भागलपुर। जिले में दूसरे राज्य से लौटे महिला और पुरुष प्रवासियों के लिए राहत भरी खबर है। उन्हें रोजगार के लिए न तो बाहर जाने की जरूरत है और न ही परेशान होने की। लीड बैंक यूको बैंक की ग्रामीण स्व-रोजगार संस्थान (आरसेटी) ने प्रवासियों के रोजगार के लिए दरवाजा खोल दिया है। प्रशिक्षण कार्यक्रम का निबंधन लॉकडाउन के बाद होगा। इसके लिए जिला प्रशासन को पत्र भेजा गया है।

दरअसल, जिले में यूको आरसेटी बेरोजगार लोगों को प्रशिक्षण देकर रोजगार मुहैया कराने के लिए अधिकृत है। इसके पहले भी हजारों लोगों को रोजगार दिया गया है। इधर, लॉकडाउन के बाद बाहर से आए प्रवासियों को रोजगार से जोड़ने के लिए संस्थान की ओर से पहल की गई है। इसके तहत रोजगार के लिए 44 तरह का प्रशिक्षण कार्यक्रम की सूची बनाई गई है।

--------------------

18 से 45 वर्ष के लोगों को लाभ,

यूको के इस खास प्रशिक्षण कार्यक्रम का लाभ पाने वालों के लिए 18 से लेकर 45 तक की उम्र सीमा निर्धारित की गई है। 70 फीसद बीपीएल और एपीएल धारकों को लाभ मिलेगा। आरसेटी एक साल में दो दर्जन से ज्यादा प्रशिक्षण बैच चलाएगा। एक बैच में लोगों की अधिकतम संख्या 25 से 35 होगी। प्रशिक्षण लेने वालों के लिए बैंक पासबुक, आधार कार्ड, फोटो देना होगा। निबंधन होने के बाद उन्हें प्रशिक्षण दिए जाएगा। प्रशिक्षण लेने वालों गैर आवासीय लोगों को हर दिन 40 रुपये के हिसाब से खर्च भी मिलेगा।

------------------

-कौशल विकास योजना के तहत कई संस्थाओं ने प्रवासियों को रोजगार देने के लिए कवायद की है। यूको आरसेटी भी प्रवासियों को प्रशिक्षण कर रोजगार मुहैया कराएगा। इसके लिए 44 तरह के कार्यक्रम होंगे।

-अशोक कुमार ठाकुर, निदेशक, आरेसटी, भागलपुर।

--------------------

दिन प्रशिक्षण कार्यक्रम 30 दिन - महिला सिलाई

6 दिन - किराना व्यवासाय

6 दिन - बैंक मित्र

6 दिन -सामान्य उद्यमिता विकास कार्यक्रम

10 दिन - गो पालन एवं वर्मी कम्पोस्ट :

13 दिन - कृषि उद्यमी

13 दिन - खिलौना निर्माण

10 दिन - मुर्गी पालन

10 दिन - बकरी पालन

10 दिन - सब्जी की खेती एवं बिक्री

10 दिन - मधुमक्खी पालन

10 दिन - मशरूम खेती

13 दिन - सीसीटीवी कैमरा

30 दिन - मोबाइल बनाना :

30 दिन -ब्यूटी पार्लर

30 दिन - एलएमवी चालक

30 दिन - बिजली मोटर मरम्मत

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021