सहरसा [जेएनएन]। बिहार में सहरसा में बुधवार को बड़ी नौका दुर्घटना हुई है। वहां कोसी नदी में एक आेवरलोड नाव पलट गई, जिसमें सात लोगों के डूबने की आशंका है। अभी तक दो लोगों के शव बरामद किए जा चुके हैं। 

नदी में पलट गई यात्रियों से भरी नाव

मिली जानकारी के अनुसार सहरसा में कोसी तटबंध के धोबीयाही घाट पर यात्रियों से भरी एक नाव पलट गई। सहरसा के झरबा से नवहट्टा की ओर जा रही इस नाव में स्‍कूली बच्‍चे भी सवार थे। बताया जाता है कि नाव में

करीब दो दर्जन लोग सवार थे। कोसी नदी के बीच में जाने के बाद नाव हवा के थपेड़े को नहीं झेल सकी और पलट गई। देखते-देखते इसमें सवार लोग नदी में डूबने लगे।

आधा दर्जन लोगों के डूबने की आशंका

दुर्घटना के बाद अफरा-तफरी मच गई। तटवर्ती इलाकों में मौजूद ग्रामीणों ने अनेक डूबते लोगों को बचाया। कुछ लोग खुद भी तैरकर बाहर निकल आए। लेकिन सात लोगों का पता नहीं चल सका है। उनके डूबने की आशंका व्‍यक्‍त की जा रही है।

नदी में लापता लोगों की खोज जारी

नदी में लापता लोगों की खोज जारी है। उनमें से दो के शव बरामद किए जा चुके हैं। मृतकों में छतवन  निवासी राजेंद्र पडि‍त की पत्नी कोमल देवी (40) एवं बकुनियां पंचायत के झड़बा निवासी ललन मुखिया की पुत्री पूनम कुमारी (18) शामिल हैं। पूनम प्रोजेक्ट उच्च विद्यालय नवहट्टा परीक्षा देने जा रही थी तो कोमल देवी नवहट्टा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में इलाज करवाने जा रही थीं। कोमल देवी के साथ रहे उनके दो बच्‍चे रंजीत और संजीत भी नदी में डूब गए बताए जा रहे हैं। स्‍थानीय बनारसी शर्मा, विन्देश्वरी यादव की बहू एवं बच्चा मुखिया की बेटी के भी डूबने की आशंका है ।

नाव दुर्घटना की सूचना मिलते ही घाट पर बड़ी संख्या में आम लोगों के अलावा अधिकारी व जनप्रतिनिधि पहुंचे। एसडीआरएफ की टीम पहुंचकर शव की तलाश में जुट गई।  शवों की तलाश जारी है।

Posted By: Amit Alok

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस