बांका [जेएनएन]। नवादा इलाके में बालू माफिया की समानांतर सरकार चल रही है। बालू माफिया की दादागिरी बामदेव-नवादा सड़क पर दिखी। पुलिस ने अवैध बालू लदी करीब 15 ट्रैक्टर को जब्त कर रानीटीकर गांव के समीप मैदान में रखा था। इसी बीच बालू माफिया ने एकजुट होकर पुलिस के सामने दबंगई कर सभी जब्त वाहन जबरन साथ लेकर चलते बने। पुलिस मूकदर्शक बनकर देखती रह गई। नवादा पुलिस ने इसकी सूचना इंस्पेक्टर के अलावा रजौन और धनकुंड थाना को भी दी। लेकिन, सभी ट्रैक्टर एकजुट होकर एक साथ ग्रामीण सड़क से निकल गए। बेखौफ बालू माफिया के समक्ष पुलिसिया कार्रवाई पूरी तरह बौनी बनकर रह गई।

जानकारी के अनुसार पुलिस ने सड़क पर जांच कर 15 ट्रैक्टर पकड़ा। सबसे पर अवैध बालू लदी थी। ट्रैक्टर पकडऩे की सूचना पर सभी लाइनर, मालिक और माफिया तत्व जुट गए। दर्जन भर बाइक सवार माफिया ने वहां पुलिस की फजीहत शुरू कर दी। पुलिस बल की संख्या कम रहने के कारण माफिया भारी पड़ गए। फिर सभी एक साथ ट्रैक्टर स्टार्ट कर चलते बने। रजौन और धनकुंड की पुलिस पहुंचने तक सभी भागने में सफल रहे। इस संबंध में थानेदार से पक्ष लेने का प्रयास किया गया। बताया गया कि तीनों थानेदार और इंस्पेक्टर इस दौरान बांका में अपराध गोष्ठी में थे। इस कारण पुलिस की घेराबंदी सफल नहीं हो सकी। बहरहाल, पुलिस और माफिया के इसका पूरा वीडियो वायरल हो गया है।

एसपी अरविन्द कुमार गुप्ता ने कहा कि नवादा सहायक थाना की मोबाइल पुलिस ने 15 ट्रैक्टर पकड़े थे। पुलिस कब्जे से वाहन लेकर भागना गंभीर मामला है। पुलिस को इसकी जांच पर सभी बालू माफिया को चिह्नित करने को कहा गया है। जिला भर में अवैध बालू के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा।

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप