जमुई: चंद्रमंडी थाना क्षेत्र के कर्णगढ गांव में दुर्गा पूजा के अवसर पर अपनी मां के साथ तालाब में नहाने गए एक बेटी की मौत हो गई। जबकि बेटा गंभीर रूप से घायल है। कर्णगढ़ गांव निवासी एवं चाय दुकानदार पिंटू झा की एक बेटी एवं एक बेटा गुरुवार को दिन के 10:00 बजे के करीब अपनी मां के घर के समीप तालाब में नहाने के लिए गए हुए थे । इसी दौरान वे दोनों तालाब में नहाने उतरे और डूबने लगे। मां ने बचाने का काफी प्रयास किया लेकिन वह सफल नहीं हो सकी। 

मां की चीख-पुकार सुन दौड़े ग्रामीण

जिसके बाद मां ने शोर मचाया। शोर सुनकर ग्रामीण दौड़े और दोनों बच्चों को निकालकर चकाई अस्पताल में भर्ती कराया । जहां चिकित्सकों ने गुनगुन कुमारी (12 वर्ष) को मृत घोषित कर दिया। पुत्र सिद्धार्थ कुमार को बेहतर इलाज के लिए देवघर रेफर कर दिया। देवघर में सिद्धार्थ का इलाज किया जा रहा है। इस घटना से घर वालों में मातम का माहौल है।

खबर विस्तार से

चंद्रमंडीह थाना क्षेत्र के कर्णगढ़ गांव में दुर्गा पूजा को लेकर मां के साथ तालाब में नहाने गए एक बेटी की मौत हो गई तो बेटा गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती है। बताया जाता है कि कर्णगढ़ बाजार निवासी चाय दुकानदार पिंटू झा की बेटी गुनगुन कुमारी (12) एवं एक बेटा सिद्धार्थ (10) गुरुवार को दिन के दस बजे के करीब अपनी मां संगीता देवी के साथ घर के समीप नवका तालाब में नहाने के लिए गए थे। मां नहा रही थी तभी गुनगुन कुमारी नहाने के लिए पानी में उतरी और गहरे पानी में चली गई और मदद की गुहार लगाने लगी। यह देख घाट किनारे बैठा भाई सिद्धार्थ भी पानी में उतर पड़ा।

लेकिन अधिक पानी रहने के कारण दोनों भाई- बहन तालाब में डूब गए। वहीं तालाब पर स्नान करी रही एक दूसरी महिला ने दोनों बच्चो को डूबते देख बचाने का प्रयास की लेकिन पानी अधिक रहने के कारण वे बचाने में असफल रही। तब वह जोर-जोर से चिल्लाकर आसपास के ग्रामीणों को इसकी सूचना दी। सूचना पर पहुंचे ग्रामीणों ने दोनों बच्चों को पानी से निकाला। तब तक गुनगुन कुमारी की मौत हो चुकी थी जबकि सिद्धार्थ की ज्यादा पानी पीने के कारण हालत बिगड़ गई थी।

आनन-फानन में चंद्रमंडी पुलिस ने सिद्धार्थ को इलाज के लिए रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से उसे बेहतर इलाज के लिए देवघर सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया है। इधर, गुनगुन की मौत से पूरे गांव में मातम का माहौल है। दुर्गा पूजा की खुशी गम में बदल गई है। गुनगुन के दादा गोपाल झा, मां संगीता देवी, पिता पिंटू झा का रो रो कर बुरा हाल था।

Edited By: Prashant Kumar pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट