भागलपुर [अमरेन्द्र कुमार तिवारी]। पर्यावरण के प्रति लोगों को संजीदा बनाने की जरुरत है। इसकी को ध्यान में रखते हुए हमारी सरकार ने बाल्मिकी नगर के बाद भागलपुर में गंगा में नौका विहार के माध्यम से इको टूरिज्म का कार्यक्रम प्रारंभ किया है। उक्त बातें मंगलवार को मुसहरी घाट से इको टूरिज्म का शुभारंभ करते हुए राज्य के डिप्टी सीएम सह पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग के मंत्री सुशील कुमार मोदी ने कही।

उन्होंने कहा भागलपुर के लोगों से अहवान किया कि वे बाल-बच्चे और परिवार के साथ गंगा में नौका विहार के लिए जाएं। गंगा के गोद की प्राकृतिक सुंदरता के साथ राष्ट्रीय जलीय जीव डॉल्फिन सहित इस क्षेत्र में जाड़े के मौसम में आने वाले विभिन्न प्रकार के विदेशी प्रवासी पक्षियों का अवलोकन करे। बच्चों को बताएं कि पर्यावरण की सुरक्षा में इन जीव-जंतुओं का क्या महत्व है। ताकि हमारी आने वाली पीढ़ी पर्यावरण के प्रति सजग हो सकें। उन्होंने कहा कि पहले मछुआरे भाई डॉल्फिन को मछली समझ कर मार देते थे अब उनमें भी जागरूकता आई है। उसी तरह कदवा दियारा में गरुड़ों ने प्रजनन के लिए अपना आश्रय बनाया था। सर्वेक्षण के बाद 16 घोसलों में 58 गरुड पाए गए थे। बहरहाल लोगों की जागरूकता से अभी वहां 125 घोसलों में 550 गरुड होने का अनुमान है। बीमार गरुड़ के इलाज के लिए सुंदरवन में सेवा सह पुनर्वास केंद्र स्थापित किया गया है।

भागलपुर में बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी

तीसरा इको टूरिज्म भीम बांध में होगी शुरू

डिप्टी सीएम में ने कहा कि पहले बाघ सहित अन्य जंगली जानवरों को देखने के लिए बाल्मिकीनगर टाइगर रिजर्व तथा गंगा में डॉल्फिन सहित जैव विविधता एवं प्रवासी पक्षियों को नयनाभिराम के लिए भागलपुर में नौका विहार जैसी इको टूरिज्म की शुरू की गई है। अब मुंगेर के भीम बांध में भी दिसंबर के अंतिम सप्ताह में इको टूरिज्म की व्यवस्था चालू किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वहां मनोरम प्राकृति छटा के बीच गर्म पानी के तीन तालाब है। पहले लोग वहां पिकनिक मनाने जाते थे, पर नक्सली गतिविधियों के बढ़ जाने के बाद लोगों ने जाना बंद कर दिया था। अब वहां की स्थिति सामान्य हुई है। हमारी सरकार वहां भी इको टूरिज्म को विकसित करने की तैयारी में है। वहां पुरुष, महिला एवं बच्चों के लिए अलग-अलग स्वीमिंग की व्यवस्था होगी। ताकि लोग वहां के प्राकृतिक सुंदरता के साथ स्वीमिंग का भी लाभ उठा पाएं।

सुल्तानगंज से कहलगांव तक भी होगी नौका विहार की व्यवस्था

बहरहाल गंगा में इको टूरिज्म की व्यवस्था मुसहरी घाट से शंकरपुर दियारा तक के लिए किया गया। इसका आनंद लेने वाले लोगों को प्रति व्यक्ति 50 रुपये एवं प्रति बच्चा 25 रुपये का टिकट लेना होगा। तभी वे गंगा में जैव विविधता की जानकारी के लिए दो घंटे का नौका विहार कर पाएंगे। डिप्टी सीएम ने कहा कि अगर कोई पूरे बोट बुक कर कहलगांव बटेश्वर स्थान या सुल्तालगंज अजगबीनाथ जाना चाहेंगे तो इसकी भी व्यवस्था शुरू की जाएगी।

