्नित करें। चिह्नित किए जाने के बाद ऐसे शिक्षकों से राशि की रिकवरी की जाएगी।

माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत अप्रशिक्षित शिक्षकों के वेतन का निर्धारण साफ्टवेयर के माध्यम से नहीं होगा। अप्रशिक्षित शिक्षकों के वेतन निर्धारण की प्रक्रिया मैनुअल करने के निर्देश दिए गए हैं। प्रारंभिक विद्यालयों में कार्यरत अप्रशिक्षित शिक्षकों के वेतन का निर्धारण नहीं होगा। संगीत और शारीरिक शिक्षक के प्रशिक्षिण तिथि की जगह नियोजन की तिथि अंकित करने के निर्देश दिए गए हैं। जिला कार्यक्रम पदाधिकारी स्थापना ने अपने आदेश में कहा है कि जिन शिक्षक के वेतन का निर्धारण अधिक हो गया है, उनसे राशि रिकवरी की कार्रवाई प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी के माध्यम से की जाएगी। अगर भविष्य में वेतन निर्धारण में गड़बड़ी पाई गई, तो प्रारंभिक शिक्षक के मामले में प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी और माध्यमिक शिक्षक के मामले में संबंधित विद्यालय के प्रधानाध्यापक जिम्मेवार होंगे।

विज्ञान शिक्षकों को दिया गया आनलाइन प्रशिक्षण

कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए अब नटखट साइंस लैब के माध्यम से आफलाइन की जगह आनलाइन प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। प्रोजेक्ट हेड शेखर सुमन ने विज्ञान के शिक्षकों को आनलाइन प्रशिक्षण दिया। रसायन विज्ञान की प्राकृतिक सामग्री द्वारा अम्ल, क्षार और लवण का परीक्षण करना सिखाया गया। वहीं, जीव विज्ञान में आठवी कक्षा के श्वसन तंत्र का माडल एवं नाचती कंकाल का साइंस माडल बनाने का प्रशिक्षण दिया गया। ऑनलाइन कक्षा के पहले दिन के सत्र में नामित 20 शिक्षक उपस्थित हुए। दूसरे दिन की सत्र में 17 शिक्षकों ने भाग लिया। नटखट साइंस लैब प्रोग्राम लीड ज्योति नंदा के साथ मृणाल एवं श्वेताभ आदि ने सत्र संचालन में सहयोग दिया।

Edited By: Dilip Kumar Shukla