भागलपुर [जेएनएन]। मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी आनंद कुमार सिंह की अदालत में मंगलवार को भाजपा नेत्री श्वेता सिंह ने आत्मसमर्पण कर दिया। अधिवक्ता भोला कुमार मंडल ने अदालत के समक्ष बचाव में झूठा फंसाए जाने समेत अन्य दलीलें रखी। न्यायालय ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद पांच हजार रुपये के निजी मुचलके पर जमानत दे दिया। न्यायालय में आत्मसमर्पण को आई भाजपा नेत्री के साथ काफी संख्या में भाजपा और संघ के कार्यकर्ता कचहरी परिसर में जमा थे।

प्रधानमंत्री के चुनावी दौरे में लीना सिन्हा के साथ हुई थी मारपीट

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भागलपुर में 11 अप्रैल 2019 को होने वाली चुनावी सभा में जिला परिषद सदस्य सह भाजपा नेत्री लीना सिन्हा ने मारपीट करने और चेहरे पर तेजाब डलवाकर हत्या करवा देने की धमकी देने का आरोप भाजपा नेत्री श्वेता सिंह आदि पर लगाया था। घटना को लेकर लीना सिन्हा ने 20 अप्रैल को तिलकामांझी थाने में श्वेता सिंह आदि के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

लीना सिन्हा ने आरोप लगाया था कि षड्यंत्र रचकर अन्य महिलाओं के सहयोग से उसे निशाना बनाया गया था। उसे लात, घूंसे, थप्पड़ से मारपीट की गई। किसी तरह अन्य कार्यकर्ताओं के सहयोग से वह जान बचाकर वहां से निकलने में सफल रही। लीना ने प्राथमिकी दर्ज कराने में देरी की सफाई दी कि जब वह थाने गई थी तो उसे यह बताया गया कि बड़ा बाबू चुनावी ड्यूटी पर हैं इसलिए 20 अप्रैल को वह थाने में उपस्थित होकर प्राथमिकी दर्ज कराई।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Dilip Shukla

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप