प्रणत भारती, हवेली खड़गपुर (मुंगेर)। बिहार पंचायत चुनाव 2021: पंचायत चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से कराने को लेकर पुलिस हर दिन रणनीति तैयार कर रही है। पुलिस पदाधिकारियों के रणनीति में सेंध लगाने के लिए नक्सलियों ने भी हवेली खड़गपुर क्षेत्र में लगातार चहलकदमी तेज कर दी है। ऐसी स्थिति में पांचवे चरण यानी 24 अक्टूबर को हवेली खड़गपुर क्षेत्र के 18 पंचायतों में होने वाले पंचायत चुनाव शांतिपूर्ण ढंग से कराना पुलिस के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। सितंबर माह में नक्सलियों ने कई गांव में पर्चा फेंक कर पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान किया है। पुलिस की टीम गांव में फ्लैग मार्च कर लोगों को चुनाव में खुलकर व उत्साह पूर्वक अपनी भागीदारी निभाने के लिए लोगों से अपील की है। पुलिस पदाधिकारियों ने पंचायतों में कहा है कि किसी भी तरह की समस्या हो तो तुरंत बताएं ताकि उस समस्या का समाधान हो सके।

250 बूथों पर पड़ेंगे वोट

हवेली खड़गपुर में इस बार कुल 250 मतदान केंद्रों पर 1 लाख 34 हजार 849 मतदाता मताधिकार का प्रयोग करेंगे। जिसमें 236 मूल मतदान केंद्र और 14 सहायक मतदान केंद्र बनाए गए हैं। बदलते परिपेक्ष्य में मतदाता अब नए चेहरे को स्वीकार कर रहे हैं। इसका उदाहरण तारापुर, टेटिया बंबर औ संग्रामपुर प्रखंड में हुए चुनाव परिणाम है। 24 अक्टूबर को हवेली खड़गपुर की बारी है। ऐसे में मतदाताओं का प्रत्याशियों के प्रति क्या रुख रहेगा। क्या मतदाता पुराने चेहरे को स्वीकार करेंगे या या नए चेहरे पर भरोसा जताएंगे ?

किस पंचायत में कितने हैं मतदाता

हवेली खड़गपुर प्रखंड क्षेत्र के अग्रहण पंचायत में 8,990 वोटर शामिल हैं। इसी प्रकार बहिरा पंचायत में 9,283 मतदाता हैं। बैजलपुर पंचायत 8,806, बढौना पंचायत 7,969 वोटर है। बरूई पंचायत 5,958, गोवड्डा पंचायत 9,272, कौडिया पंचायत 7,992, मुढेरी पंचायत 7,273, नाकी पंचायत 7,489, रतैठा पंचायत 6,032, तेलियाडीह पंचायत 8,642, दरियापुर वन 8,657, दरियापुर टू 4,070, गंगटा 7,799, मझगांय 7,362, मुरादे 7,069, रमणकाबाद पूर्वी 6,552 और रमणकाबाद पश्चिमी पंचायत में 5,644 मतदाता है।

'पंचायत चुनाव को लेकर कुल पंद्रह सौ लोगों पर 107 की कार्रवाई। बीस लोगों पर 110 की कार्यवाही और 22 लोगों पर सीसीए लगाया गया है। सीसीए वाले लोगों को जिला बदर भी किया जाएगा। नक्सलियों की हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है। चुनाव में सीआरपीएफ, कोबरा, एसएसबी, पारा मिलिट्री फोर्स को मतदान केंद्रों पर लगाया जाएगा। पंचायत चुनाव हर हाल में शांतिपूर्ण ढंग से कराने के लिए कई रणनीतियां बनाई गई है।' -राकेश कुमार, एसडीपीओ।

Edited By: Shivam Bajpai