भागलपुर। भागलपुर जंक्शन को मॉर्डन बनाया जाएगा। यहां के यात्रियों को महानगरों के मल्टीसिटी स्टेशन की तरह सुविधाएं मिलेंगी। स्टेशन भवन का स्वरूप बदलेगा। सर्कुलेटिंग एरिया में टिकट काउंटर और प्रतीक्षालय बनेगा। स्टेशन भवन और प्लेटफॉर्म के टाइल्स बदले जाएंगे। विकास कार्यो में पैसे की कमी नहीं होगी। इसके बाद यह जंक्शन पूर्व रेलवे और मालदा मंडल के बेहतरीन स्टेशनों में शामिल हो जाएगा।

ये बातें मालदा रेल मंडल की प्रबंधक (डीआरएम) तन्नू चंद्रा ने कही। पद्भार ग्रहण करने के बाद वह बुधवार को पहली बार भागलपुर आई थीं। उन्होंने स्टेशन का निरीक्षण किया और कई आवश्यक निर्देश दिए।

एयरपोर्ट की तर्ज पर होगा विकसित

डीआरएम ने कहा कि स्टेशन को एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित करने की योजना है। इसे स्मार्ट लुक दिया जाएगा। इसके लिए प्लेटफॉर्म के बाहर (सर्कुलेटिंग एरिया) प्रतीक्षालय और टिकट काउंटर बनाए जाएंगे। ऐसी व्यवस्था होगी कि ट्रेन से उतरने के बाद यात्री एयरपोर्ट की तरह सीधे बाहर निकल सकें। स्टेशन पर भीड़ न बढ़े। इसके लिए फुट ओवर ब्रिज (एफओबी) की लंबाई बढ़ाई जाएगी। वहीं, दक्षिण की तरफ नए प्रवेश द्वार और टिकट काउंटर का निर्माण होगा।

भागलपुर तक होगा विद्युतीकरण का काम

किऊल से जमालपुर तक विद्युतीकरण का काम जुलाई तक पूरा हो जाएगा। इसके बाद भागलपुर तक काम होगा। रेलवे लाइन दोहरीकरण का काम भी अगले साल मई तक कर लिया जाएगा। इसके अलावा एलएचबी कोच (लिंक हॉफमेन बुश) वाले रैक के रखरखाव के लिए हाइटेक यार्ड का निर्माण होगा।

डीआरएम सुबह दस बजे स्टेशन पहुंची। इसके बाद प्लेटफॉर्म, टिकट काउंटर, पार्सल ऑफिस, रेलवे अस्पताल, आरपीएफ पोस्ट, रेलवे कॉलोनी, रेल भोजनालय का निरीक्षण करने के बाद यार्ड गई। वहां ट्रेनों की सफाई से लेकर मेंटनेंस तक का कार्य देखा। साधारण टिकट काउंटर पर तैनात महिला बुकिंग क्लर्क से कार्यो के बारे में जानकारी ली। शौचालय के बारे में पूछा। नहीं होने का जवाब मिलने पर शौचालय निर्माण का निर्देश दिया। इस दौरान सीनियर डीएसीएम सुबोध कुमार लाल, सीनियर डीइएन को-ऑर्डिनेशन एसके सिंह, स्टेशन प्रबंधक ओंकार प्रसाद, एरिया ऑफिसर आलोक कुमार, सीआइटी आरएन पासवान, यार्ड मास्टर पीके सिंह सहित कई अधिकारी मौजूद थे।

एक जगह गंदगी देख भड़कीं

ऐसे तो डीआरएम के आगमन पर स्टेशन के प्लेटफॉर्म को चकाचक किया कर दिया गया था। लेकिन कुछ जगह कर्मी सफाई करना भूल गए थे। पार्सल ऑफिस के पास पेयजल बूथ के पास गंदगी देख डीआरएम भड़क गई। पाइप से पानी गिरता देख तुरंत सुधार करने का निर्देश दिया।

बढ़ेंगी यात्री सुविधाएं

स्टेशन परिसर में दस वेंडिंग मशीन लगाए जाएंगे। यात्रियों की सुविधा के लिए प्लेटफॉर्म संख्या एक पर स्वचालित सीढ़ी (एक्सकेलेटर) लगाने का काम दो से तीन महीने में पूरा कर लिया जाएगा।

गुड्स यार्ड का निर्माण करीब-करीब पूरा

टेकानी में गुड्स यार्ड का निर्माण अंतिम चरण में है। एक से दो महीने के अंदर यह बनकर तैयार हो जाएगा। इसके बाद माल के लोडिंग और अनलोडिंग का काम यहीं से होगा। इसके बनने के बाद भागलपुर में तीन नई वॉशिग पीट लाइन बनाया जाएगा।

---------------------

इनसेट :-

रफ्तार के लिए बोर्ड से मागी गई स्वीकृति

साहिबगंज-किउल रेलखंड पर 130 किलोमीटर की रफ्तार से ट्रेन चलाने के लिए बोर्ड से स्वीकृति मागी गई है। मंडल में इस रफ्तार से ट्रेन परिचालन के लिए ट्रैक बनाई जा चुकी है। साहिबगंज से कहलगाव तक डबल लाइन चालू कर दी गई है। कहलगाव-भागलपुर और जमालपुर-रतनपुर के बीच दोहरीकरण का काम बचा हुआ है। काम पूरा होने के बाद ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जाएगी।

2019 तक बन जाएगा नया सुरंग

भागलपुर-जमालपुर के बीच बने पुराने सुरंग के समानांतर नए सुरंग का निर्माण कराया जाएगा। 800 मीटर लंबी सुरंग बनाने का काम शुरू हो चुका है। 2019 के मार्च तक बनकर तैयार हो जाएगा।

By Jagran