भागलपुर [आलोक कुमार मिश्रा]। कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए देश भर में लॉकडाउन किया गया है। लोगों से घर में ही रहने की अपील की गई है। इस स्थिति में डाक विभाग ने घर-घर तक राशन और दवाइयां पहुंचाने की तैयारी में है। इसके लिए डाक विभाग के सचिव ने सभी विभागों के सचिव को पत्र लिखकर यह सेवा देने की इच्छा जताई है।

डाक विभाग के सचिव प्रदीप कुमार विसोई ने बिहार सहित देश के सभी विभाग के सचिव को पत्र लिखा है कि डाक विभाग का काफी बड़ा नेटवर्क है। पूरे देश में एक लाख 57 हजार डाकघर हैं। डाक विभाग सेवा देने के लिए तत्पर है। शहर से लेकर गांव तक चावल और आटा से लेकर आवश्यक सामग्रियां घर तक पहुंचाने के लिए विभाग तैयार है।

विभागीय अधिकारियों के अनुसार भागलपुर डिविजन (भागलपुर व बांका) में प्रधान व मुख्य डाकघर समेत कुल 427 डाकघर हैं। पदाधिकारी सहित 1100 कर्मी हैं। इनमें भागलपुर जिले में 340 डाकघर व 835 कर्मी हैं। सचिव ने भागलपुर सहित सभी डाकघरों के अधिकारियों को सेवा के लिए तैयार रहने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा है कि सरकार की हरी झंडी मिलते ही होम डिलीवरी की कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी।

बैंक खाताधारियों के लिए भी निकासी की सुविधा

बैंकों के खाताधारियों को डाकघर में निकासी की भी सुविधा डाक विभाग दे रहा है। जिन खाताधारियों के खाता आधारकार्ड से लिंक है वे डाकघर से राशि की निकासी कर सकते हैं। यह सुविधा सभी बैंकों के खाताधारियों के लिए है। निकासी के लिए आधारकार्ड और मोबाइल साथ ले जाना जरूरी है। शहरी क्षेत्र के डाकघरों से दस हजार और ग्रामीण इलाकों के डाकघरों में पांच हजार रुपये निकासी की सुविधा दी गई है।

सचिव के निर्देशानुसार तैयारी में जुट गए हैं। सरकार की हरी झंडी मिलने पर होम डिलीवरी शुरू की जाएगी। हालांकि अब तक होम डिलीवरी के शुल्क को लेकर दिशा-निर्देश नहीं मिला है। सभी बैंकों के खाताधारियों को डाकघर से निकासी की विशेष सुविधा दी जा रही है। कार्यालय समय तक किसी भी समय निकासी कर सकते हैं। -एसके सुमन, डाकपाल, प्रधान डाकघर भागलपुर।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस