भागलपुर। एनएच-80 को फिलहाल चलने लायक बनाया जाएगा। जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने एनएच के कार्यपालक अभियंता को सड़क को तत्काल चलने लायक बनाने का आदेश दिया है। जिलाधिकारी ने बताया कि एनएच-80 के निर्माण को लेकर प्रक्रिया चल रही है। सड़क बनने में पांच से छह माह लग जाएंगे। इसके पहले सड़क को चलने लायक बनाने के लिए कहा गया है। सड़क का फिलहाल कालीकरण नहीं होगा।

....................

जानलेवा सड़क के कारण कई लोग गंवा चुके हैं अपनी जिंदगी भागलपुर से मिर्जाचौकी के बीच एनएच-80 सिर्फ नाम का बचा है। कुछ स्थानों पर कंक्रीट व अलकतरा दिखाई देने से सड़क की पहचान हो रही है। सड़क मरम्मत लायक भी नहीं बची है। बड़े-बड़े गढ्डे उभर आए हैं। हर बार सड़क की मरम्मत के नाम पर औपचारिकताएं पूरी की जाती हैं। सड़क चलने लायक बनाया जाता है और चंद दिनों में ही गिट्टी व अलकतरा धूल में मिल जाता है। इस साल भी मरम्मत के नाम पर कोरम पूरा किया गया। पिछले 10 वर्षो में जर्जर सड़क के कारण अबतक कई लोग दुर्घटनाग्रस्त होकर अपनी जिंदगी गंवा चुके हैं। कई दिव्यांग हो चुके हैं तो कितने लोगों का परिवार उजड़ गया। एनएच-80 पर लूटपाट की घटनाओं में वृद्धि हुई है। कई गाड़ी मालिक लूट के शिकार हुए हैं। ड्राइवरों के साथ मारपीट हुई है।

.....................

रास्ते में दम तोड़ दे रहे मरीज भागलपुर से कहलगांव की दूरी लगभग 30 किलोमीटर है। सड़क ठीक रहने पर आधे से एक घंटे में भागलपुर से कहलगांव पहुंचा जा सकता है। लेकिन जाम लगने पर तीन से चार घंटे का समय लग रहा है। इस बीच इलाज के अभाव में अबतक कई मरीज दम तोड़ चुके हैं।

....................

दो चरणों में होगा सड़क का निर्माण मुंगेर के घोरघट से झारखंड के मिर्जाचौकी के बीच 120 किलोमीटर एनएच-80 का नए सिरे से निर्माण होगा। सड़क को दस मीटर चौड़ा किया जाएगा। सड़क का निर्माण दो चरणों में होगा। पहले चरण में जीरोमाइल से मिर्जाचौकी और दूसरे चरण में मुंगेर से नाथनगर स्थाई बाइपास मोड़ तक सड़क बनेगी। कुछ जगहों पर सड़क फोरलेन भी बनेगी। निर्माण राशि 971 करोड़ होगी।

Edited By: Jagran