भागलपुर। जिला पदाधिकारी प्रणव कुमार ने सरकारी जमीन से अतिक्रमण हटाने का निर्देश अंचल अधिकारियों को दिया है। डीएम ने कहा है कि आरटीपीएस में आवेदनों के ससमय निष्पादन नहीं होने की स्थिति एक्सपायरी पर संबंधित सीओ, आईटी सहायक और कार्यपालक सहायक का वेतन रोका जाएगा।

डीएम मंगलवार को डीआरडीए सभागार में आंतरिक संसाधन, अतिक्रमणवाद, दाखिल खारिज सहित राजस्व मामलों की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में कहलगांव के सीओ ने कहा कि आइटीआइ के निर्माण के लिए जमीन का सीमांकन कर लिया गया है, इसके बावजूद भू-धारी अनाधिकृत तौर पर ट्रैक्टर से जमीन जोत रहे हैं। डीएम ने भू-धारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया। बैठक में अनुपस्थित पदाधिकारियों का एक दिन का वेतन काटने और स्पष्टीकरण पूछने का निर्देश दिया गया। बाढ़ की समीक्षा में डीएम ने कहा कि जहां पानी आ गया है, वहां राहत और बचाव कार्य तेज किया जाएगा। आवागमन की व्यवस्था के लिए नावों का परिचालन करने, कैम्प लगाने और पशुचारा दवा की व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया। कहा कि अभियान बसेरा में सभी सीओ शीघ्र एसडीओ और डीसीएलआर को प्रस्ताव दें। सीओ को निर्देश दिया गया कि चालान द्वारा जमा राशि का सत्यापन कोषागार से करा लें। आईटी मैनेजर को जगदीशपुर में उत्पन्न समस्या का समाधान करने को कहा। नीलाम पत्र वाद में किसी भी पदाधिकारी की वसूली तीन फीसद नहीं रहने पर असंतोष प्रकट किया गया। इस माह में इसमें प्रगति लाने का निर्देश दिया गया। डीएम ने नियमित तौर पर कोर्ट करने का भी निर्देश दिया। वाणिज्यकर, निबंधन, परिवहन, खनन, मत्स्य विभागों की भी समीक्षा की गई। राजस्व वसूली में तेजी लाने का निर्देश दिया गया। बैठक में एडीएम राजेश झा राजा, भू अर्जन पदाधिकारी सुरेंद्र कुमार, एसडीओ सहित सभी सीओ उपस्थित थे।

Posted By: Jagran