भागलपुर, जेएनएन। दिल्ली के पूर्व कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर की लॉ की फर्जी डिग्री मामले में तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय (TMBU) ने मंगलवार को अंतिम सुनवाई की और अपने पहले के फैसले को बरकरार रखा। विवि के कुलसचिव अरुण कुमार सिंह ने कहा अब हाईकोर्ट को फैसले की रिपोर्ट सौंपी जाएगी। बता दें कि टीएमबीयू ने तोमर की लॉ की डिग्री को रद कर दिया था। विवि के इस फैसले के विरोध में तोमर ने पटना हाईकोर्ट में याचिका दायर की थी।

कोर्ट 16 मई 2018 को अपने आदेश में टीएमबीयू को यह निर्देश दिया था कि उक्त मामले में तोमर का पक्ष सुनकर तीन माह में रिपोर्ट दें। विवि प्रशासन ने बार-बार अपना पक्ष रखने के लिए तोमर को नोटिस भेजा पर वे नहीं आए। मंगलवार को सुनवाई की अंतिम तिथि निर्धारित की गई थी।

इस क्रम में पूर्व कानून मंत्री तोमर के अधिवक्ता अभिजीत पांडेय विवि आए थे। उन्होंने एक आवेदन समर्पित कर आगे और समय मांगा था। लेकिन सुनवाई के लिए बार-बार नाम पुकारे जाने के बाद भी न तोमर और न उनके अधिवक्ता उपस्थित हुए। तत्पश्चात विवि प्रशासन ने फर्जी डिग्री मामले में पूर्व में दिए गए अपने फैसले का बरकरार रखा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस