जेएनएन अमरपुर / धोरैया (बांका)। आगामी 20 अप्रैल को दो बड़ी सड़कों का उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे। दोनों सड़कों की लागत लगभग 421 करोड़ रुपये है। इसके साथ ही सड़क चौड़ीकरण में बाधा बने दो बजरंगबली की मूर्ति हटाकर दूसरी जगह मंदिर निर्माण कर स्थापित की जाएगी। इसके लिए प्रशासन की ओर से कवायद तेज कर दी गयी है। सड़कों के निर्माण होने से कई राज्यों की बड़ी आबादी को इसका लाभ मिलेगा। अमरपुर से अकबरनगर तक लगभग तीस किलोमीटर सड़क निर्माण का कार्य लगभग पूरा कर लिया गया है ।

इसको लेकर सड़क निर्माण एजेंसी द्वारा युद्ध स्तर से बांकी बचे सड़क निर्माण कार्य एवं नए पुल - पुलिया का एप्रोच सड़क का निर्माण कार्य किया जा रहा है । संभावना है कि दस दिनों के अंदर बांकी बचे लगभग चार किलोमीटर सड़क का निर्माण कार्य भी पूरा कर लिया जायेगा । 29.55 किलोमीटर सड़क एवं सभी पुल-पुलिया का भी निर्माण 155 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है । इस सड़क के निर्माण हो जाने से झारखंड, पश्चिम बंगाल एवं दक्षिण भारत से उत्तर बिहार एवं अन्य प्रांतों की ओर आने-जाने वाले मालवाहक वाहन को काफी सहूलियत होगा ।

धोरैया: घोघा से सन्हौला होते हुए पंजवारा तक जाने वाली एसएच 84 पथ का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। दो सौ 66 करोड़ की राशि से बनने वाली इस सड़क की लंबाई 43 किलोमीटर चौड़ाई पक्कीकरण दस मीटर है। जो घोघा से चलकर सन्हौला ,धोरैया होते हुए पंजवारा तक जाएगी। इस सड़क के निर्माण होने से अब भागलपुर सहित पूर्णिया, कटिहार, कहलगांव, पीरपैती, साहेबगंज के अलावा झरखंड के अन्य जिले व कोलकाता जाने वाले लोगों को काफी सुविधा होगी। यात्रियों की सुविधा को लेकर धोरैया चांदनी चौक व पंजवारा में बस जंक्सन का भी निर्माण कार्य होना है। जिसकी लागत करीब दस करोड़ है। बिहार स्टेट रोड डवलपमेंट कार्पोरेशन के उपमहाप्रबंधक राज कुमार ने बताया कि उद्घटान की तिथि निर्धारित होते ही सड़क का निर्माण कार्य तेज कर दिया गया है। बताया कि 2.60 करोड़ की लागत से बनने वाले इस पथ में चार बड़ा और तीन दर्जन छोटे पुलिया का निर्माण कार्य करीब करीब पूरा हो चुका है।

दोनों सड़कें क्षेत्र के लिए लाइफलाइन हैं। 20 अप्रैल को दोनों सड़कों का उद्घाटन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा किया जाएगा। प्रशासन की ओर से इसकी तैयारी की जा रही है। शेष कार्यों को युद्धस्तर पर करने का आदेश एजेंसी को दिया गया है। सड़क चौड़ीकरण में बाधक बने दो बजरंगबली की मूर्ति को दूसरी जगह शिफ्ट किया जाएगा। इसके लिए दोनों स्थानों पर भव्य मंदिर का निर्माण कर मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा करायी जाएगी। -सुहर्ष भगत, डीएम, बांका

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021