संवाद सूत्र,पुरैनी (मधेपुरा) : 12 डोज कोरोनारोधी टीका लेने वाले पुरैनी के औराय निवासी ब्रह्मदेव मंडल डर से जमानत लेने थाना नहीं पहुंच रहे हैं। उन्हें इस बात का डर है कि वे थाना आएंगे तो गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पहले ही वे स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से धोखा खा चुके हैं। उनसे धोखे से हस्ताक्षर करवाकर केस दर्ज करा दिया है। यही कारण है कि वे थाना पहुंचकर जमानत लेने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। उन्हें डर है कि कहीं स्वास्थ्य विभाग के वरीय पदाधिकारी की तरह धोखाधड़ी कर पुरैनी पुलिस भी जमानत की बात कह कर उसे गिरफ्तार कर जेल न भेज दे।

मालूम हो कि 12 डोज कोरोनाराधी टीका लेने की बात उजागर होने के बाद मामला सुखियों में रहा। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग के वरीय पदाधिकारी ने अपने विभाग सहित स्वास्थ्य कर्मियों को किरकिरी से बचाने के उद्देश्य से ब्रह्मदेव मंडल से विभाग से कोई शिकायत नहीं रहने की बात लिखवा कर उसके विरूद्ध पुरैनी थाना में केस दर्ज करा दिया। मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी। बदमाशों पकडऩे में सुस्ती दिखाने वाली पुलिस ने इसमें तत्परता दिखाते हुए आधी रात को छापामारी की। गेट तोड़ दिया। जैसा कोई बड़ा अपराधी हो।

बाद में अपनी किरकिरी होता देख वरीय पुलिस पदाधिकारी ने पुरैनी थानाध्यक्ष दीपक चंद्र दास को बुजुर्ग के उम्र को देखते हुए उसे गिरफ्तारी से राहत देने के उद्देश्य से विशेषाधिकार के तहत थाना से ही जमानत देने का निर्देश दिया। उसके बाद पुरैनी थानाध्यक्ष इस प्रयास में हैं कि ब्रह्मदेव मंडल को थाना में उपस्थित करा कर उसे जमानत दे दी जाए। थानाध्यक्ष ने इस बाबत ब्रह्मदेव मंडल के स्वजनों को सूचना भी भिजवाई लेकिन ब्रह्मदेव मंडल का मानना है कि जिस तरह स्वास्थ्य विभाग के वरीय पदाधिकारी द्वारा कोई शिकायत नहीं रहने की बात लिखवा कर बाद में उसके विरूद्ध मामला दर्ज करा दिया गया। उसके प्रकार पुलिस भी कहीं उन्हें झांसे में रखकर थाना बुलवाकर गिरफ्तार कर जेल न भेज दे। ब्रह्मदेव मंडल का कहना है कि पहले थानाध्यक्ष स्थानीय जनप्रतिनिधियों को यह आश्वस्त करे की उन्हें गिरफ्तार नहीं किया जाएगा तभी वह थाना पहुंचकर जमानत लेंगे।

विधायक व पूर्व सांसद का ब्रह्मदेव को मिला साथ

ब्रह्मदेव मंडल पर केस किए जाने को लेकर पूर्व सासंद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव व विधायक प्रो.चंद्रशेखर ने भी ङ्क्षनदा की है। पर्व सासंद ने कहा है कि स्वास्थ्य विभाग अपनी नाकामी छिपाने के लिए बयोवृद्ध ब्रह्मदेव मंडल पर केस दर्ज कराया है। स्वास्थ्य विभाग को अपने कर्मी पर कार्रवाई करनी चाहिए। आखिर आधार कार्ड से उन्होंने इतने अधिक बार टीका कैसे लिया। वहीं पुलिस प्रशाासन द्वारा ब्रह्मदेव मंडल को तंग किया जा रहा है। यह बेहद ङ्क्षनदनीय है। वे पुलिस प्रशासन को आगाह करते हैं कि 84 वर्षीय वृद्ध को तंग करना बंद करें। वहीं विधायक ने केस हटाने की मांग की है। साथ ही कहा है कि इतने अधिक बार कोरोना डोज लेने के बाद भी विभाग को पता नहीं चलना यह उनकी नाकामी को दर्शाता है। अपने कर्मी पर कार्रवाई के बदले ब्रह्मदेव पर ही केस कर दिया गया। उन्हेंने कहा कि टीका से उनके घुटना का दर्द कम हो गया। इसपर शोध होना चाहिए।

Edited By: Shivam Bajpai