संवाद सहयोगी, बौंसी (बांका): शुक्रवार को ऐतिहासिक मंदार की तलहटी में पापहरणी तालाब घाट पर देव दिवाली का आयोजन करेगा। दैनिक जागरण के इस आयोजन में स्थानीय जनप्रतिनिधि, गणमान्य, श्रद्धालु, छात्र-छात्रा सहित अन्य लोग शामिल होकर दीपोत्सव मनाएंगें। आयोजन को लेकर श्रद्धालुओं में उत्साह का माहौल है। शुक्रवार शाम चार बजे दीपोत्सव का कार्यक्रम भव्य रूप से किया जाएगा। इस दौरान महाआरती का भी आयोजन होगा।

इस आयोजन को लेकर सभी तैयारी पूरी कर ली गई है। दीप की रोशनी से आज मंदार फिर जगमग होगा। जानकारी हो कि दैनिक जागरण आज विभिन्न शहरों के प्रसिद्ध पूजा घाट, गंगा घाट पर देव दिवाली का त्योहार मना रहा है। जिसमें श्रद्धालु बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं। 

भागलपुर में देव दीपावली 

  • देव दीपावली दैनिक जागरण के साथ
  • सुल्तानगंज, कहलगांव और बरारी घाट भागलपुर में
  • शाम पांच बजे से, जरूर आएं
  • जलाएं आस्था का एक दीप
  • महा गंगा आरती का भव्य आयोजन
  • आपकी गरिमामयी उपस्थिति अनिवार्य

मुंगेर में देव दीपावली

बिहार में भी देव दीपावली की शुरूआत की जा चुकी है। दैनिक जागरण के प्रयासों से इसे पूर्ण किया जाएगा। आप सभी इस पावन आयोजन में जरूर शामिल हो। बात करें मुंगेर की तो यहां  ऐतिहासिक कष्टहरणी घाट पर शुक्रवार की शाम पांच बजे योगनगरी वासी दैनिक जागरण के साथ मिलकर देव दीपावली मनाएंगे। कार्तिक पूर्णिमा के दिन हर कोई दीप उत्सव में शामिल होंगे। दैनिक के छोटे से प्रयास का पूरे शहरवासियों का सहयोग मिला है। देव दीपावली से न सिर्फ हमारी संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा, बल्कि इस पर्व के लोगों का जुड़ाव भी बढ़ेगा।

श्रद्धालुओं ने सुनी श्रीकृष्ण-रुक्मणी विवाह की प्रसंग

बांका के बौंसी प्रखंड के निमा जोरारपुर गांव में काली मंदिर परिसर में सात दिवसीय भागवत कथा के छठें दिन गुरुवार को कथावाचक ने श्रीकृष्ण- रुक्मणी विवाह का प्रसंग सुनाया। भक्तिमय संगीत के बीच श्रोता प्रसंग सुनकर भाव विभोर हो गए। इस दौरान श्री कृष्ण रुक्मणी विवाह की झांकी देखकर श्रद्धालु झूमने लगे। कथावाचक भागवत शरण महाराज ने श्रद्धालुओं को श्री कृष्ण -रुक्मणी विवाह प्रसंग विस्तार पूर्वक सुनाया। आयोजन को सफल बनाने में ग्रामीण सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। भागवत कथा के अंतिम दिन आज शुक्रवार को हवन का कार्यक्रम किया जाएगा।

Edited By: Shivam Bajpai