सहरसा। सिमरी बख्तियापुर थाना क्षेत्र के पटेल नगर स्थित संत जेवियर्स स्कूल के हास्टल में रहने वाले एलकेजी के छात्र 06 वर्षीय हिमांशु कुमार नामक छात्र की मौत गुरुवार की रात संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई। मौत की सूचना मिलने पर शुक्रवार की सुबह पहुंचे परिजनों ने प्रबंधन पर बच्चे का इलाज नहीं कराने का आरोप लगाते हुए स्कूल में हंगामा किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। हालांकि बाद में पुलिस को दिए आवेदन में बच्चे पिता ने बच्चे के अक्सर बीमार रहने की बात कहते हुए स्कूल प्रबंधन से कोई गिला-शिकवा नहीं रहने की बात कही है।

जानकारी अनुसार खगड़िया जिला के मानसी थाना क्षेत्र के ¨सघरसामा गांव निवासी रंजीत चौधरी ने अपने पुत्र का नामांकन तीन महीने पर स्कूल में करवाया था। इसके बाद से हिमांशु हास्टल में रह रहा था। आम दिनों की तरह सभी बच्चे रात को खाना खाकर अपने-अपने बिस्तर पर गए। लेकिन शुक्रवार की सुबह छह बजे तक हिमांशु अपने बिस्तर से नहीं उठा। इसके बाद शिक्षक पहुंचे और हिमांशु के बगल में रहने वाले छात्र से पूछताछ की। उसने बताया कि गुरूवार की रात्रि में हिमांशु पेट के दर्द से कराह रहा था। शुक्रवार की सुबह विद्यालय के शिक्षक राजेश कुमार ने हिमांशु के पिता को तबीयत खराब रहने की सूचना दी। जिसके बाद बच्चे के पिता रंजीत चौधरी एवं अपने भाई के साथ स्कूल पहुंचे। जहां आम अन्य दिनों की भांति ही विद्यालय संचालित था। जब अभिभावक अपने बच्चे को देखने गए तो बच्चा बेड पर लेटा मिला हालांकि बच्चे की मृत्यु हो चुकी थी। अभिभावक द्वारा हल्ला करने पर आसपास के लोग एकत्रित हुए और विद्यालय प्रबंधन के विरुद्ध लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। काफी देर तक मामले को लेकर विद्यालय में खींचातान चलती रही। उसके पिता ने बताया कि गुरूवार की रात बच्चे के पेट में दर्द हुआ। लेकिन स्कूल प्रबंधन ने कोई संज्ञान नहीं लिया और बच्चे की मौत हो गयी।

---

आरोप से मुकर गया पिता

----

अपने जिगर के टुकड़े के शव को कंधे पर लेकर पिता स्कूल परिसर में घूमता रहा। स्कूल प्रबंधन की ओर से गाड़ी तक का इंतजाम नहीं किया गया। काफी देर बाद प्राइवेट टेंपू लाकर पोस्टमार्टम हेतु सदर अस्पताल भेजा गया। इस बाबत थाना प्रभारी रणबीर कुमार ने बताया कि मृतक के पिता द्वारा आवेदन दिया गया है। उसमें बच्चे के अक्सर बीमार रहने की बात कही गयी है। साथ उसने स्कूल प्रबंधन से किसी प्रकार की कोई शिकायत नहीं होने की बात आवेदन में कही है।

---

कहते हैं डायरेक्टर

इस संबंध में संत जेवियर्स के डायरेक्टर मनोज कुमार ¨सह ने कहा कि विद्यालय का विधि व्यवस्था ठीक है। बच्चे की तबीयत अचानक बिगड़ जाने के कारण मौत हुई है। जिसे छात्र के अभिभावक भी मानते हैं।

Posted By: Jagran