संवाद सहयोगी, नवगछिया (भागलपुर)। बिहार के जदयू विधायक गोपाल मंडल एक बार फ‍िर चर्चा में आ गए हैं। उन्‍होंने अपनी पत्‍नी को जिला परिषद सीट के लिए मैदान में उतार है। लेकिन उनका कहना है कि उनकी पत्‍नी यह चुनाव जिला परिषद अध्‍यक्ष बनने के लिए लड़ रही हैं। ताकि जिले का विकास किया जा सके। इस बीच उनकी पत्‍नी पर आचार संहिता उल्‍लंघन का भी मामला दर्ज हो गया है। 

गोपालपुर के जदयू विधायक नरेंद्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल की पत्नी सविता देवी पर एसडीओ यतेंद्र कुमार पाल ने आचार संहिता के उल्लंघन की प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया है। बताया गया कि 23 नवंबर को अनुमंडल कार्यालय में नामांकन के दौरान विधि-व्यवस्था के लिए दंडाधिकारी के रूप में नगर परिषद नवगछिया के प्रबंधक अजहर आलम तैनात थे।

इसी दौरान जिला परिषद पद पर नामांकन के लिए विधायक की पत्नी सविता देवी पहुंची। उनके साथ विधायक और प्रस्तावक समेत दो सौ समर्थक अनावश्यक रूप से गेट के अंदर प्रवेश करने लगे। दंडाधिकारी ने रोकने का प्रयास किया पर आदेश की अवहेलना करते हुए समर्थक आगे बढ़ते रहे। काफी मशक्कत के पश्चात समर्थकों को गेट से बाहर निकाला गया। इसको लेकर दंडाधिकारी के बयान पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

विधायक की पत्नी ने जिला परिषद पद के लिए कराया नामंकन

इससे पहले मंगलवार को गोपालपुर विधान सभा के विधायक नरेंद्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल की पत्नी ने इस्माइलपुर प्रखंड के जिला परिषद पद के लिए अनुमंडल कार्यलय नवगछिया में नामांकन करवाया था।

जिला परिषद अध्यक्ष बनने के लिए लड़ रहे हैं

गोपालपुर विधान सभा के विधायक नरेंद्र कुमार नीरज उर्फ गोपाल मंडल ने कहा कि चुनाव केवल जिला परिषद बनने के लिए नहीं लड़ रहे हैं। उनकी पत्‍नी यह चुनाव जिला परिषद अध्यक्ष बनने के लिए लड़ रहे हैं। कहा कि वे चुनाव भारी मतों से विजयी होंगी। भागलपुर का विकास करना बहुत जरूरी है। इसलिए उन्‍हें चुनाव लड़ाया जा रहा है।

Edited By: Dilip Kumar Shukla