जागरण संवाददाता, भागलपुर। रुचि रोशन पर गमों का पहाड़ टूट कर गिर पड़ा है। रुचि रोशन अपने पति रोशन चंद्र दास को प्यार से बाबू कहकर बुलाती थी। भागलपुर से पटना तक चिकित्सकों की लापरवाही की वजह से रुचि का बाबू का साथ छूट गया। 10 दिन बाद दोनों की शादी की सालगिरह थी। सालगिरह घर पर ही मनाने का प्लान बनाया था। चिकित्सकों की एक लापरवाही ने सारे को एक झटके में धराशाई कर दिया।

 

पति आइसीयू में थे, नहीं तो चप्पल खोल कर मारती

बिलख -बिलख कर रुचि रोशन बार-बार कह रही थी मेरा बाबू बीमारी से नहीं मारा है। अस्पताल प्रबंधन की मनमानी से जान गई है। पति को बेहतर इलाज के लिए पटना के राजेश्वर हॉस्पिटल में भर्ती कराया। आइसीयू वार्ड में पति एडमिट था। कोई देखने वाला नहीं था। रुचि ने कहा कि स्वर हॉस्पिटल के सीनियर डॉ. अखिलेश भी गलत नजर से देखता था। आइसीयू में आने जाने के क्रम में चिकित्सक शरीर को टच करता था। ऐसे में काफी गुस्सा आता था और चप्पल खोल कर मारने का मन करता था, लेकिन पति आइसीयू में भर्ती और हालत गंभीर होने के कारण वह चुप रही।

डेढ़-डेढ़ घंटे बंद रहता था ऑक्सीजन

पत्नी ने आरोप मरते हुए कहा कि राजेश्वर हॉस्पिटल में ऑक्सीजन को लेकर काफी लापरवाही बरती गई। डेढ़-डेढ़ घंटे तक ऑक्सीजन बंद रहता था। वह बाजार से ज्यादा दर पर ऑक्सीजन की व्यवस्था करती थी। चिकित्सकों की लापरवाही इस कदर की ऑक्सीजन मास्क नाक में लगाने के बाद पाइप जोड़ना भी भूल गया। जब पति ने मिस कॉल दिया तो अंदर जाकर देखें तो हम भी दंग रह गए।

नोएडा के चिकित्सक की सलाह पर हुई सिटी स्कैन

पत्नी रुचि रोशन ने कहा कि कोरोना की जांच एंटीजन किट और आरटीपीसीआर से कराई थी। दोनों की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद, नोएडा की  परिचित डॉक्टर कल आप पर पति का सिटी स्कैन कराया था। सिटी स्कैन में फेफड़े में संक्रमण निकला था, जो इलाज के बाद ठीक हो जाता।

भागलपुर से पटना तक अश्लील हरकतें

महिला रुचि रोशन के साथ पहले ग्लोकल हॉस्पिटल के कंपाउंडर ने अश्लील हरकत की। इसके बाद बाद भी महिला चुप रही। मेडिकल अस्पताल गई। यहां सही तरीके से इलाज नहीं हुआ। थक हार कर एंबुलेंस से पटना गई। पटना के राजेश्वर हॉस्पिटल में भी डॉक्टर ने भी अश्लील हरकत की।

यह भी पढ़ें -

बिहारः संक्रमित पति को बचाने के लिए अस्पताल में छेड़खानी सहती रही पत्नी, मौत के बाद बयां की दर्द भरी दास्तां

Watch video: ग्लोकल हॉस्पिटल; विवादों से है पुराना नाता, हर निजी अस्पताल में मिल जाएंगे ज्योति और अखिलेश जैसे हैवान, एक दर्दनाक कहानी

ग्लोकल हॉस्पिटल भागलपुर : विधायक अजीत शर्मा ने सीएम और स्वास्थ्य मंत्री को लिखा पत्र, बोले-कठोर कार्रवाई हो

ग्लोकल अस्पताल पर हुई बड़ी कार्रवाई,जांच कमेटी गठित, छापेमारी हुई, कंपाउंड गिरफ्तार

ग्लोकल हॉस्पिटल: 12 दिनों में ज्योति छेड़छाड़ का रोज निकालता था मौका, क्या सचमुच नहीं थी प्रबंधन को जानकारी