संसू, नवहट्टा ( सहरसा )। पंचायत चुनाव में वाहनों की व्यवस्था की सारी जिम्मेदारी बीडीओ व थानाध्यक्ष की होगी। इसके लिए जिला एवं प्रखंड स्तर पर वाहन कोषांग का गठन किया गया है। चुनाव संबंधी प्रक्रिया में उपयोग होने वाले वाहनों का अधिग्रहण प्रखंड स्तर पर किया जाएगा।

-बीडीओ व थानाध्यक्ष करेंगे स्कॉर्पियो से लेकर नाव तक की व्यवस्था

-कटिहार के दियारा इलाके में नाव से होगी गश्‍ती, प्रशासन की ओर से तैयारी पूरी

राज्य निर्वाचन आयोग ने किया है भाड़े का निर्धारण

पंचायत चुनाव में उपयोग की जाने वाले वाहनों के भाड़े का निर्धारण राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा किया गया है । कोसी इलाका होने के कारण चुनाव में ट्रैक्टर एवं नाव का उपयोग होगा इसलिए उसके भाड़े का भी निर्धारण किया गया है। ई-रिक्शा, आटो, मिनी बस, बस आदि भी अधिग्रहित किया जाएगा।

छोटी कार सामान्य के लिए 800 रुपये, एसी के लिए 900 रुपये, जीप, कमांडो जिप्सी के लिए 900 रुपये भाड़ा निर्धारित है। बोलेरो, सूमो, नॉन एसी गाड़ी के लिए 1000 रुपये और एसी के लिए 1200 रुपये किराया निर्धारित है। जायलो, स्कॉर्पियो तवेरा एसी गाड़ी के लिए 1600 रुपये, इनोवा और सफारी एसी गाड़ी के लिए 1700 रुपये निर्धारित किया गया है। लॉग बुक के आधार पर वाहनों में पेट्रोल और डीजल उपलब्ध कराया जाएगा।

पंचायत वार तैयार की जा रही वाहनों की सूची

प्रखंड प्रशासन द्वारा पंचायत वार वाहनों की सूची तैयार की जा रही है। इसके लिए पंचायत सचिव, राजस्व कर्मचारी, प्रधानमंत्री आवास सहायक, कृषि समन्वयक, पंचायत के कार्यपालक सहायक आदि से वाहन के प्रकार एवं मालिक के नाम लिया जा रहा हैं। अंचलाधिकारी से निबंधित नाव की सूची प्राप्त की जा रही है। राजस्व कर्मचारी नाव के मालिक एवं नाविकों की सूची जमा करने में जुट गए हैं।

शांतिपूर्ण व स्वच्छ चुनाव संपन्न कराने के लिए प्रशासनिक तैयारी के तहत वाहनों की भी खोज की जा रही है।

जितेन्द्र कुमार,बीडीओ, नवहट्टा  

Edited By: Abhishek Kumar