भागलपुर, जेएनएन। बिहार माध्यमिक बोर्ड ने मैट्रिक परीक्षा 2020 की भागलपुर जिले के टॉपर्स की सूची जारी कर दी गई है। नौ छात्राएं ने टॉप फाइव में हैं। सबौर के बहादुरपुर हाईस्कूल की छात्रा अनु आर्या और शाहकुंड प्रखंड केएल उच्च विद्यालय नारायणपुर के अंकित कुमार जिले के टॉपर बने। दोनों को 456-456 अंक आए हैं। मिरजान हाट सरयू देवी मोहनलाल बालिका उच्च विद्यालय की छात्रा सुरभी 453 नंबर लाकर भागलपुर की सेकेंड टॉपर बनी। सेकेंड टॉपर में सबौर की कोमल प्रिया, झंडापुर की स्वाती प्रिया भी रहीं। कोमल और स्वाती को भी 453-453 अंक मिले। साहू परबत्ता की प्रजंल कुमारी, घोघा के पन्नुचक निवासी प्रियदर्शी ऋषभ, कहलगांव के अंतिचक निवासी रणवीर कुमार को 452-452 अंक मिले। तीनों को तीसरी रैंक मिली। भागलपुर की बबली दुबे 451 नंबर लाकर चौथे स्थान पर शीर्ष पर रही। उनके साथ मानिकपुर की काजल, राघोपुर की ललीता कुमारी, पहाड़पुर की रेशमी कुमारी, शाहपुर का मिथिलेश कुमार और किशनपुर के रामजी कुमार का भी चौथे नंबर रहे। वहीं, उत्क्रमित स्कूल भागलपुर के मनीष कुमार 449 नंबर लाकर पांचवें स्थान पर रहे। यहां बता दें कि इस बार भी स्टेट टॉपर की टॉप-10 सूची में भागलपुर जगह बनाने में सफल नहीं रहा। लगातार तीन सालों से भागलपुर का मैट्रिक में प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा।

छात्राओं का रहा दबदबा

मैट्रिक की परीक्षा में छात्रों से ज्यादा छात्राओं की संख्या थी। 2020 में 45261 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी थी। इसमें 22280 छात्र और 23011 छात्राएं थीं। इस बार छात्राओं की संख्या छात्रों की अपेक्षा 761 ज्यादा थी। जिले की टॉप-5 की सूची में 15 में नौ छात्राओं हैं। ज्यादातर छात्राएं जिले की ग्रामीण इलाकों से हैं।

जिला टॉपर अनु को आइपीएस बनने की तमन्ना

बोर्ड की परीक्षा में 456 नंबर लाकर जिला टॉपर हुई अनु आर्या के घर खुशी का माहौल था। किसान की बेटी अनु को बधाई देने के लिए लोग पहुंचे। लॉकडाउन का पालन करते हुए आस-पड़ोस के लोगों ने दूर से ही अनु को आशीर्वाद दिए। साथ ही मुंह मीठा किए। बहादुरपुर उच्च विद्यालय की छात्रा अनु गोराडीह प्रखंड के बिरनौध गांव के किसान सत्यदेव सिंह और रंजीता कुमारी की लाडली है। अनु ने पूरे गांव का नाम रोशन किया। फोन पर भी रिश्तेदारों ने बधाई दी। अनु का कहना है वह आइपीएस बनना चाहती है। पुलिस में रहकर देश की सेवा करना का मकसद है। उसने बताया कि बेहतर रिजल्ट मां-पिता जी के मार्ग दर्शन का परिणाम है।

जिला टॉपर बनकर अंकित ने अपने माता-पिता को दी श्रद्धांजलि

मन में कुछ करने का दृढ़ संकल्प हो तो मंजिल मिल ही जाती है। शाहकुंड प्रखंड की भूलनी पंचायत के मिरचीनिमा गांव के छात्र अंकित कुमार ने इसी दृढ़ निश्चय के साथ अपनी मंजिल हासिल की। केएल उच्च विद्यालय नारायणपुर से पढ़ाई कर भागलपुर जिला टॉपर बने अंकित कुमार की कहानी संघर्षों से भरी है। भागलपुर के शाहकुंड प्रखंड के अंतर्गत केएल उच्च विद्यालय नारायणपुर के छात्र अंकित कुमार के 2020 की मैट्रिक परीक्षा में जिला टॉपर बनने से उनके गांव मिरचिनमा में काफी खुशी का माहौल है। उन्हें 456 अंक प्राप्त हुआ है। बचपन में ही माता-पिता का साया उठने के कारण अंकित की पढ़ाई बाधित हो गई थी। आर्थिक तंगी के कारण हालत ऐसी आ गई थी कि पढ़ाई छोड़ गांव में बकरी चराने को मजबूर होना पड़ा था। लेकिन, पढ़ाई के प्रति उसका जुनून कम नहीं हुआ। बड़े भाई से आर्थिक सहायता मांगी और फिर से पढ़ाई शुरू की। अंकित के इसी जुनून ने उसे मैट्रिक परीक्षा में जिला टॉपर बना दिया। अंकित ने बताया कि मैट्रिक परीक्षा में प्रथम स्थान लाकर मैंने माता-पिता को सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित की है। वह एयरफोर्स में जाकर देश सेवा करना चाहता है। अंकित नौ भाई बहनों में छठे स्थान पर है। अंकित की मां शकुंतला देवी का निधन 2015 में कैंसर बीमारी से हो गया था। तीन साल बाद पिता लटूरन सिंह की भी असमय मौत होने से पूरा परिवार टूट गया था। परिवार में सिर्फ दो बहनों की शादी हुई है। अंकित के बड़े भाई सनोज इंटर की पढ़ाई के बाद गांव में ही ट्यूशन पढ़ा कर पूरे परिवार का लालन पालन करता है। अंकित की सफलता से पूरे मिरचिनवा गांव में खुशी की लहर है।

 

इंजीनियर बनना चाहती है कोमल प्रिया

सबौर के मंसरपुर निवासी विकास पंडित और कुसुम देवी की लाडली कोमल प्रिया जिले की सेंकंड टॉपर है। पूरे गांव के लोगों को विश्वास नहीं था कि कोमल इस बार जिले की सेंकंड टॉपर है। घर में खुशी का माहौल है, आसपास के लोग भी बधाई देने पहुंचे। कोमल के पिता श्रमिक हैं, घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। लेकिन कोमल के हौसले ने सबकुछ पीछे छोड़ दिया। कोमल ने बताया कि आर्थिक स्थिति दयनीय होने के बाद भी पढ़ाई में किसी तरह की दिक्कतें नहीं हुई। कोमल ने बताया कि वह आइआइटी की तैयारी करेगी। इंजीनियर बनकर देश की सेवा करूंगी।

शिक्षक बनना चाहती है मिरजान की सेकंड जिला टॉपर सुरभि

जिले की सेकेंड टॉपर सुरभि को शिक्षक बनने की तमन्ना है। सुरभि ने कहा कि वह भी अपने पापा डॉ. उदय प्रसाद चौरसिया की तरह शिक्षक बनना चाहती है। सुरभि कहती है कि सरकारी स्कूलों में पढ़ाई का स्तर ठीक नहीं है। बेहतर शिक्षा नहीं मिलेगी तो बच्चे आइएएस, आइपीएस, डॉक्टर और इंजीनियर कैसे बनेंगे। इसलिए शिक्षक बनने की सोच लिया है। सुरभि ने कहा कि स्टेट टॉपर की सूची में शामिल नहीं होने का मलाल है। इंटर की परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन करेंगे। सुरभि के पिता गोराडीह में शिक्षक हैं और मां नमीता कुमारी घर का काम देखती हैं। सुरभि घर में सबसे बड़ी है। छोटा भाई निजी स्कूल में पढ़ता है। सुरभि के घर की आर्थिक स्थिति ठीक है।

जिले की सेकेंड टॉपर सुरभि ने कहा कि स्कूल की प्राचार्या डॉ. सुनीता कुमारी का सहयोग काफी रहा। वह स्कूल में पढऩे वाली सभी छात्राओं को परीक्षा की तैयारी को लेकर हर दिन मार्गदर्शन करती थीं। रिजल्ट आने के बाद घर में खुशी का माहौल है। घर वालों ने मिठाई खिलाकर सुरभि का हौसला आफजाई किया।

इंजीनियर बनना चाहता है नाथनगर का मिथिलेश

नाथनगर प्रखंड के राघोपुर पंचायत के शाहपुर इंटरस्तरीय स्कूल का छात्र मिथिलेश कुमार 451 नंबर लाकर जिले में पांचवें स्थान पर रहा। मिथिलेश किसान परिवार से है। पिताजी के गुजर जाने के बाद बड़े भाई श्रवण मंडल पढ़ाई में मदद कर रहे हैं। मिथिलेश ने बताया कि वह इंजीनियर बनना चाहता है। पढ़ाई के बाद समय मिलता था तो बड़े भाई के साथ किसानी में हाथ बंटाता था। बड़े भाई ने कोचिंग या पढ़ाई में किसी तरह से दिक्कतें नहीं होने दी। उसे विश्वास था कि वह 90 फीसद से ज्यादा नंबर आएंगे। छात्र ने बताया कि स्कूल के प्राचार्य अंबिका प्रसाद समेत अन्य शिक्षकों के मार्गदर्शन का ही नतीजा है। रिजल्ट आने पर जहां उसके घरवालों में खुशी का माहौल है।

डॉक्टर बनना चाहती हैं टॉप फाइव में शामिल काजल

शाहकुंड प्रखंड की जगरिया पंचायत अंतर्गत उच्च विद्यालय मानिकपुर की छात्रा काजल कुमारी मैट्रिक परीक्षा में भागलपुर जिले के टॉप फाइव सूची में शामिल हुई हैं। घोरपिठीया निवासी पंचम कुमार चौधरी ने बताया कि मेरी बेटी ग्रामीण परिवेश में पढ़कर 80 फीसद अंक लाई है। काजल को कुल 451 अंक प्राप्त हुए हैं। उनकी माता पूजा देवी ने बताया बेटी की सफलता पर गर्व महसूस हो रहा है। अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता को देते हुए काजल ने बताया कि वह आगे चलकर डॉक्टर बनना चाहती है।

हरियो की स्वाति प्रिया को मिला राज्य स्तर पर 75वां स्थान

बिहपुर के नकछेदी कुंवर इंटरस्तरीय उच्च विद्यालय झंडापुर की छात्रा हरियो गांव निवासी किसान मनोज कुमार साह व गृहिणी सरोज सुमन की पुत्री स्वाति प्रिया ने मैट्रिक परीक्षा में राज्य स्तर पर 75वां स्थान हासिल किया है। भागलपुर जिले में टॉप टेन में आई है। स्वाति को कुल 453 अंक प्राप्त हुआ है। स्वाति ने बताया कि वह डॉक्टर बनाना चाहती है। दो भाईयों में स्वाति अपने भाई राजू से छोटी व प्रिंस से बड़ी है। स्वाति बताती है कि उसे पढ़ाई करने में माता-पिता समेत पूरे परिवार का सहयोग व समर्थन मिलता है। चाची चंचला देवी हरियो पंचायत की मुखिया हैं। चाचा अनोज साह, सनोज साह, पवन साह, हवन साह व दीपक साह आदि ने कहा कि स्वाति की सफलता से पूरा परिवार खुश है।

आइएस की तैयारी करना चाहते हैं रणवीर

मैट्रिक परीक्षा में भागलपुर जिले में पांचवा स्थान प्राप्त करने वाले कहलगांव अंतीचक गांव के प्रभुदयाल यादव एवं अंजली देवी के पुत्र रणवीर कुमार अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता, स्कूल के शिक्षक एवं कोचिंग संचालक को देते हैं। रणवीर को 452 अंक प्राप्त हुआ है। रणवीर ने कहा कि पढ़ाई के साथ साथ आइएस की तैयारी करेंगे। पंचायत के मुखिया ललिता देवी ने रणवीर की सफलता पर बधाई देते हुए कहा कि गांव और इलाके का नाम रोशन किया है।

छोटी अलालपुर की ललिता बनीं प्रखंड टॉपर

खरीक के उच्च विद्यालय बहत्तरा की छात्रा ललिता कुमारी ने मैट्रिक परीक्षा में 451 अंक लाकर भागलपुर जिले में चौथा व प्रखंड में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। ललिता छोटी अलालपुर निवासी विपिन बिहारी शर्मा व सुशीला देवी की पुत्री है। चार भाई व दो बहनें हैं। ललिता के पिता मजदूरी करते हैं। ललिता ने बताया कि यह परिणाम नियमित रूप से 12 घंटे पढ़ाई एवं माता-पिता व गुरु के आशीर्वाद से प्राप्त हुआ। मैं डॉक्टर बनना चाहती हूं। प्राचार्य ज्ञानानंद झा ने ललिता को बधाई दी है।

नारायणपुर की रेशमी और अनुराग बने टॉपर

मैट्रिक परीक्षा में 451 अंक लाकर नारायणपुर के नागर उच्च विद्यालय पहाड़पुर की छात्रा रेशमी कुमारी भागलपुर जिले में टॉप टेन में शामिल हुई हैं। रेशमी के पिता कुशाहा निवासी किसान बीकेस शर्मा और माता मधुमाला देवी हैं। अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता और प्रधानाचार्य तरुण शर्मा को देते हुए रेशमी ने बताया कि वह आगे चलकर डॉक्टर बनना चाहती है। वहीं बालक वर्ग में माध्यमिक उच्च विद्यालय नारायणपुर का छात्र अनुराग मिश्रा 401 अंक प्राप्त कर बालक वर्ग में नारायणपुर प्रखंड टॉपर बना है। उसके पिता मधुरापुर निवासी अंबुज मिश्रा व माता मिनू देवी अपने पुत्र की सफलता से काफी खुश हैं।

Posted By: Dilip Shukla

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस