कटिहार [नीरज कुमार]। कोरोना संकट के कारण उत्पन्न स्थिति तथा लॉकडाउन को लेकर मुख्यमंत्री द्वारा सोमवार को मंत्रिमंडलीय सहयोगी व उच्चाधिकारियों की वर्चुअल मीटिंग में उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद को पटना जाने के दौरान नवगछिया के समीप एक पेट्रोल पंप पर बैठकर वीडियो कांफ्रेंसिंग में शामिल होना पड़ा। डिप्टी सीएम अपने दो दिवसीय दौरे पर कटिहार पहुंचे थे। सोमवार को अपराह्न चार बजे वे मिरचाईबाड़ी स्थित अपने आवास से सड़क मार्ग से पटना के लिए रवाना हुए। इस बीच वर्चुअल मीटिंग के लिए नेटवर्क डिस्टर्ब होने के कारण उपमुख्यमंत्री से सीधा संपर्क नहीं हो पा रहा था।

मुख्यमंत्री सचिवालय से जिलाधिकारी से इस संबंध में संपर्क किया गया। डीएम ने उपमुख्यमंत्री के पटना के लिए रवाना होने की बात कही। जिलाधिकारी ने स्वयं अपने मोबाइल से उपमुख्यंत्री से संपर्क करने की कोशिश की। डीएम व सदर एसडीओ ने वाट्सएप के जरिए भी संवाद कायम करने की कोशिश की। तमाम कोशिश के बाद भी उपमुख्यमंत्री से संपर्क स्थापित नहीं हो पा रहा था। बाद में लैंड लाइन से डिप्टी सीएम से बात हो सकी। तब तक उनका कैरिकेड नवगछिया के समीप पहुंच गया था।

एनआइसी से ओटीपी जेनरेट कर उपमुख्यमंत्री को दिया गया। नेटवर्क नहीं मिलने के कारण डिप्टी सीएम को एनएच पर आगे-पीछे भी जाना पड़ा। एक पेट्रोल पंप के समीप नेटवर्क मिलने पर उपमुख्यमंत्री वहीं बैठ वीसी में शामिल हुए। डिप्टी सीएम के एक करीबी ने बताया कि कुछ देर बाद ही नेटवर्क फिर धोखा दे गया। समीप के एक चाय दुकान के पास नेटवर्क कवरेज में आने के बाद डिप्टी सीएम वीसी से जुड़े। करीब एक घंटे तक वीडियो कांफ्रेंसिंग के बाद उपमुख्यमंत्री पटना के लिए रवाना हुए। कोरोना व लॉकडाउन को लेकर महत्वपूर्ण बैठक होने के कारण उपमुख्यमंत्री से संपर्क नहीं हो पाने के कारण प्रशासनिक महकमे में भी कुछ देर के लिए हलचल मची रही। प्रशासनिक अधिकारी भी इस समस्‍या को लेकर चिंतित दिखे।