भागलपुर में बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी

जिला को ओडीएफ नहीं होने पर जताई नाराजगी

डिप्टी सीएम ने अब तक भागलपुर जिला को ओडीएफ घोषित नहीं होने पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा राज्य के 12 जिले ओडीएफ घोषित हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि उम्मीद है दो से ढ़ाई माह में यह जिला भी ओडीएफ हो जाएगा। डिप्टी सीएम ने कहा कि आजादी के 75 वर्ष बाद भी हमारी माता-बहने शौच के लिए अंधेरे का इंतजार करती है। इसकी चिंता करते हुए देश के पीएम ने स्वच्छता के लिए हर घर में शौचालय बनवाने की योजना बनाई। इसके लिए सरकार 12 हजार रुपये दे रही है।

लोगों को पढ़ाया स्वच्छता का पाठ

डिप्टी सीएम ने लोगों को स्वच्छता का भी पाठ पढ़ाया। उन्होंने कहा कि एक दिन छठ के पावन मौके पर हम नदियों से लेकर सड़कों तक को स्वच्छ बनाते हैं। आज संकल्प लें की कहीं गंदगी नहीं फैलाएंगे। शहर का साफ और स्वच्छ बनाकर रखेंगे। यहां निगम की मेयर भी बैठी हुई हैं बावजूद इसके स्वच्छता बनाए रखना हम सबकी जिम्मेदारी है।

मार्च के पहले शुरू होगा बाइपास

डिप्टी सीएम ने कहा लंबे समय से बन रहे भागलपुर बन रहे बाइपास के निर्माण कार्य में तेजी आई है। यह मार्च में बन कर तैयार हो जाएगा। उन्होंने इसके निर्माण कार्य की खुद डीएम को अपने स्तर से मॉनिटङ्क्षरग करने का भी निर्देश दिए।

पुनर्जीवित होगा विक्रमशिला विश्वविद्यालय का इतिहास

उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि विक्रमशिला विश्वविद्यालय का गौरवशाली अतीत पुन स्थापित होगा। वहां केंद्रीय विश्वविद्यालय की स्थापना के लिए 200 एकड़ जमीन जिला प्रशासन ने चिन्हित कर सरकार को रिपोर्ट सौंप दी है।

1,900 करोड़ से बने विक्रमशिला के समानांतर पुल

जल्द भागलपुर में विक्रमशिला पुल के 50 मीटर दूरी पर नया समानांतर पुल का निर्माण होगा। जिससे शहर वासियों को जाम से मुक्ति मिल सके। डिप्टी सीएम ने कहा कि नया बनने वाले समानांतर पुल के निर्माण पर 1,900 करोड़ भारत सरकार खर्च करेगी। वहीं इसके लिए 52 एकड़ जमीन अधिग्रहण के लिए राज्य सरकार 58 करोड़ खर्च करेगी। इसका डीपीआर भारत सरकार को स्वीकृति के लिए भेज दिया गया है। पिछले महीन पीएम कार्यालय में हुई बैठक में भी समानांतर पुल के निर्माण पर खूब चर्चा हुई है।

इसके पूर्व डिप्टी सीएम ने दीप प्रज्ज्वलित कर एवं भागलपुर में इको टूरिज्म का उद्घाटन किया। उद्घाटन सत्र को संबोधित करने वालों में प्रधान मुख्य वन संरक्षक डॉ. डीके शुक्ला, मेयर सीमा साह, जिप अध्यक्ष टुनटुन साह एवं एमएलसी डॉ. एनके यादव शामिल थे। कार्यक्रम का संचालन आकाशवाणी भागलपुर के वरीय उद्घोषक डॉ. विजय कुमार मिश्र कर रहे थे। जबकि धन्यवाद ज्ञापन की औपचारिकता डीएफओ एस सुधाकर ने पूरी की। इसके बाद डिप्टी सीएम ने जिला प्रशासन एवं पर्यावरण विभाग के अधिकारियों के साथ मोटरबोट से गंगा में शंकरपुर दियारा तक नौका विहार किया। इस दौरान उन्होंने गंगा में डॉल्फिन सहित दियारा में कई प्रवासी पक्षियों का अवलोकन किया।

वहां से लौटने के बाद वे टीएनबी कॉलेज में बने टिश्यू कल्चर लैब का निरीक्षण किया। पुन सुंदरवन के गरुड़ सेवा केंद्र सह पुनर्वास केंद्र से पांच स्वस्थ गरुड़ को उसके प्राकृतिक क्षेत्र के लिए मुक्त किया। जिसे कदवा दियारा में ले जाकर छोड़ा गया।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस