भागलपुर, जेएनएन। Bihar Lockdown Update: बिहार में लगे लॉकडाउन के बीच पटना से भागलपुर की 225 किमी की दूरी तीन साथियों ने 32 घंटे में पैदल चलकर पूरा की। रास्ते में पांच जगह नाश्ता किए, आराम भी किया। फिर मंजिल की तरफ उनके कदम बढ़ते गए। सभी शुक्रवार की सुबह आठ बजे पटना से भागलपुर के लिए निकले थे और शनिवार शाम चार बजे करीब पहुंचे। सभी को अभी 22 किमी यात्रा और करनी थी। इसलिए अंतिम पड़ाव पर ककड़ी और भूंजा से भूख मिटाई। 20 मिनट आराम कर घर के लिए चल दिए।

पैदल चलना ही मुनासिब समझा

दरअसल, सनोखर के प्रदीप पासवान, सतीश पासवान और राजेश पासवान पटना के पत्रकार नगर मोहल्ले में रहता है। सभी राज मिस्त्री का काम करते हैं। अभी दानापुर के नौबतपुर में काम कर रहे थे। लॉकडाउन की वजह से काम बंद हो गया। अब इन लोगों के पास आर्थिक संकट हो गया। रेलवे स्टेशन गए, ट्रेन नहीं थी। बस स्टैंड में बसें नहीं मिली। अंत में तीनों पैदल ही घर पहुंचना मुनासिब समझा। इनके पास 1700 रुपये थे। सभी शुक्रवार की सुबह चल दिए।  

बड़हिया में पहला विश्राम, मंदिर में कटी रात

तीनों मजदूरों ने बताया कि बेग में पानी की बोतल में ग्लूकोज मिला लिए। इसके बाद चल दिए। रास्ते में बाजार बंद था। कुछ जगह पर दुकानें खुली थी तो वहां चूड़ा और नमकीन (मिक्चर)खरीदे। रात नौ बजे बड़हिया पहुंचे। सड़क किनारे के मंदिर में विश्राम किए। प्रशासन की ओर से रात्रि का भोजन कराया गया। शनिवार तड़के निकल गए। 11 बजे मुंगेर पार कर गए थे। मुंगेर में भी प्रशासन की ओर से नाश्ता कराया गया। 

पैदल के अलावा कोई विकल्प नहीं 

मजदूरों ने बताया कि पैदल चलकर पहुंचे हैं। इसके अलावा कोई विकल्प नहीं था। रास्ते में पुलिस जवानों ने पूछताछ भी की। किसी तरह की परेशानी नहीं हुई। भोजन कराया। नाम-पता लिखने के बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने जाने के लिए कहा।

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस