भागलपुर [जेएनएन]। राजकीय बुनियादी विद्यालय हाजीपुर शाहकुंड के प्रभारी प्रधानाध्यापक पर 10 लाख 94 हजार 760 रुपये गबन का मामला प्रकाश में आया है। मामले में डीपीओ सर्वशिक्षा ने शाहकुंड के बीईओ को पत्र भेजकर 24 घंटे के अंदर प्रभारी प्रधानाध्यापक शंकर पासवान और स्कूल प्रबंध समिति की सचिव डेजी देवी के विरुद्ध गबन का केस दर्ज कराने का निर्देश दिया है।

दरअसल, नवीं कक्षा संचालन के लिए प्रभारी प्रधानाध्यापक को दो अतिरिक्त वर्ग कक्षा निर्माण के लिए उक्त राशि अग्रिम के रूप में 17 सितंबर को दी गई थी। महीने भर बाद 18 अक्टूबर को राज्यस्तरीय समीक्षा बैठक हुई। इसमें निर्देश दिया गया कि जहां मॉडल स्कूल बने हैं वहां नए कमरे का निर्माण नहीं किया जाएगा। निर्देश के तहत 23 अक्टूबर को प्रभारी प्रधानाध्यापक को पत्र जारी कर राशि करने को वापस करने कहा गया। जबाव में प्रभारी प्रधानाध्यापक ने मोबाइल पर कहा था कि बैंक में चेक बुक निकासी के लिए उन्होंने आवेदन दिया है। चेक बुक प्राप्त होते ही बैंक ड्राफ्ट के माध्यम से दो चार दिनों में पूरी राशि वापस कर दी जाएगी। ऐसा हुआ नहीं।

डीपीओ के अनुसार प्रभारी प्रधानाध्यापक ने विद्यालय प्रबंधन समिति की सचिव से छह खाली चेक पर हस्ताक्षर करवा कर पूरी राशि की निकासी कर ली है। जब 28 नवंबर को बैंक का स्टेटमेंट निकाला गया तो खाते से राशि निकाल ली गई थी। डीपीओ सर्वशिक्षा ने एसएसपी, डीएम, डीईओ, डीपीओ स्थापना एवं शाहकुंड के थानाध्यक्ष को भी आवश्यक कार्रवाई के लिए पत्र प्रेषित कर दी है।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस